25 C
Mumbai
Tuesday, July 23, 2024
होमब्लॉगLS 2024: 'उद्धव ठाकरे ने कहा, मैं यू-टर्न ले रहा हूं, 'मातोश्री'...

LS 2024: ‘उद्धव ठाकरे ने कहा, मैं यू-टर्न ले रहा हूं, ‘मातोश्री’ पर फडनवीस की प्रतिक्रिया!

Google News Follow

Related

2019 के विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद भाजपा और शिवसेना का (संयुक्त) गठबंधन टूट गया और राज्य में महाविकास अघाड़ी सरकार सत्ता में आ गई| उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के साथ मिलकर सरकार बनाई, लेकिन बाद में ये सरकार गिर गयी| राज्य के लोगों ने यह तस्वीर देखी कि ढाई-ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद साझा करने के विवाद के कारण शिवसेना-भाजपा गठबंधन टूट गया था। लेकिन दोनों पार्टियों के बीच पर्दे के पीछे क्या चर्चा हुई? इसे लेकर दोनों पार्टियों के नेता अलग-अलग दावे कर रहे हैं| इस तरह, देवेंद्र फडनवीस ने 2019 विधानसभा चुनाव से पहले उद्धव ठाकरे के साथ चर्चा और गठबंधन द्वारा लिए गए फैसलों का घटनाक्रम सिलसिलेवार बताया है|

देवेंद्र फडनवीस ने कहा, ”मैंने और उद्धव ठाकरे ने 2019 चुनाव से पहले सीट आवंटन के दौरान कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की थी| उस समय मैंने उनसे कहा था, मुख्यमंत्री पद आपको नहीं दिया जा सकता| हम आपको उपमुख्यमंत्री का पद देंगे| चलिए कुछ मंत्री पद बढ़ाते हैं, लेकिन ढाई-ढाई साल तक मुख्यमंत्री का पद साझा नहीं किया जा सकता, यह मेरी पार्टी को स्वीकार नहीं है| इस पर उद्धव ठाकरे ने मुझसे कहा, ‘अगर ऐसा है तो ये बातचीत आगे नहीं बढ़ाई जा सकती| इसके बाद हमारी बातचीत वहीं टूट गयी | फिर तीन दिन बाद, एक मध्यस्थ के माध्यम से उद्धव ठाकरे ने मुझे फिर से एक संदेश भेजा और हम फिर से चर्चा करने बैठे। एक इंटरव्यू में फडनवीस ने विस्तार से जानकारी दी|

फडनवीस ने कहा, ”उद्धव ठाकरे ने मुझसे कहा, ‘अगर आप हमें कुछ और चीजें दे सकते हैं, तो हम आगे बढ़ सकते हैं।’ मैं उस पर सहमत हो गया. इस पर उद्धव ठाकरे ने मुझसे कहा, ‘हमें पालघर लोकसभा सीट दे दीजिए, हमारी कुछ विधानसभा सीटें बढ़ाई जानी चाहिए, साथ ही पिछली बार हमें सिर्फ 12 मंत्री पद दिए गए थे| इस बार हम और अधिक मंत्री पद चाहते हैं|’

इसके बाद उद्धव ठाकरे ने मुझसे कहा, ‘अब अमित शाह को एक बार मातोश्री आना चाहिए| उसके बाद हम एक साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे|’मैंने उनसे पूछा, अमित शाह की मुलाकात के पीछे क्या वजह है? उन्होंने मुझसे कहा, ‘मैं अमित शाह से अपने दिल की कुछ बातें कहना चाहता हूं| आखिर हमारे बीच ऐसा तर्क क्यों हुआ? हमें वह व्यवहार नहीं मिल रहा है जो गठबंधन में शिवसेना को मिल रहा था जब बालासाहेब ठाकरे सत्ता में थे। केंद्र में हमें जो खाते चाहिए थे, वे नहीं मिले। विधान सभा में भी हमें वह हिसाब नहीं मिला जो हम चाहते थे। मैं उनसे इस बारे में बात करना चाहता हूं|” मैंने उन्हें सहमति दी और अमित शाह से बात की|’

उपमुख्यमंत्री ने कहा, ”उद्धव ठाकरे से बात करने के बाद मेरी अमित शाह से चर्चा हुई| अमित शाह ‘मातोश्री’ पर आने को तैयार हैं| शाह के मातोश्री आने के बाद दोनों (उद्धव ठाकरे और अमित शाह) ने एक कमरे में कुछ देर तक चर्चा की| उस चर्चा के बाद अमित शाह ने मुझे अंदर बुलाया| फिर मैं अंदर चला गया. इसके बाद उद्धव ठाकरे ने मुझसे कहा, ‘देखो देवेन्द्र, मैं अब यू-टर्न ले रहा हूं।

लेकिन मैं अपने शिवसैनिकों को क्या कहूंगा? इसलिए मैं और अमित शाह बात नहीं करेंगे| आप प्रेस कॉन्फ्रेंस में अकेले बोलते हैं| शिवसैनिकों को यह महसूस हो रहा होगा कि जब वे बात कर रहे हैं तो उन्हें कुछ अच्छा मिला है| इसलिए आप जो भाषा इस्तेमाल करें वह समान वितरण वाली होनी चाहिए।’

“उद्धव ठाकरे ने कहा, हमारा गौरव बना रहना चाहिए”- फडनवीस: देवेंद्र फडनवीस ने कहा, ”प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस्तेमाल किए गए शब्द का मतलब उन्हें कैबिनेट में अधिक जगह देना, उनके मंत्रियों को बेहतर विभाग देना है। उद्धव ठाकरे ने मुझसे कहा, ‘हमारा सम्मान बना रहना चाहिए| मैंने यू टर्न क्यों लिया? ये बात शिवसैनिकों को पता होनी चाहिए| शिवसैनिकों को यह संदेश जाना चाहिए कि हम यह यू-टर्न इसलिए ले रहे हैं क्योंकि हमें कुछ मिला है।’

मैं जो भी शब्द कह रहा हूं वह सत्य है। मैं कोई झूठ नहीं बोल रहा हूं| उद्धव ठाकरे ने मुझसे कहा, ‘मैंने इतना अतिवादी रुख अपनाया था और अब मैं यू-टर्न ले रहा हूं, इसलिए इसे अपने बयान में आने दीजिए| मैंने उद्धव ठाकरे को सिर हिलाया और उन्हें बताया कि मैं प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्या कहूंगा।”

फडनवीस ने कहा, ”यह सब होने के बाद उद्धव ठाकरे ने मुझसे कहा, देवेन्द्र, दो मिनट रुको और अपनी भाभियों को बुलाया| इसके बाद वहां रश्मि ठाकरे की भाभी आईं, मैंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में जो कहना था, उसे भाभी के सामने दोहराया| फिर मैंने हिंदी में रिवीजन किया| उद्धव ठाकरे और अमित शाह दोनों द्वारा मुझे मंजूरी दिए जाने के बाद, हम तीनों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस का सामना किया।

यह भी पढ़ें-

LS 2024: अरविंद केजरीवाल के दावे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का जवाब!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,495फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
166,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें