26 C
Mumbai
Monday, July 22, 2024
होमदेश दुनियादिल्ली 52.30 डिग्री सेल्सियस; राजधानी में रिकॉर्ड तापमान!

दिल्ली 52.30 डिग्री सेल्सियस; राजधानी में रिकॉर्ड तापमान!

Google News Follow

Related

मौसम विभाग के मुताबिक, बुधवार को राजधानी दिल्ली का तापमान 52.3 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जो अब तक का सबसे ज्यादा तापमान है, जिसके चलते दिल्लीवासियों ने दोपहर के समय घर पर ही रहना पसंद किया, सड़कों पर पूरी तरह पानी भर गया। बढ़ते तापमान के कारण बिजली की मांग भी बढ़कर 8 हजार मेगावाट से अधिक हो गयी है| मौसम विभाग ने बताया कि राजस्थान से आने वाली गर्म हवाओं के कारण दिल्ली का तापमान बढ़ा है|

मंगलवार दोपहर को दिल्ली का तापमान 49.9 डिग्री तक पहुंच गया| बुधवार शाम 4.14 बजे पारा 52.3 डिग्री पर पहुंच गया और राजधानी ने तापमान के पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ दिये|बाहरी इलाकों में तापमान शहर के केंद्रों की तुलना में थोड़ा अधिक दर्ज किया गया। मौसम विभाग के क्षेत्रीय प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि राजस्थान के रेगिस्तान से दिल्ली की ओर आ रही बेहद गर्म हवाओं के कारण यह स्थिति पैदा हुई है|

गर्म हवाएं सबसे पहले मुंगेशपुर, नरेला और नजफगंज जैसे इलाकों को प्रभावित करती हैं| उन्होंने कहा कि इससे पहले से ही उच्च तापमान और बढ़ गया। खुले भूखंड हवाओं से अधिक प्रभावित होते हैं। सीधी धूप और छाया की कमी के कारण तापमान में भारी वृद्धि हो रही है। स्काईमेट के उपाध्यक्ष महेश पलावत ने कहा, पश्चिम से हवा चलने के बाद ऐसे क्षेत्र प्रभावित होते हैं। भीषण गर्मी से आम नागरिक हैरान हैं|

गर्म हवाओं के कारण त्वचा जलती हुई महसूस होती है। इसका असर मेरे स्वास्थ्य पर पड़ा है|’ आप खुद को एक-दो या ज्यादा से ज्यादा तीन दिन के लिए घर में बंद कर सकते हैं। लेकिन रोजमर्रा के काम के लिए आपको बाहर जाना ही पड़ेगा| मुंगेशपुर निवासी जय पंडित ने कहा, ”ऐसे समय में बहुत परेशानी होती है।

उधर, बढ़ते तापमान के बीच बिजली की मांग 8,302 मेगावाट तक पहुंच गयी| बिजली डिस्कॉम के अधिकारियों ने बताया कि यह पहली बार है कि राजधानी में बिजली की मांग 8300 मेगावाट से अधिक हो गयी है| बिजली कंपनियों को बढ़ती गर्मी के कारण मांग बढ़कर 8,200 मेगावाट तक पहुंचने की उम्मीद थी, लेकिन हकीकत में मांग इससे कहीं ज्यादा थी, इसलिए सिस्टम पर काफी दबाव था|

विदर्भ में गर्मी जारी: उत्तर में गर्मी की लहरों के कारण विदर्भ में तापमान औसतन 42 डिग्री तक बढ़ गया है। बुधवार को राज्य में सबसे अधिक तापमान चंद्रपुर के ब्रह्मपुरी में 46.7 डिग्री दर्ज किया गया। इसके अलावा अकोला 42.6, अमरावती 43.8, भंडारा, वर्धा 45.0, चंद्रपुर 44.2, गढ़चिरौली, गोंदिया, यवतमाल 44.0, नागपुर 45.2 और वाशिम में पारा 42.6 डिग्री पर रहा|

मराठवाड़ा में छत्रपति संभाजी नगर में 40.0 डिग्री, बीड में 41.7 डिग्री, नांदेड़ में 42.8 डिग्री और परभणी में 42.0 डिग्री तापमान दर्ज किया गया। उत्तरी महाराष्ट्र के जलगांव में तापमान 42.0 डिग्री, मालेगांव में 41.8 डिग्री रहा. मध्य महाराष्ट्र, कोंकण और मुंबई में पारा 40 के पार रहा. मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों तक मुंबई समेत ठाणे, पालघर में उमस भरी गर्मी की चेतावनी दी है|

50 डिग्री सेल्सियस पर कितना खतरा?: 37 डिग्री सेल्सियस मानव शरीर के लिए सबसे उपयुक्त तापमान है। इस तापमान पर सभी अंग पूरी क्षमता से काम करते हैं। यदि तापमान 40 से 50 डिग्री के बीच है, तो यह महत्वपूर्ण अंगों की कार्यप्रणाली को प्रभावित करता है। शरीर के आंतरिक तापमान को नियंत्रित करने के लिए गर्मी का उत्सर्जन आवश्यक है। वातावरण गरम होगा तो दिक्कतें होंगी| इससे हृदय, किडनी जैसे महत्वपूर्ण अंगों पर दबाव पड़ता है। इससे कभी-कभी अस्पताल में भर्ती होना पड़ सकता है या हीट स्ट्रोक से मृत्यु भी हो सकती है।

उत्तर भारत में लू : पूरे उत्तर भारत में लू चल रही है और बुधवार को बिहार का तापमान 47.7 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। तीन जिलों औरंगाबाद, बेगुसराय और पूर्वी चंपारण के कई स्कूलों में बच्चे गर्मी से बेहाल रहे| कुछ लोगों को शुद्ध हानि और उल्टी के कारण अस्पतालों में भर्ती कराना पड़ा। इसके बाद राज्य के सभी शैक्षणिक संस्थानों में 8 जून तक छुट्टी घोषित कर दी गई है|

यह भी पढ़ें-

LS 2024: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कन्याकुमारी दौरे का डीएमके का विरोध!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,496फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
166,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें