27 C
Mumbai
Sunday, July 21, 2024
होमदेश दुनियाईश्वर की इच्छा है कि मैं 2047 तक काम करूं: प्रधानमंत्री नरेंद्र...

ईश्वर की इच्छा है कि मैं 2047 तक काम करूं: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी!

Google News Follow

Related

देशभर में जहां लोकसभा चुनाव के आखिरी यानी सातवें चरण का मतदान चल रहा है, वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक बयान फिर से चर्चा में आ गया है| इससे पहले एक इंटरव्यू में मोदी ने कहा था कि ‘मैं अपनी मां के पेट से पैदा नहीं हुआ, बल्कि भगवान ने मुझे भेजा है।’ इस बयान पर विपक्ष ने भारतीय जनता पार्टी और खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा था| इसके बाद मोदी का एक और बयान चर्चा में आ गया है|पिछले हफ्ते एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में बोलते हुए मोदी का एक बयान चुनाव के आखिरी चरण में फिर से वायरल होने लगा है|

प्रधानमंत्री मोदी ने क्या कहा?: मोदी ने एक टीवी न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में एक सवाल का जवाब देते हुए यह बयान दिया। “मेरा मानना है कि भगवान ने स्वयं मुझे एक विशिष्ट जिम्मेदारी के साथ यहां भेजा है। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “भगवान ने मुझे ‘विकसित भारत’ के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए वर्ष 2047 तक दिन में 24 घंटे और सप्ताह में 7 दिन काम करने का आदेश दिया है। 

मोदी ने यह भी कहामुझे लगता है भगवान ने मुझे इसी खास मकसद के लिए धरती पर भेजा है| वर्ष 2047 तक विकसित भारत का लक्ष्य हासिल करना है। भगवान मुझे इसका रास्ता दिखाते हैं। यह भगवान ही हैं जो मुझे इसके लिए ऊर्जा देते हैं। मुझे विश्वास है कि मैं 2047 तक यह लक्ष्य हासिल कर लूंगा। जब तक वह लक्ष्य पूरा नहीं हो जाता, भगवान मुझे वापस नहीं बुलाएंगे।

टी.एन.सेशन का भी जिक्र!: इस बीच एक बार मोदी सबसे कुशल केंद्रीय चुनाव आयुक्त माने जाने वाले टी. एन.सेशन का भी जिक्र किया गया| “1991 में, जब 21 मई को तत्कालीन कांग्रेस नेता राजीव गांधी की हत्या कर दी गई, तो चुनाव 22 दिनों के लिए स्थगित कर दिए गए थे। उस समय तक केवल पहले चरण का मतदान ही पूरा हुआ था| मोदी ने कहा, इसके बाद 12 जून से 15 जून तक चुनाव संपन्न हुआ, जब किसी उम्मीदवार की मृत्यु हो जाती है, तभी उस निर्वाचन क्षेत्र का चुनाव रद्द हो जाता है। लेकिन 1991 में राष्ट्रव्यापी चुनाव स्थगित कर दिए गए।

मोदी ने इस दौरान इस बात का जिक्र भी किया, ”अपने रिटायरमेंट के बाद उन्होंने 1999 में हमारे तत्कालीन पार्टी अध्यक्ष लालकृष्ण आडवाणी के खिलाफ कांग्रेस के टिकट पर गांधीनगर से चुनाव लड़ा था|

‘मैं पैदा नहीं हुआ हूं, मैं हूं…’: इस बीच, मोदी का एक और बयान इस समय चर्चा में है, जो उन्होंने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में दिया था। “जब तक मेरी माँ जीवित थी, मुझे लगता था कि मुझे जन्म लेना चाहिए था। लेकिन मां के निधन के बाद जब मैंने सभी अनुभवों को एक साथ रखा तो मैं इस नतीजे पर पहुंचा कि भगवान ने ही मुझे भेजा है| मेरे अंदर की ऊर्जा मानव शरीर से नहीं आती है।

मोदी ने कहा कि भगवान ने मुझे यह ऊर्जा दी है और वह इसके माध्यम से कुछ करना चाहते हैं।’ इसके लिए मैं भी सशक्त हूं।’ साथ ही मुझे ईश्वर से अपना सर्वश्रेष्ठ करने की शक्ति और प्रेरणा भी मिल रही है।’ मैं भगवान का एक उपकरण हूँ| भगवान ने मेरे माध्यम से कुछ करने का निर्णय लिया है। इसीलिए मैं परिणामों की चिंता किए बिना काम पर जाता हूं| 

यह भी पढ़ें-

LS 2024: 7वें चरण में 11 बजे तक 26.30 प्रतिशत, हिमाचल में ज्यादा और उड़ीसा में सबसे कम हुआ मतदान

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,500फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
166,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें