27 C
Mumbai
Thursday, July 25, 2024
होमदेश दुनियाचुनाव आयोग के खिलाफ साजिश का पैटर्न; मुख्य केंद्रीय आयुक्त राजीव कुमार...

चुनाव आयोग के खिलाफ साजिश का पैटर्न; मुख्य केंद्रीय आयुक्त राजीव कुमार पर लगे गंभीर आरोप!

Google News Follow

Related

मतगणना प्रक्रिया को लेकर ‘इंडिया’ गठबंधन के नेताओं की केंद्रीय चुनाव आयोग से मुलाकात के एक दिन बाद सोमवार को केंद्रीय मुख्य आयुक्त राजीव कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और आश्वासन दिया कि ‘मतगणना प्रक्रिया में कोई गड़बड़ी या अनियमितता नहीं होगी|’ उन्होंने यह भी गंभीर आरोप लगाया कि केंद्रीय आयोग की कार्यकुशलता पर संदेह करने का एक ‘पैटर्न’ है और जनता को गुमराह करने की यह एक सोची-समझी साजिश है|

लोकसभा चुनाव 2024 परिणाम: लोकसभा चुनाव के सभी सात चरणों का मतदान पूरा हो चुका है और मंगलवार को देशभर की 541 सीटों पर वोटों की गिनती होगी। केंद्रीय चुनाव आयोग की ओर से कभी भी मतगणना से पहले स्पष्टीकरण देने के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं की गई| हालांकि, शनिवार को भारत के घटक दलों के नेताओं की एक अहम बैठक हुई| यह सुनिश्चित करने का निर्णय लिया गया कि मतगणना प्रक्रिया में कोई कदाचार न हो। इस संबंध में ‘इंडिया’ के नेताओं ने रविवार को केंद्रीय चुनाव आयोग से मुलाकात की और वोटों की गिनती पर संदेह जताया| इसके बाद आयोग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर हैरानी जताई|

‘टूलकिट’ नहीं कहेंगे, लेकिन…: केंद्रीय चुनाव आयोग पर देश में निष्पक्ष चुनाव नहीं कराने का आरोप लगाने के पीछे निश्चित साजिश है| मैं इस ट्रिक को ‘टूलकिट’ नहीं कहूंगा। हालांकि, राजीव कुमार ने दावा किया कि आयोग पर अविश्वास दिखाना और उस पर संदेह करना एक सुनियोजित साजिश का हिस्सा हो सकता है| मतदान प्रणाली पर सवाल उठाए गए, इसके बाद चुनावी मशीनरी पर संदेह जताया गया।मतदान से चार दिन पहले सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई| इसलिए, चुनाव प्रक्रिया में हस्तक्षेप का एक ‘पैटर्न’ देखा जाता है, अवलोकन आयुक्त ने कहा। राजीव कुमार ने कहा कि हमें और अधिक क्षमता से इसके खिलाफ लड़ना होगा|

पोस्टल काउंटिंग अस्पष्टता बनी हुई है: वोटिंग मशीनों द्वारा वोटों की गिनती से पहले पोस्टल वोटों की गिनती पूरी की जानी चाहिए, ‘इंडिया’ गठबंधन के नेताओं ने आयोग से मांग की है। हालांकि डाक मतों की गिनती आम तौर पर वोटिंग मशीनों में वोटों की गिनती से 30 मिनट पहले शुरू होती है, लेकिन यह वोटिंग मशीनों में वोटों की गिनती के बाद भी जारी रहती है। उससे पहले रिजल्ट घोषित होने का खतरा है| इसलिए, “इंडिया” गठबंधन ने सुझाव दिया है कि डाक मतों की गिनती पूरी होने के बाद, वोटिंग मशीनों में पड़े मतों की गिनती की जानी चाहिए। हालांकि, मुख्य आयुक्त राजीव कुमार इस पर चुप्पी साधे रहे| कमिश्नर ने बताया कि डाक मतों की गिनती आधे घंटे पहले शुरू होगी।

हम क्या करेंगे?: यदि सूरत निर्वाचन क्षेत्र में सभी गैर-भाजपा उम्मीदवार अपना आवेदन वापस ले लेते हैं तो चुनाव आयोग क्या करेगा? कमिश्नर राजीव कुमार ने बताया कि अगर जबरन आवेदन वापस लिया गया होता तो हम हस्तक्षेप करते| सूरत में चुनाव नहीं हो सका क्योंकि मैदान में केवल एक ही उम्मीदवार था।राजीव कुमार ने कहा कि हालांकि लोकतंत्र में यह स्थिति ठीक नहीं है, लेकिन आयोग ने कानून के मुताबिक फैसला लिया है| विपक्ष ने मुद्दा उठाया कि वोटिंग प्रक्रिया होनी चाहिए क्योंकि ‘नोटा’ मतदाताओं के लिए एक विकल्प है| 

इस संबंध में केंद्रीय चुनाव आयोग ने रमेश को नोटिस भेजकर सबूत पेश करने को कहा है|  केंद्रीय चुनाव आयोग पर कई आरोप लगे हैं और आयोग इन हमलों से अपना बचाव नहीं कर पाया है, लेकिन राजीव कुमार ने दोहराया कि आरोप लगाने वालों को सबूत देना चाहिए|

यह भी पढ़ें-

LS​ Result 2024:​ वोटों की गिनती पर पीयूष गोयल ​ने​ किया जीत का दावा​! ​

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,489फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
167,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें