27 C
Mumbai
Thursday, July 25, 2024
होमदेश दुनियाLE 2024: प्रथम चरण में 2019 के मुकाबले 7 प्रतिशत वोट हुआ?...

LE 2024: प्रथम चरण में 2019 के मुकाबले 7 प्रतिशत वोट हुआ? , 62.37 प्रतिशत मतदान!

Google News Follow

Related

लोकसभा चुनाव के पहले चरण में 62.37 प्रतिशत मतदान हुआ|महाराष्ट्र की पांच सीटों पर औसतन 57.82 प्रतिशत मतदान हुआ| 2019 के लोकसभा चुनाव में पहले चरण में 70 फीसदी मतदान हुआ|इसकी तुलना में इस बार 7 फीसदी कम वोटिंग हुई|पश्चिम बंगाल और मणिपुर में कुछ स्थानों को छोड़कर, 19 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों के 102 लोकसभा क्षेत्रों में मतदान शांतिपूर्ण रहा। केंद्रीय चुनाव आयोग की ओर से जानकारी दी गई कि लोकसभा के साथ सिक्किम और अरुणाचल राज्यों की विधानसभाओं के लिए भी भारी मतदान हुआ|केंद्रीय चुनाव आयोग द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, शुक्रवार देर रात 9 बजे तक त्रिपुरा में सबसे अधिक 80.17 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

मतदान प्रतिशत: अंडमान और निकोबार – 56.87, अरुणाचल प्रदेश – 67.15, असम – 72.10, बिहार – 48.50, छत्तीसगढ़ – 63.41, जम्मू और कश्मीर – 65.08, लक्षद्वीप – 59.02, मध्य प्रदेश – 64.77, महाराष्ट्र – 55.35, मणिपुर – 69.13, मेघालय – 74.21, मिजोरम-54.23, नागालैंड-56.91, पुडुचेरी-73.50, राजस्थान-56.58, सिक्किम-69.47, तमिलनाडु-65.19, त्रिपुरा-80.17, उत्तर प्रदेश-58.49, उत्तराखंड-54.06और पश्चिम बंगाल-77.57 प्रतिशत मतदान हुआ|

पश्चिम बंगाल, मणिपुर में हिंसक घटनाएं: तृणमूल ने आरोप लगाया है कि कूच बिहार जिले के सीतलकुची में भाजपा कार्यकर्ताओं ने तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पिटाई की और मतदाताओं को धमकी दी। मणिपुर में थमनपोकपी में एक मतदान केंद्र के पास कुछ हमलावरों ने गोलीबारी कर दी|माना जा रहा है कि इरोइसेम्बा मतदान केंद्र पर भी हिंसा भड़की है।

वही दूसरी ओर नितिन गडकरी, किरेन रिरिजू, अनिल बलूनी, भूपेन्द्र यादव, अर्जुन मेघवाल, जितेन्द्र सिंह, सर्बानंद सोनोवाल जैसे केंद्रीय मंत्रियों, संजीव बालियान, अन्नामलाई, जितिन प्रसाद, राहुल गांधी, कनीमोली, गौरव गोगोई आदि भाजपा नेताओं का राजनीतिक भाग्य वोटिंग मशीन बंद हो गया है|

महत्वपूर्ण बातें: छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाकों में शांतिपूर्ण ढंग से मतदान हुआ। बस्तर के 56 गांवों में पहली बार मतदान केंद्र बनाए गए। ताकि यहां के मतदाता अपने-अपने गांव में मतदान कर सकें|महाराष्ट्र के गढ़चिरौली-चिमूर निर्वाचन क्षेत्र में, हेमलकासा मतदान केंद्र पर चुनाव संबंधी जानकारी स्थानीय आदिवासी बोली में उपलब्ध कराई गई थी।

बिहार के बोधगया में बौद्ध भिक्षुओं ने मतदान के बाद गर्व से अपनी उंगलियों पर स्याही दिखाई।अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में आदिवासी समुदाय ने भी बड़ी संख्या में मतदान किया। ग्रेट निकोबार की चंपैन जनजाति ने पहली बार मतदान किया| अरुणाचल प्रदेश में एक बुजुर्ग महिला घर पर मतदान करने में सक्षम होने के बावजूद एक पहाड़ी पर मतदान केंद्र पर मतदान करने गई। नागालैंड में मतदाता रंग-बिरंगे परिधानों में मतदान केंद्रों पर आए|

यह भी पढ़ें-

लोकसभा चुनाव 2024: चुनावी अग्निपरीक्षा; आठ मंत्रियों सहित 15 की किस्मत दांव पर!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,489फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
167,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें