27 C
Mumbai
Sunday, July 21, 2024
होमदेश दुनियाLS 2024: 'इंडिया' गठबंधन को बड़ा झटका!, छह लोगों की सांसदी खतरे...

LS 2024: ‘इंडिया’ गठबंधन को बड़ा झटका!, छह लोगों की सांसदी खतरे में?

Google News Follow

Related

लोकसभा चुनाव में भाजपा, एनडीए और इंडिया अलायंस के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली| इस लड़ाई में एनडीए एक बार फिर देश की सत्ता में आई। मोदी सरकार के मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण हो गया| मंत्री के खाते की भी घोषणा की गयी| भाजपा में खुशी का माहौल है| ‘इंडिया’ अघाड़ी में चिंता का माहौल है। ‘इंडिया’ अघाड़ी के छह सांसदों की सांसदी खतरे में है। 2024 के लोकसभा चुनाव में एनडीए ने उत्तर प्रदेश में 36 सीटें जीतीं। इनमें से भाजपा के पास 33 सीटें हैं| दूसरी ओर, सपा और कांग्रेस वाले अखिल भारतीय गठबंधन ने 43 सीटें जीतीं। ये छह सांसद उत्तर प्रदेश से हैं|

उत्तर प्रदेश में विपक्ष ने 2024 में सत्तारूढ़ भाजपा से ज्यादा सीटें जीतीं|हालाँकि, ये परिणाम जल्द ही ख़तरे में पड़ सकते हैं। क्योंकि, ‘इण्डिया’ अघाड़ी के छह सांसदों पर कई आपराधिक आरोप हैं| इससे पहले कई सांसदों को आपराधिक मामलों में दोषी ठहराया गया था। इस वजह से उन्हें संसद की सदस्यता गंवानी पड़ी| इनमें से कुछ नेता थे मोहम्मद आजम खान, खब्बू तिवारी, विक्रम सैनी और अशोक चंदेल। इसी तरह ‘इंडिया’ अघाड़ी के छह सांसदों पर भी आपराधिक मामले चल रहे हैं| अगर वह दोषी पाए गए तो उनकी संसद की सदस्यता चली जाएगी|

उत्तर प्रदेश के गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी के बड़े भाई अफजाल अंसारी गाजीपुर से चुने गए हैं। साल 2024 की शुरुआत में मुख्तार की मौत हो गई| अफजाल अंसारी समाजवादी पार्टी के टिकट पर निर्वाचित हुए हैं| इससे पहले उन्हें गैंगस्टर एक्ट मामले में चार साल की सजा सुनाई गई थी| हालाँकि, इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने उनकी सजा को निलंबित कर दिया और उन्हें आम चुनाव लड़ने की अनुमति दे दी। 

हालांकि, इस मामले का फैसला अभी तक सामने नहीं आया है। इसलिए जुलाई में कोर्ट शुरू होने पर मामले की सुनवाई होगी| यदि अदालत उनकी सजा बरकरार रखती है, तो वह संसद की सदस्यता खो देंगे।

सांसद धर्मेंद्र यादव सपा के टिकट पर आजमगढ़ से चुने गए हैं| उन पर चार आपराधिक मामले भी चल रहे हैं| यदि उन्हें दो साल से अधिक की सजा सुनाई गई तो उनकी लोकसभा की सदस्यता भी चली जाएगी। इसके अलावा, जब मायावती उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री थीं, तब एनआरएचएम घोटाले से संबंधित बाबू सिंह कुशवाहा के खिलाफ 25 मामले दर्ज किए गए थे। उन्होंने जौनपुर से भी चुनाव लड़ा और जीत हासिल की|बाबू सिंह कुशवाहा पर अब भी सजा की तलवार लटक रही है| अगर उन्हें भी सजा हुई तो सांसद बनने की संभावना है| 

भाजपा नेता मेनका गांधी को हराकर सुल्तानपुर सीट जीतने वाले रामभुआल निषाद आठ मामलों में आरोपी हैं| सांसद वीरेंद्र सिंह (चंदौली) और इमरान मसूद (सहारनपुर) पर भी कई मामले दर्ज किए गए हैं। उनके खिलाफ दर्ज मामलों में मनी लॉन्ड्रिंग, धमकी जैसे अपराध और गैंगस्टर एक्ट की धाराएं शामिल हैं। यदि इन सांसदों को दोषी पाया जाता है और दो साल से अधिक की जेल होती है, तो उनके सांसदों की सदस्यता रद्द की जा सकती है। अतीत में आपराधिक मामलों में दोषी ठहराए जाने के बाद कई सांसदों को संसद की सदस्यता गंवानी पड़ी है।

यह भी पढ़ें-

मोदी 3.0: अयोध्या की होगी चाक-चौबंद सुरक्षा, एनएसजी यूनिट की होगी स्थापना !

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,500फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
166,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें