26 C
Mumbai
Thursday, July 18, 2024
होमदेश दुनियाUP में CM योगी का बकरीद पर एक्शन मोड, अधिकारियों को दिए...

UP में CM योगी का बकरीद पर एक्शन मोड, अधिकारियों को दिए सख्त निर्देश!

Google News Follow

Related

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुस्लिम त्यौहार को लेकर सख्त निर्देश दिया है| योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बकरीद पर खुले में बलि न दी जाये| साथ ही उन्होंने कहा कि प्रतिबंधित जानवरों की बलि देने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी|आगामी त्योहारों में कानून-व्यवस्था और लोगों की सुविधाओं को लेकर अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की गई| इसके साथ सीएम आदित्यनाथ बकरीद को लेकर पूरे एक्शन मोड में दिखाई दे रहे है| वही, अधिकारियों को भी सख्त निर्देश भी दिया गया|

इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि 16 जून को गंगा दशहरा, 17 जून को बकरीद, 18 जून को ज्येष्ठ माह का मंगल का पर्व है और 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का मनाया जाने वाला है और जुलाई में मोहर्रम और कांवड़ यात्रा जैसे पवित्र कार्यक्रम वाला हैं| मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि यह समय कानून-व्यवस्था के नजरिए से काफी संवेदनशील है| नागरिकों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए शासन-प्रशासन को एक्टिव मोड में रहने की आवश्यकता है|

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों की समीक्षा बैठक में कहा कि पूर्व के अनुभव बताते हैं कि जहां स्थानीय प्रशासन ने संवादहीनता बरती, वहां अप्रिय घटना की स्थिति बनी| योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बकरीद पर कुर्बानी के लिए पहले से ही जगह का चिन्हित होना चाहिए| इसके साथ ही यह सुनिश्चित जरुर करें कि कहीं भी प्रतिबंधित जानवरों की कुर्बानी न हो| उन्होंने निर्देश दिया कि नमाज एक निर्धारित स्थल पर हों| साथ ही उन्होंने कहा कि सड़क पर नमाज नहीं होना चाहिए| आस्था का सम्मान करें, लेकिन किसी नई परंपरा को प्रोत्साहन न दें|

वहीं ज्येष्ठ माह के बड़ा मंगल पर भंडारा आयोजन की परंपरा रही है| इसको लेकर आयोजकों को बताया जाए कि प्रसाद खाकर अपशिष्ट सड़क किनारे न फेकें जाएं| ऐसी कोई घटना न हो, जिससे दूसरे धर्म के लोगों की भावनाएं आहत हों| संवेदनशील क्षेत्रों में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की जाए|

मुख्यमंत्री ने कहा कि यातायात विभाग के साथ-साथ परिवहन विभाग यह सुनिश्चित करे कि कहीं भी अवैध वसूली न हो| साथ ही उन्होंने कहा कि प्रेशर हॉर्न और हूटर नहीं बजना चाहिए| वीआईपी फ्लीट में सबसे आगे की गाड़ी में एक तय ध्वनि सीमा के साथ ही हूटर बजे| वीआईपी कल्चर को किसी भी दशा में स्वीकार नहीं किया जाएगा|

यह भी पढ़ें-

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में अलकनंदा नदी में बस गिरने से 12 श्रद्धालुओं की मौत,15 घायल!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,504फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
165,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें