32 C
Mumbai
Tuesday, May 21, 2024
होमन्यूज़ अपडेटबेमौसम हुई आतिशबाजी, ओलावृष्टि से अंगूर के बगीचे अस्त-व्यस्त !

बेमौसम हुई आतिशबाजी, ओलावृष्टि से अंगूर के बगीचे अस्त-व्यस्त !

इसी के तहत दो दिनों से ओलावृष्टि के साथ बारिश हो रही है|नासिक जिले में बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि ने किसानों को प्रभावित किया है|नासिक जिले में अंगूर के बाग तबाह हो गए हैं।अंगूर के मौसम में ओलावृष्टि से अंगूर के बागों को भारी नुकसान होने से किसान परेशान हैं।

Google News Follow

Related

मौसम विभाग ने राज्य में बेमौसम बारिश की भविष्यवाणी की थी|इसी के तहत दो दिनों से ओलावृष्टि के साथ बारिश हो रही है|नासिक जिले में बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि ने किसानों को प्रभावित किया है|नासिक जिले में अंगूर के बाग तबाह हो गए हैं।अंगूर के मौसम में ओलावृष्टि से अंगूर के बागों को भारी नुकसान होने से किसान परेशान हैं।
नासिक जिले के पालक मंत्री दादा भुसे सोमवार सुबह किसानों के बांध पर पहुंचे​ |उन्होंने नुकसान से प्रभावित किसानों को राहत दिलाने की कोशिश की​| इस बीच उन्होंने आदेश दिया है कि भले ही छुट्टी का दिन हो, अधिकारी क्षतिग्रस्त हिस्से का पंचनामा करें​|

1.5 से 2 लाख रुपये लागत सहायता अल्प: एक एकड़ अंगूर के बाग की लागत 1.5 से 2 लाख रुपये है। लेकिन सरकार से मदद कम मिलती है​| इसके चलते अंगूर उत्पादकों ने नुकसान का आकलन करते हुए प्रति एकड़ डेढ़ से दो लाख रुपये मुआवजे की मांग की है​| नासिक जिले के सताना तालुका के थेंगोडा गांव में बेमौसम बारिश के कारण किसानों की प्याज, सीताफल, वाल, सेवगा, अरहर, मक्का की फसल खराब हो गई है​|

किसानों के बांध पर पालक मंत्री दादा भुसे:नासिक में कल हुई बेमौसम बारिश से खेती को भारी नुकसान हुआ है​| नुकसान का निरीक्षण करने पालक मंत्री दादा भुसे किसानों के बांध पर पहुंचे​| नासिक जिले में, निफाड तालुका बेमौसम बारिश से सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ। सबसे ज्यादा नुकसान अंगूर, अनार, गेहूं, सब्जी की फसल को हुआ। कई किसानों के अंगूर के बगीचे नष्ट हो गये। बारिश के बाद अब अंगूर के बगीचों पर डाउनी फफूंदी का संकट मंडरा रहा है​|

नासिक के ग्रामीण इलाकों में नुकसान: मालेगांव, मनमाड, चांदवड, नंदगांव समेत नासिक जिले के ग्रामीण इलाकों में भारी बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि हुई है​| क्षेत्र में ओलावृष्टि से खेतों में ओले गिरे हैं। इससे प्याज, गेहूं और अन्य रबी फसलों और बगीचों को भारी नुकसान हुआ है​| तूफानी हवाओं के कारण पेड़ उखड़ गए हैं​| किसानों ने बारिश से हुए नुकसान का तत्काल पंचनामा कर मुआवजा देने की मांग की है।

​यह भी पढ़ें-

आईपीएल 2024: मुंबई में हार्दिक स्वागत, पांड्या की घर वापसी

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,600फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
154,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें