33 C
Mumbai
Monday, April 22, 2024
होमदेश दुनियाभक्तों की सुविधा को लेकर अयोध्या मंदिर ​आने​ वाले श्रद्धालुओं के लिए...

भक्तों की सुविधा को लेकर अयोध्या मंदिर ​आने​ वाले श्रद्धालुओं के लिए नए नियम​!

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और सरसंघ प्रमुख मोहन भागवत की उपस्थिति में आयोजित किया गया था। इसके बाद 23 जनवरी से मंदिर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया है​|​ मंदिर प्रशासन ने अब भक्तों के लिए नए नियमों की घोषणा की है​|​ राम जन्मभूमि मंदिर ट्रस्ट ने इस नियम को लागू कर दिया है​|​

Google News Follow

Related

22 जनवरी को राम मंदिर में राम की बाल मूर्ति की स्थापना बड़ी धूमधाम से की गई​|​ स्मरणोत्सव समारोह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और सरसंघ प्रमुख मोहन भागवत की उपस्थिति में आयोजित किया गया था। इसके बाद 23 जनवरी से मंदिर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया है​|​ मंदिर प्रशासन ने अब भक्तों के लिए नए नियमों की घोषणा की है​|​ राम जन्मभूमि मंदिर ट्रस्ट ने इस नियम को लागू कर दिया है​|​

​​क्यों तैयार की गई नियमावली?: राम जन्मभूमि न्यास की ओर से कहा गया है कि ये नियमावली इस हिसाब से तैयार की गई है कि राम मंदिर में प्रतिदिन 1 से 1.5 लाख लोग दर्शन के लिए आ रहे हैं​|​

​​राम भक्तों के लिए क्या हैं नए नियम?: मंदिर भक्तों के लिए सुबह 6.30 बजे से रात 9.30 बजे तक खुला रहेगा। राम मंदिर में प्रवेश से लेकर दर्शन के बाद बाहर निकलने तक की प्रक्रिया बहुत आसान है। इसे पूरा करने के बाद, भक्त 60 से 75 मिनट के भीतर भगवान राम के दर्शन कर सकते हैं। दर्शन करने से पहले, भक्तों को अपने मोबाइल फोन, पर्स और अन्य महत्वपूर्ण सामान मंदिर क्षेत्र के बाहर रखना चाहिए। ताकि उन्हें आसानी से देखा जा सके​ मंदिर में किसी भी प्रकार के फूल, माला, प्रसाद न लाएं।

​​सुबह 4 बजे रामलला की मंगल आरती, 6 बजे श्रीनगर आरती और रात 10 बजे सजा​ आरती होगी​|​ अगर आप इन तीनों आरती में शामिल होना चाहते हैं तो आपको पास लेना होगा। अन्य आरती के लिए पास अनिवार्य नहीं है।

​​जो पास जारी किया जाएगा उसके लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा, इसमें श्रद्धालु का पूरा नाम, उम्र, आधार नंबर, मोबाइल नंबर और शहर का नाम होना अनिवार्य है। साथ ही यह पास राम जन्मभूमि न्यास की वेबसाइट पर भी उपलब्ध होगा​|​ उपरोक्त सभी बातों की जानकारी होना आवश्यक है। मंदिर में रामलला के दर्शन के लिए कोई विशेष पास नहीं होगा, न ही कोई सशुल्क दर्शन या समान पास होगा। राम भक्तों को ऐसे किसी भी धोखे में नहीं आना चाहिए| ऐसी किसी भी धोखाधड़ी के लिए मंदिर प्रशासन जिम्मेदार नहीं होगा।

​मंदिर में आने वाले बुजुर्ग और दिव्यांग श्रद्धालुओं के लिए व्हीलचेयर की व्यवस्था की गई है। इस कुर्सी का इस्तेमाल सिर्फ राम मंदिर क्षेत्र में ही किया जा सकेगा| उक्त कुर्सी का उपयोग किसी अन्य मंदिर या अयोध्या में घूमने के लिए नहीं किया जा सकेगा। इस कुर्सी के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।

​यह भी पढ़ें-

गैंगस्टर वेड्स लेडी डॉन; गैंगस्टरों की शादी ​में दिल्ली पुलिस की कड़ी बंदोबस्त!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,640फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें