34 C
Mumbai
Monday, April 22, 2024
होमक्राईमनामा"...तो मेरे बेटे को फाँसी दे दो", संसद में चिल्लाने वाले युवक...

“…तो मेरे बेटे को फाँसी दे दो”, संसद में चिल्लाने वाले युवक के पिता की प्रतिक्रिया !

अमोल शिंदे महाराष्ट्र के लातूर जिले के रहने वाले हैं, जबकि नीलम हरियाणा के जींद जिले के घसो गांव की मूल निवासी हैं। डी.मनोरंजन कर्नाटक के मैसूर जिले का रहने वाला है और एक ऑटोरिक्शा चालक के रूप में काम करता है। साथ ही सागर शर्मा उत्तर प्रदेश के लखनऊ के रहने वाले हैं|

Google News Follow

Related

संसद के शीतकालीन सत्र के10वें दिन है|आज एक अप्रिय घटना तब घटी जब सांसद शून्य काल में लोकसभा में बोल रहे थे|दो युवक लोकसभा में घुसे और लोकसभा में पीला धुआं फैला दिया|इसके बाद लोकसभा में हड़कंप मच गया| कुछ सांसद बहादुरी से आगे आये और दोनों युवकों को पकड़ लिया|दोनों की पिटाई कर सुरक्षा गार्डों को सौंप दिया गया| दिल्ली पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया है और फिलहाल उनसे पूछताछ की जा रही है|कई लोगों को आश्चर्य हुआ कि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था को तोड़कर ये दोनों सभागार तक कैसे पहुंच गए।

इसी बीच एक युवक और एक महिला संसद के बाहर नारेबाजी करने लगे जबकि दो युवक सदन में बहस कर रहे थे|इन दोनों ने भी अंदर दंगा कर रहे युवाओं की तरह संसद के बाहर स्मोक कैन से पीला धुआं छोड़ा।इन चारों लोगों को सुरक्षा अधिकारियों ने हिरासत में ले लिया है|साथ ही इन चारों की पहचान भी कर ली गई है|संसद में दंगा करने वाले दोनों युवकों के नाम सागर शर्मा और डी हैं|मनोरंजन (35) हैं| नीलम (42) और अमोल शिंदे (25) को पुलिस ने संसद के बाहर हिरासत में लिया है।
इनमें अमोल शिंदे महाराष्ट्र के लातूर जिले के रहने वाले हैं, जबकि नीलम हरियाणा के जींद जिले के घसो गांव की मूल निवासी हैं। डी.मनोरंजन कर्नाटक के मैसूर जिले का रहने वाला है और एक ऑटोरिक्शा चालक के रूप में काम करता है। साथ ही सागर शर्मा उत्तर प्रदेश के लखनऊ के रहने वाले हैं|
इस बीच, डी.मनोरंजन ने मीडिया से बातचीत करने की कोशिश की|उस वक्त संसद में हुई घटना को लेकर देवराज ने कहा था, यह गलत है| किसी को भी ऐसी हरकत नहीं करनी चाहिए।साथ ही जब उनसे उनकी हरकतों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, अगर मेरे बेटे ने कुछ अच्छा किया है तो मैं उसका समर्थन जरूर करूंगा, लेकिन अगर उसने कुछ गलत किया है तो मैं उसकी निंदा करूंगा। अगर उसने समाज के लिए कुछ गलत किया है तो उसे फांसी पर लटका दो।’
यह भी पढ़ें-

संसद​ सुरक्षा की चूक को लेकर एनसीपी सुप्रीमों शरद पवार का एक पोस्ट!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,641फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें