30 C
Mumbai
Monday, April 22, 2024
होमदेश दुनियागौरव ने भी छोड़ी कांग्रेस ; कहा, पार्टी दिशाहीन दिशा में आगे...

गौरव ने भी छोड़ी कांग्रेस ; कहा, पार्टी दिशाहीन दिशा में आगे बढ़ रही है?

Google News Follow

Related

कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ ने घोषणा की कि वह कांग्रेस पार्टी के सभी पदों और प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रहे हैं कि कांग्रेस सनातन धर्म और देश के बारे में भी अच्छा नहीं बोल सकती है।आगामी लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ ने गुरुवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने ‘एक्स’ पर दो पन्नों का इस्तीफा पोस्ट किया, जिसमें पार्टी की नीतियों की आलोचना की गई और सवाल उठाए गए। उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस पार्टी दिशाहीन दिशा में आगे बढ़ रही है। 

कांग्रेस पार्टी का दिशाहीन आंदोलन:अपने पत्र में गौरव वल्लभ ने कहा है कि वह पिछले कुछ दिनों से पार्टी के रुख से परेशान थे| जब मैं कांग्रेस पार्टी में शामिल हुआ तो मेरा मानना था कि कांग्रेस देश की सबसे पुरानी पार्टी है, जहां युवा, बौद्धिक लोगों और उनके विचारों का सम्मान किया जाता है; लेकिन पिछले कुछ सालों में मुझे एहसास हुआ है कि पार्टी का मौजूदा स्वरूप अनुकूल नहीं है| बड़े नेताओं और जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं के बीच की दूरी को पाटना बहुत मुश्किल है, जो राजनीतिक रूप से जरूरी है।

जब तक कार्यकर्ता अपने नेता को सीधे निर्देश नहीं दे सकता तब तक सकारात्मक परिवर्तन संभव नहीं है। कांग्रेस पार्टी इस समय दिशाहीन दिशा में जा रही है। इसलिए मैं पार्टी छोड़ रहा हूं| आज मैं सनातन धर्म और देश की संपदा का दुरुपयोग करने वालों के खिलाफ नहीं बोल सकता। इसलिए, मैं कांग्रेस पार्टी के सभी पदों और प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रहा हूं| 

पूरा हिंदू समाज पार्टी का विरोध करता नजर आ रहा है: मैं अयोध्या में भगवान श्री राम के अभिषेक के अवसर पर कांग्रेस पार्टी के रुख से नाखुश हूं। मैं जन्म से हिंदू हूं और पेशे से शिक्षक हूं। पार्टी के इस रुख ने मुझे हमेशा परेशान किया है|’ पार्टी और गठबंधन से जुड़े कई लोग सनातन के खिलाफ बोलते हैं और इस पर पार्टी की चुप्पी दमनकारी अनुमोदन के समान है। एक तरफ हम जातिवार जनगणना की बात करते हैं और दूसरी तरफ पूरा हिंदू समाज पार्टी का विरोध करता नजर आ रहा है| यह कार्यशैली समाज को भ्रामक संदेश देती है। उन्होंने पत्र में यह भी स्पष्ट किया है कि यह पार्टी एक विशेष धर्म की समर्थक है, जो कांग्रेस के मूल सिद्धांतों के खिलाफ है|

 क्या हमारे देश में बिजनेस करके पैसा कमाना गलत है?: आर्थिक मामलों पर कांग्रेस का रुख हमेशा देश के धन सृजनकर्ताओं का अपमान और दुर्व्यवहार करने का रहा है। आज हम उदारीकरण, निजीकरण और वैश्वीकरण (एलपीजी) नीतियों के खिलाफ हो गए हैं। जिसके क्रियान्वयन का पूरा श्रेय दुनिया ने हमें दिया है। उन्होंने यह भी पूछा है कि क्या हमारे देश में बिजनेस करके पैसा कमाना गलत है? मुझे अपनी वित्तीय क्षमता का उपयोग देश के हित के लिए करना चाहिए।’ इसके लिए मैं कांग्रेस पार्टी में शामिल हुआ था|’ पार्टी की आर्थिक नीति को राष्ट्रीय स्तर पर प्रस्तुत किया जा सकता था,लेकिन पार्टी के घोषणापत्र या नीति में यह काम नहीं आया| उन्होंने यह भी कहा है कि मेरे जैसे वित्तीय मामलों के जानकार के लिए किसी घुटन से कम नहीं है|

गौरव वल्लभ जोधपुर जिले के पीपर गांव के रहने वाले हैं| अपनी पीएचडी पूरी करने के बाद, उन्हें एक्सएलआरआई कॉलेज, जमशेदपुर में प्रोफेसर के रूप में नियुक्त किया गया। उन्होंने कांग्रेस में शामिल होकर राजनीति में प्रवेश किया। वह पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता थे| 2019 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने कांग्रेस से जमशेदपुर पूर्वी सीट से चुनाव लड़ा था| इसके बाद 2023 में उन्होंने उदयपुर निर्वाचन क्षेत्र से राजस्थान विधानसभा चुनाव लड़ा|

यह भी पढ़ें-

ऋषभ पंत पर मंडराया बैन का खतरा!; बीसीसीआई सीधे करेगी कार्रवाई!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,641फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें