29 C
Mumbai
Thursday, April 18, 2024
होमदेश दुनिया​जांच एजेंसियों के दुरुपयोग पर नरेंद्र मोदी ​का​ ​​​विपक्षियों पर सीधा​ ​आरोप​​​!

​जांच एजेंसियों के दुरुपयोग पर नरेंद्र मोदी ​का​ ​​​विपक्षियों पर सीधा​ ​आरोप​​​!

Google News Follow

Related

पिछले कुछ वर्षों में इस बात की आलोचना होती रही है कि केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग करके विपक्षी दल के नेताओं को निशाना बनाया जा रहा है। इस संबंध में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए विभिन्न नेताओं के उदाहरण भी दिए जा रहे हैं​|​ चुनावी बॉन्ड को लेकर हाल ही में सामने आई जानकारी के आधार पर भी आलोचना हो रही है और विपक्ष का आरोप है कि ​भाजपा​ ने ईडी-सीबीआई का डर दिखाकर कारोबारियों से चंदे के रूप में जबरन वसूली की है​|​​इसलिए जब जांच एजेंसियों के दुरुपयोग का मुद्दा गरमाया हुआ है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस संबंध में अपना पक्ष रखा है​|​

​​नरेंद्र मोदी ने क्या कहा?: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दावा किया कि ईडी-सीबीआई की कार्रवाई में बड़ी मात्रा में नकदी जब्त की गई है​|अभी ईडी के पास कम से कम 7 हजार मामले लंबित हैं। इनमें राजनीतिक व्यक्तियों से जुड़े मामले 3 फीसदी से भी कम हैं|अपने कार्यकाल के दौरान 10 साल में उन्होंने सिर्फ 35 लाख रुपये की नकदी पकड़ी| हमने 2200 करोड़ रुपये की राशि पकड़ी है| नोटों का ढेर पकड़ा जा रहा है|वॉशिंग मशीन में भी नोट मिलने लगे हैं|

कांग्रेस सांसद से मिले 300 करोड़!: बंगाल में मंत्री के घर से बड़ी धनराशि प्राप्त हुई। देखा जाए तो क्या देश की जनता यह सब सहने को तैयार है? प्रधानमंत्री ने विपक्षी दलों पर पलटवार करते हुए कहा कि लोग कहते हैं कि ये बीमारी चली जानी चाहिए|

​​“क्या हमारी सरकार आने पर ​ईडी​ अस्तित्व में आया?”: क्या केंद्र में ​भाजपा​ सरकार आने के बाद ​ईडी​, ​पीएमएलए​ एक्ट अस्तित्व में आया? मोदी ने विपक्ष से उल्टा सवाल पूछा है​|​ “यह सब वहां पहले से ही था। ईडी ने वास्तव में क्या किया? ईडी एक स्वतंत्र तंत्र है​|​ वह स्वतंत्र रूप से काम करती है​|​ हम न तो उन्हें रोकते हैं और न ही उन्हें भेजते हैं।’ उन्हें स्वतंत्र रूप से काम करना होगा​|​ कानून के दायरे में रहकर कार्रवाई होनी चाहिए​|​ हमें इससे कोई लेना-देना नहीं होना चाहिए​|​ मैं अब कानूनी सलाह ले रहा हूं कि क्या उन लोगों को पैसा लौटाया जा सकता है​, जिनके पास पैसा है। मोदी ने दावा किया, हमने 17,000 करोड़ रुपये लौटा दिए हैं, जो हमने पहले जब्त किए थे।

​​​भाजपा​ नेताओं के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं?: इस बीच, भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं? ऐसा सवाल पूछे जाने पर मोदी ने ईडी को सत्ताधारी नेताओं के खिलाफ बंद मामले दिखाने की चुनौती दी​|​ ”जिस राजनीतिक व्यक्ति के पास केस होगा, वही चलेगा​|​ मुझे एक केस बताएं जो ईडी ने बंद कर दिया हो​|​ ईडी खुद कोई केस दर्ज नहीं कर सकती​, जब तक देश की अलग-अलग संस्थाएं केस दर्ज नहीं करतीं, तब तक ईडी कुछ नहीं कर सकती​|​

‘अदालतों को हथियार बनाने की कोशिश’: इस दौरान मोदी ने इस वक्त देश की अदालतों का भी जिक्र किया​|​ “अदालतों को हथियार बनाने की कोशिश की गई है ताकि ईडी काम न कर सके। क्योंकि वे जानते हैं कि भ्रष्टाचार के खिलाफ मेरी लड़ाई नहीं रुकेगी​|​इसलिए, उन्हें लगता है कि इन संस्थानों का दबाव हटा दिया जाना चाहिए ताकि कोई भी देश में भ्रष्टाचार के बारे में बात न कर सके”, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आरोप लगाया।

​यह भी पढ़ें-

Baramati loksabha: बड़ी भाभी तो मां हैं, फिर सुप्रिया उनके खिलाफ मैदान-ए-जंग?

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,645फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
147,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें