24 C
Mumbai
Saturday, February 24, 2024
होमदेश दुनियाबजट 2024: ​2047 तक भारत एक विकसित राष्ट्र​ बनाने का संकल्प!

बजट 2024: ​2047 तक भारत एक विकसित राष्ट्र​ बनाने का संकल्प!

हम प्रधानमंत्री मोदी की राय पर विश्वास करते हैं|हमने 4 वास्तविक जातियों गरीब, महिला, युवा और किसान पर ध्यान केंद्रित किया है।उनकी जरूरतें, महत्वाकांक्षाएं और विकास हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। उनके विकास में ही देश का विकास निहित है।

Google News Follow

Related

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में अंतरिम बजट पेश कर रही हैं।इस बजट में तीन महीने तक खर्च होने वाली रकम का हिसाब होता है।हम प्रधानमंत्री मोदी की राय पर विश्वास करते हैं|हमने 4 वास्तविक जातियों गरीब, महिला, युवा और किसान पर ध्यान केंद्रित किया है।उनकी जरूरतें, महत्वाकांक्षाएं और विकास हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। उनके विकास में ही देश का विकास निहित है।केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी कहा है कि हम उनके कल्याण के लिए काम कर रहे हैं|

हर घर को पानी, सबको बिजली, गैस, वित्तीय सेवाएं और बैंक खाते खोलने का काम किया गया है। भोजन की समस्या हल हो गई है| 80 करोड़ लोगों को निःशुल्क खाद्यान्न वितरित किया गया है। बुनियादी जरूरतें पूरी होने से ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की आय में वृद्धि हुई है। 2047 तक भारत एक विकसित राष्ट्र बन जायेगा। हम लोगों को सशक्त बनाने के लिए काम कर रहे हैं। निर्मला सीतारमण ने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि हमने भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद को खत्म कर दिया है।

देश की जनता भविष्य की ओर देख रही है. वे आशावादी हैं| प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हम आगे बढ़ रहे हैं| 2014 में जब प्रधानमंत्री मोदी ने सत्ता संभाली तो कई चुनौतियां थीं| जनहित के लिए कार्य शुरू किये गये हैं| लोगों को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये गये हैं। देश में एक नया उद्देश्य और आशा जगी है। जनता ने हमें दूसरी बार सरकार के लिए चुना। हम समावेशी विकास की बात कर रहे हैं| निर्मला सीतारमण ने यह भी कहा है कि वह सबका साथ, सबका विश्वास और सबका प्रयास के मंत्र के साथ आगे बढ़ रही हैं|

यह भी पढ़ें-

बजट-2024: एक करोड़ महिलाओं को बनाया गया ‘लखपति दीदी’!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,758फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें