27 C
Mumbai
Thursday, July 25, 2024
होमन्यूज़ अपडेटMaharashtra: विधानसभा चुनाव से पहले शरद पवार ने एक कट्टर विरोधी से...

Maharashtra: विधानसभा चुनाव से पहले शरद पवार ने एक कट्टर विरोधी से हाथ मिलाया!

शरद पवार 3 दिनों में 11 किसान बैठकों में शामिल होने वाले हैं​|​ इसलिए शरद पवार ने परोक्ष रूप से विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है​|बारामती में इस पर चर्चा हो रही है​|​

Google News Follow

Related

लोकसभा चुनाव खत्म होते ही शरद पवार ने विधानसभा चुनाव की ‘बीजारोपण’ शुरू कर दी है|शरद पवार इस समय बारामती और आसपास के इलाकों का दौरा कर रहे हैं| शरद पवार आज से अगले 3 दिनों तक बारामती तालुका के दौरे पर रहेंगे| शरद पवार की मौजूदगी में बारामती तालुका में किसानों की बैठक होगी| शरद पवार 3 दिनों में 11 किसान बैठकों में शामिल होने वाले हैं​|​शरद पवार ने परोक्ष रूप से विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है​|बारामती में इस पर चर्चा हो रही है​|​

शरद पवार ने काकडे परिवार से मुलाकात की: शरद पवार ने काकडे परिवार से मुलाकात की है. चुनाव से पहले भी शरद पवार ने ये मुलाकात की थी| काकडे और पवार में हमेशा से राजनीतिक दुश्मनी रही है| संभाजी काकड़े और शरद पवार हमेशा एक दूसरे के खिलाफ लड़ते नजर आते थे, लेकिन फिलहाल शरद पवार अपने चाचा के परिवार के साथ तालमेल बिठा रहे हैं| बारामती दौरे के दौरान शरद पवार ने काकडे परिवार से मुलाकात की है| क्या अब खत्म होगी पवार और काकडे परिवार के बीच राजनीतिक दुश्मनी? ऐसी चर्चा राजनीतिक गलियारों में हो रही है|

शरद पवार ने क्या कहा?: शरद पवार आज से बारामती के दौरे पर हैं| इस दौरे में उनके साथ योगेन्द्र पवार भी हैं| शरद पवार ने सोमेश्वर नगर में किसानों से बातचीत की| मैं भ्रमण कर रहा हूं|बारामती लोकसभा में चल रही है| मैं हाल ही में ध्यान नहीं दे रहा हूं। जिम्मेदारी किसी और को दी गई थी लेकिन अब हमें ध्यान देना होगा| वह जिसके पास शक्ति है| शरद पवार ने कहा कि उन्हें लोगों के कल्याण के लिए काम करना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं है।

हम दुनिया को चीनी भेजते हैं। जितनी अधिक चीनी बाहर जाती है, चीनी की दर उतनी ही अधिक बढ़ जाती है। केंद्र व राज्य सरकार चीनी के दाम पर ध्यान नहीं दे रही है| चीनी टैरिफ को लेकर मैंने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखा है| हमें चीनी की कीमत पाने के बारे में सोचना चाहिए।’ शरद पवार ने सोमेश्वरनगर के किसानों से अपील की कि यदि वे निर्णय लेते हैं तो वे खुश हैं और यदि निर्णय नहीं लेते हैं तो आपके माध्यम से उन्हें बताने का समय आएगा तो वे आपका समर्थन करेंगे|

यह भी पढ़ें-

बकरीद के बाद उड़ीसा में सांप्रदायिक तनाव; बालासोर में कर्फ्यू , इंटरनेट सेवाएं बंद!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,489फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
167,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें