34 C
Mumbai
Tuesday, May 21, 2024
होमन्यूज़ अपडेटमराठवाड़ा के लिए 59 हजार करोड़ का ऐलान कर मुख्यमंत्री ने विपक्ष...

मराठवाड़ा के लिए 59 हजार करोड़ का ऐलान कर मुख्यमंत्री ने विपक्ष पर कसा तंज !

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस, अजित पवार समेत सभी मंत्री मौजूद रहे। मराठवाड़ा के लिए 59 हजार हजार करोड़ के पैकेज का ऐलान किया गया है|  इसमें नदी जोड़ परियोजना का 14 हजार करोड़ का प्रोजेक्ट भी शामिल है|

Google News Follow

Related

छत्रपति संभाजी नगर में आयोजित कैबिनेट बैठक खत्म हो गई है| यह बैठक करीब सात साल बाद हुई| मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस, अजित पवार समेत सभी मंत्री मौजूद रहे। मराठवाड़ा के लिए 59 हजार हजार करोड़ के पैकेज का ऐलान किया गया है|  इसमें नदी जोड़ परियोजना का 14 हजार करोड़ का प्रोजेक्ट भी शामिल है|
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने क्या कहा है?: मराठवाड़ा को न्याय देने और ठोस फैसले लेने के लिए हमारी बैठक हुई थी| इससे पहले यह बैठक तब हुई थी जब देवेन्द्र फडणवीस मुख्यमंत्री थे। मराठवाड़ा ने न केवल राज्य में बल्कि देश में भी बड़ी छलांग लगाई है। कईयों ने घोषणा की, हम काम कर रहे हैं| मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा है कि अब तक हमारी कैबिनेट ने आम लोगों को ध्यान में रखकर फैसले लिए हैं|
हमारी महागठबंधन सरकार ने पहली कैबिनेट से लेकर आज तक जितने भी फैसले लिये, वे आम जनता के हितों को ध्यान में रखकर लिये गये| अब तक 35 सिंचाई परियोजनाओं को इस बात को ध्यान में रखते हुए संशोधित प्रशासनिक मंजूरी दी गई है कि खेती को पानी की जरूरत है और जमीन को इसकी जरूरत है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा, परिणामस्वरूप, 8 लाख हेक्टेयर भूमि सिंचाई के तहत आने का रास्ता साफ हो गया है।
हम सिर्फ घोषणाएं नहीं करते: हम घोषणाएं करके उन्हें कागज पर उतार नहीं देते। इसे क्रियान्वित करता है| हमने जो फैसले लिए हैं वो मराठवाड़ा के विकास के लिए हैं, मराठवाड़ा के लोगों को न्याय दिलाने के लिए हैं। हम लंबित परियोजनाओं को मंजूरी दे रहे हैं। समृद्धि राजमार्ग मराठवाड़ा से होकर गुजरता है। इससे फायदा होगा| औद्योगिक उद्योग बढ़ रहा है| मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि इससे मराठवाड़ा को भी फायदा होगा|
गोदावरी बेसिन में पानी डायवर्ट किया जाएगा. इस पर 13 हजार करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है| मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने बताया कि सिंचाई के लिए 14 हजार करोड़ और गोदावरी बेसिन के लिए 13 हजार करोड़ समेत कुल 27 हजार करोड़ का प्रावधान किया गया है|
इतना ही नहीं बल्कि जो लोग हमें नाम से बुला रहे हैं उन्हें बता दें कि हम किसी फाइव स्टार होटल में नहीं बल्कि सरकारी गेस्ट हाउस में ठहरे हैं। एकनाथ शिंदे ने विपक्ष को चुनौती भी दी कि जब भारत अघाड़ी के लोग यहां आए थे तो फाइव स्टार होटल में रुके थे, अगली बार उन्हें थोड़ा पढ़ने के लिए कहना|
यह भी पढ़ें-

औरंगाबाद शहर के बाद अब जिले का नाम भी ‘छत्रपति संभाजीनगर’, नाम बदलने की प्रक्रिया पूरी

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,601फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
154,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें