36 C
Mumbai
Thursday, February 29, 2024
होमन्यूज़ अपडेटपासवर्ड के दुरुपयोग के आरोपों की जांच, शिंदे ग्रुप की ठाकरे ग्रुप...

पासवर्ड के दुरुपयोग के आरोपों की जांच, शिंदे ग्रुप की ठाकरे ग्रुप के खिलाफ शिकायत!

चुनाव आयोग और तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष ने तय कर लिया था कि शिंदे गुट ही असली शिवसेना है| इसके बाद भी शिंदे ग्रुप ने मुंबई पुलिस से ठाकरे ग्रुप द्वारा आयकर विभाग, टीडीएस लॉगिन आईडी और पासवर्ड के गलत इस्तेमाल की शिकायत की थी| मुंबई पुलिस की वित्तीय अपराध शाखा ने मामले की प्रारंभिक जांच शुरू कर दी है।

Google News Follow

Related

चुनाव आयोग और तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष ने तय कर लिया था कि शिंदे गुट ही असली शिवसेना है| इसके बाद भी शिंदे ग्रुप ने मुंबई पुलिस से ठाकरे ग्रुप द्वारा आयकर विभाग, टीडीएस लॉगिन आईडी और पासवर्ड के गलत इस्तेमाल की शिकायत की थी| मुंबई पुलिस की वित्तीय अपराध शाखा ने मामले की प्रारंभिक जांच शुरू कर दी है। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि इस लॉगिन के जरिए रकम का भुगतान किससे किया गया।एकनाथ शिंदे की बगावत के बाद शिवसेना की पार्टी और चुनाव चिन्ह पर विवाद हो गया है|हालांकि, बाद में केंद्रीय चुनाव आयोग ने शिंदे को शिवसेना के नाम और पार्टी चिन्ह वाला धनुष सौंपा। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष ने विधायक अयोग्यता मामले में एकनाथ शिंदे के पक्ष में फैसला सुनाया|

शिंदे समूह के किरण पावस्कर, कोषाध्यक्ष बालाजी किणीकर और सचिव संजय मोरे ने 30 जनवरी को मुंबई पुलिस आयुक्त विवेक फणसलकर से मुलाकात की और ठाकरे समूह द्वारा आयकर विभाग के लॉगिन और पासवर्ड के दुरुपयोग की शिकायत की। इस शिकायत के बाद शिंदे गुट की ओर से मांग की गई कि इस मामले में केस दर्ज किया जाए|

मुंबई पुलिस कमिश्नर से शिकायत किए जाने के बाद मामले को आगे की जांच के लिए मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा को स्थानांतरित कर दिया गया। इसके बाद अब वित्तीय अपराध शाखा ने इस मामले में प्रारंभिक जांच शुरू कर दी है| एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस खबर की पुष्टि की|क्या शिवसेना की लॉगिन आईडी और पासवर्ड का दुरुपयोग किया गया? ये किसने किया? टीडीएस और आयकर की राशि का भुगतान किस बैंक खाते से किया गया? क्या इस मामले में कोई संज्ञेय अपराध किया गया है? इसका सत्यापन किया जा रहा है|

चूंकि इस मामले में तकनीकी जांच की जरूरत है,इसलिए साइबर पुलिस की मदद ली जाएगी। वित्तीय अपराध शाखा को प्राप्त शिकायतों के मामले में सबसे पहले प्रारंभिक जांच की जाती है। आरोप सही पाए जाने के बाद ही इस मामले में केस दर्ज किया जाता है|

यह भी पढ़ें-

मालदीव​: भारत से अनबन के बाद संकट में​, ​हठधर्मिता ​से दबा चीनी कर्ज में!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,746फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
132,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें