24 C
Mumbai
Saturday, February 24, 2024
होमन्यूज़ अपडेटनागपुर में विधान भवन: रोहित पवार की युवा संघर्ष यात्रा ने लिया...

नागपुर में विधान भवन: रोहित पवार की युवा संघर्ष यात्रा ने लिया आक्रामक रूप!

एनसीपी कार्यकर्ताओं का मार्च जीरो माइल चौक तक पहुंच गया है| कार्यकर्ता काफी आक्रामक हो गए हैं| पुलिस भी सतर्क हो गई है| इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है| पुलिस ने रोहित पवार को रोक लिया है|

Google News Follow

Related

एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार की पार्टी के विधायक रोहित पवार के नेतृत्व में चल रही युवा संघर्ष यात्रा पर नागपुर में विधान भवन के पास झड़प हो गई है| रोहित पवार के साथ सैकड़ों कार्यकर्ता इलाके में हैं| पुलिस की ओर से बैरिकेड्स लगा दिए गए हैं,लेकिन कार्यकर्ता बैरिकेडिंग तोड़कर अंदर घुसने की कोशिश कर रहे हैं| एनसीपी कार्यकर्ताओं का मार्च जीरो माइल चौक तक पहुंच गया है| कार्यकर्ता काफी आक्रामक हो गए हैं| पुलिस भी सतर्क हो गई है| इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है| पुलिस ने रोहित पवार को रोक लिया है|

रोहित पवार के नेतृत्व में युवा संघर्ष यात्रा राज्य भर में 800 किमी की यात्रा करने के बाद नागपुर में प्रवेश कर गई। रोहित पवार ने अपने कार्यकर्ताओं के साथ इस युवा संघर्ष यात्रा को 400 गांवों से पैदल निकाला| उनकी यात्रा आज नागपुर में संपन्न हुई| नागपुर में एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया गया| इस कार्यक्रम में ठाकरे ग्रुप के सांसद संजय राउत ने अपनी बात रखी| साथ ही एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार समेत कुछ अन्य प्रमुख नेताओं ने भी बात की| इसके बाद रोहित पवार की युवा संघर्ष यात्रा सीधे विधान भवन की ओर रवाना हो गई।

इतनी बड़ी संख्या में एनसीपी कार्यकर्ताओं को विधान भवन की ओर आता देख पुलिस अलर्ट हो गई| बड़ी संख्या में पुलिस बल इलाके में दाखिल हुआ|पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर कार्यकर्ताओं को रोक दिया|कार्यकर्ताओं ने बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की| इस दौरान पुलिस ने इन कार्यकर्ताओं को रोकने की कोशिश की|इस आंदोलन में एनसीपी नेता रोहित पाटिल भी शामिल हुए|पुलिस ने रोहित पवार को रोका| कुछ कार्यकर्ताओं को हिरासत में भी लिया गया|पुलिस द्वारा शुरू किए गए धरने के बाद रोहित पवार ने सड़क जाम कर दिया| इस बार पुलिस ने उसे गिरफ्तार करने की कोशिश की|

‘वह घमंडी हैं, क्या आप उन्हें चर्चा के लिए भाजपा शहर अध्यक्ष के पास भेजेंगे?’: इस दौरान मीडिया ने रोहित पवार की प्रतिक्रिया जानने की कोशिश की| ओह, ये आम लोगों के लिए नहीं हैं| अरे किसानों के बच्चे हैं| गरीबों के बच्चे हैं| आप उन पर लाठी चार्ज कर रहे हैं| हम जो कह रहे हैं, किसानों, गरीबों, युवाओं, प्रतियोगी परीक्षाओं, बेरोजगारी, महिला सुरक्षा, स्वास्थ्य की समस्या का समाधान करो। आइए इसके बारे में चर्चा करें. चलो बात करते हैं लेकिन उनमें अहंकार है| वे तहसीलदार को भेजते हैं, वे इस शहर के भाजपा अध्यक्ष को भेजते हैं। तो आपका क्या मतलब है कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे मजबूत नहीं हैं?
यह भी पढ़ें-

लाल सागर में जबरदस्त तनाव, इजरायल को उकसाने वाली एक और आतंकी कार्रवाई!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,758फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें