30 C
Mumbai
Wednesday, May 29, 2024
होमन्यूज़ अपडेटवंचित आघाडी ने बदली राज्य की सियासी समीकरण; बनाएंगे तीसरा मोर्चा?

वंचित आघाडी ने बदली राज्य की सियासी समीकरण; बनाएंगे तीसरा मोर्चा?

इस मौके पर दोनों नेताओं के बीच काफी देर तक बातचीत हुई| इस मुलाकात के बाद प्रकाश शेंडगे ने ऐलान किया है कि राज्य में तीसरा गठबंधन होगा| ऐसे में महाराष्ट्र में एक बार फिर राजनीतिक समीकरण बदलने की संभावना है|

Google News Follow

Related

वंचित बहुजन अघाड़ी के नेता प्रकाश अंबेडकर महाविकास अघाड़ी से लगभग बाहर हो गए हैं|महाविकास अघाड़ी द्वारा दी गई सीटों से प्रकाश अंबेडकर खुश नहीं हैं|इसलिए उन्होंने अब नए विकल्पों का परीक्षण भी शुरू कर दिया है। ओबीसी बहुजन पार्टी के नेता प्रकाश शेंडगे ने आज प्रकाश अंबेडकर से मुलाकात की|इस मौके पर दोनों नेताओं के बीच काफी देर तक बातचीत हुई|इस मुलाकात के बाद प्रकाश शेंडगे ने ऐलान किया है कि राज्य में तीसरा गठबंधन होगा| ऐसे में महाराष्ट्र में एक बार फिर राजनीतिक समीकरण बदलने की संभावना है|

प्रकाश शेंडगे ने अंबेडकर के राजगृह स्थित आवास पर वंचित बहुजन आघाडी नेता प्रकाश अंबेडकर से मुलाकात की। इन दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे तक चर्चा हुई| इसके बाद प्रकाश शेंडगे ने मीडिया से बातचीत की| शेंडगे ने भविष्यवाणी की है कि चुनाव में तीसरा मोर्चा बनेगा और राज्य में राजनीतिक भूचाल आएगा| इसलिए यह चर्चा छिड़ गई है कि प्रकाश अंबेडकर महाविकास अघाड़ी में नहीं होंगे|

तीसरा मोर्चा बनेगा: शेंडगे ने कहा कि प्रकाश अंबेडकर से पहले तीन बार मुलाकात हो चुकी है| उन्होंने उम्मीद जताई कि राज्य में तीसरा गठबंधन बनेगा| ओबीसी बहुजन पार्टी और वंचित बहुजन अघाड़ी राज्य में मजबूती के साथ चुनाव लड़ेगी। हमने प्रकाश अंबेडकर को अपनी सीटों का प्रस्ताव दिया है।’ प्रकाश अम्बेडकर से कौन कहाँ लड़ेगा इस पर चर्चा की और उनके सामने प्रस्ताव रखा। प्रकाश शेंडगे ने कहा कि हमारा रुख यह है कि आरक्षणवादियों को एकजुट होकर लड़ना चाहिए|

22 सीटों पर लड़ना है: प्रकाश अंबेडकर से हमारी सकारात्मक चर्चा हुई है। हम भारत के मोर्चे के बारे में जानते हैं। वह इंडिया एलायंस के साथ चर्चा कर रहे हैं। यह पता नहीं है कि वे इंडिया अलायंस के साथ जाएंगे या नहीं| ऐसा तो नहीं लगता| इसीलिए हमने अंबेडकर को 22 सीटों पर चुनाव लड़ने का प्रस्ताव दिया है।’ इस पर काम किया जा रहा है| राज्य में 60 फीसदी ओबीसी और 20 फीसदी घुमंतू समुदाय का वोट बैंक है| यदि सब एक हो गये तो राज्य में भयंकर भूचाल आ जायेगा।

घोड़ा मैदान है नजदीक: ओबीसी के खिलाफ स्टैंड लेने वाले विधायकों व सांसदों को ओबीसी समाज सीटें दिखायेगा| पास में ही एक घोड़े का मैदान है| कुछ लोग 400 पार कह रहे हैं| कुछ लोग 300 पार कह रहे हैं| उन्होंने यह भी कहा कि हम देखेंगे कि क्या होता है|

यह भी पढ़ें-

CSK vs RCB- IPL2024: विराट कोहली को क्यों आया जडेजा पर गुस्सा?

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,592फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
157,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें