26 C
Mumbai
Thursday, December 7, 2023
होमन्यूज़ अपडेटमराठा आरक्षण आंदोलन: सोलापुर में रेल रोकी, कलेक्टर कार्यालय में तोड़फोड़; विधायकों...

मराठा आरक्षण आंदोलन: सोलापुर में रेल रोकी, कलेक्टर कार्यालय में तोड़फोड़; विधायकों से भी पूछिए!

मराठा क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने आक्रामक रुख अपनाते हुए सोलापुर-पुणे रेलवे पर ट्रेन रोक दी| इस दौरान गाड़ियों के टायरों में आग लगाकर रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया|

Google News Follow

Related

सोलापुर शहर और जिले में मराठा आरक्षण आंदोलन तेज हो गया है और कैंडल मार्च से लेकर ट्रेन रोकने, कलेक्टर कार्यालयों की नाकेबंदी, एसटी बसों पर पथराव और आगजनी, चक्का जाम, बंद, विधायकों के घर जाने तक की आक्रामकता बढ़ गई है। उत्तर मांग रहे हैं|राजनीतिक नेताओं, विधायकों, प्रशासन को निशाना बनाए जाने के कारण, भाजपा के पूर्व सहकारिता मंत्री, विधायक सुभाष देशमुख के आवास के बाहर भारी पुलिस उपस्थिति बढ़ा दी गई है। मराठा क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने आक्रामक रुख अपनाते हुए सोलापुर-पुणे रेलवे पर ट्रेन रोक दी| इस दौरान गाड़ियों के टायरों में आग लगाकर रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया|

राम जाधव के नेतृत्व में आंदोलन शुरू होने के बाद पुलिस वहां पहुंची| दूसरी ओर, मराठा क्रांति मोर्चा के प्रदर्शनकारियों ने सीधे कलेक्टर कार्यालय पर धावा बोल दिया और कार्यालय के मुख्य द्वार को अवरुद्ध कर दिया और काफी देर तक वहां विरोध प्रदर्शन किया| एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले शिवसेना के जिला प्रमुख अमोल शिंदे, पूर्व उप महापौर दिलीप कोल्हे, उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाले शिवसेना के जिला उप प्रमुख प्रताप चव्हाण आदि,जहां आम मराठा समुदाय कलेक्टर कार्यालय के सामने क्रमिक भूख हड़ताल पर था, वहीं उसी संगठन के कार्यकर्ताओं ने सुबह हॉटगी रोड पर भाजपा विधायक सुभाष देशमुख के आवास के सामने ‘जबाब दो’ विरोध प्रदर्शन किया। जब तीव्र विरोध प्रदर्शन हो रहा था तो स्थिति को बिगड़ने से रोकने के लिए लगभग 100 पुलिसकर्मियों का एक बड़ा दल वहां पहुंच गया।

फिर विधायक देशमुख खुद प्रदर्शनकारियों की गोद में बैठ गये,लेकिन प्रदर्शनकारियों, खासकर महिला कार्यकर्ताओं ने देशमुख को कड़े शब्द कहे और उनसे जवाब देने को कहा| घर बैठने के बजाय मुंबई में थाने का आयोजन कर मराठा आरक्षण देने के लिए सरकार पर दबाव बनाएं, नहीं तो विधायकी छोड़ दें। इस दौरान कुछ देर के लिए तनावपूर्ण माहौल हो गया| मराठा आरक्षण आंदोलन जहां तेज हो रहा है, वहीं 85 वर्षीय कार्यकर्ता विष्णु पवार और सोमनाथ राउत की भूख हड़ताल जारी है|

हालत खराब होने के कारण पवार को छत्रपति शिवाजी महाराज सर्वोपचार सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उधर, जिले के कुछ हिस्सों में एसटी बसों में आगजनी और पथराव के कारण पूरे जिले में एसटी बसों का आवागमन बंद कर दिया गया है| सोलापुर आगार से प्रतिदिन लगभग 450 एसटी बसें चलती हैं। कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश सहित अन्य जिलों से प्रतिदिन लगभग 3500 एसटी बसें यात्रा करती हैं। लेकिन पूरी बस सेवा बंद होने से यात्रियों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है| खासकर ग्रामीण इलाकों में स्कूली छात्रों को परेशानी हो रही है क्योंकि जब परीक्षाएं चल रही हैं तो एसटी बस सेवा बंद है. करमाला, उत्तरी सोलापुर, मोहोल, बार्शी, पंढरपुर, मोहोल आदि में एसटी बसों पर पथराव की घटनाएं हुईं।

मराठा प्रदर्शनकारियों ने करमाला तालुका के जेउर में एक एसटी बस को जला दिया। पंढरपुर तालुका के भंडी शेगांव और मोहोल तालुका के अंकोली में एसटी बसें जला दी गईं। करमाला शहर में मराठा समाज और अन्य समाज के कार्यकर्ताओं ने जेल भरो आंदोलन कर अपनी गिरफ्तारी दी. मोहोल शहर में सख्त ‘बंद’ देखा गया। वहीं तहसील कार्यालय पर भी ताला लगा दिया गया।

यह भी पढ़ें-

मनोज जरांगे पाटिल ने विधायकों और सांसदों से भी आंदोलन में शामिल होने की अपील की​!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,865फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
111,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें