30 C
Mumbai
Saturday, February 24, 2024
होमदेश दुनियाHC फैसले पर ओवैसी की प्रतिक्रिया, 'मुसलमानों की गरिमा पर कील...'!

HC फैसले पर ओवैसी की प्रतिक्रिया, ‘मुसलमानों की गरिमा पर कील…’!

इस मामले में मथुरा कोर्ट द्वारा सर्वे की इजाजत दिए जाने के बाद मुस्लिम पक्षकारों ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया|आज हाई कोर्ट ने मस्जिद क्षेत्र के वैज्ञानिक सर्वेक्षण की भी इजाजत दे दी है|

Google News Follow

Related

ज्ञानवापी मस्जिद के बाद अब मथुरा की शाही ईदगाह मस्जिद का वैज्ञानिक तरीके से सर्वेक्षण किया जाएगा। इस संबंध में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने 14 दिसंबर अहम फैसला सुनाया|यह दावा करते हुए कि शाही ईदगाह मस्जिद कृष्ण जन्मभूमि पर बनाई गई थी, हिंदू संगठनों ने एक याचिका दायर की थी जिसमें मस्जिद क्षेत्र का वैज्ञानिक सर्वेक्षण करने और सच्चाई सबके सामने लाने की मांग की गई थी।इस मामले में मथुरा कोर्ट द्वारा सर्वे की इजाजत दिए जाने के बाद मुस्लिम पक्षकारों ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया|आज हाई कोर्ट ने मस्जिद क्षेत्र के वैज्ञानिक सर्वेक्षण की भी इजाजत दे दी है|

मस्जिद के वैज्ञानिक सर्वेक्षण के लिए इलाहाबाद हाई कोर्ट एक विशेष आयुक्त नियुक्त करेगा|  साथ ही कितने लोग इस सर्वे में हिस्सा लेंगे? सर्वेक्षण कब शुरू किया जाएगा? मस्जिद क्षेत्र के किन हिस्सों का सर्वेक्षण किया जाएगा? इस संबंध में 18 दिसंबर को फैसला लिया जाएगा| इस बीच हाई कोर्ट के इस फैसले पर अलग-अलग राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गई हैं| मामले पर टिप्पणी करते हुए ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन पार्टी के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि कुछ लोगों ने कानून-व्यवस्था का मजाक बना दिया है|

सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शाही ईदगाह मस्जिद के सर्वे की इजाजत दे दी है,जब बाबरी मस्जिद मामले का फैसला आया तो मैंने कहा था कि संघ परिवार (आरएसएस) की प्रतिष्ठा बढ़ेगी। मथुरेट विवाद को मस्जिद समिति और मंदिर ट्रस्ट के बीच दशकों पहले सुलझाया गया था। यदि यह काशी, मथुरा या लखनऊ की किसी मस्जिद का विषय है, तो आपको मंदिर ट्रस्ट और मस्जिद समिति के बीच समझौते को पढ़ना चाहिए। लेकिन, हाल ही में नए विवाद खड़े हो रहे हैं|

देश में पूजा स्थल कानून अभी भी मौजूद है, लेकिन इन लोगों (सत्ता में) ने कानून-व्यवस्था का मजाक बना दिया है।’ साथ ही सुप्रीम कोर्ट इस मामले पर 9 जनवरी को सुनवाई करने वाला था| फिर अचानक ऐसी क्या हड़बड़ी थी कि अभी सर्वे कराने का निर्णय लिया गया। हमारे देश में लगातार मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाया जा रहा है| कृपया कोई भी हमें देने और लेने का उपदेश न दे। ये लोग (भाजपा) कानून में विश्वास नहीं करते| सिर्फ मुसलमानों की प्रतिष्ठा खराब करने की कोशिश की जा रही है|
यह भी पढ़ें-

पुरानी पेंशन योजना लागू करने पर विधानसभा में मुख्यमंत्री का बड़ा ऐलान; कहा​…​!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,758फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें