33 C
Mumbai
Wednesday, April 24, 2024
होमदेश दुनियाप्रधानमंत्री मोदी के कोयंबटूर रोड शो को अदालत से मिली मंजूरी! 

प्रधानमंत्री मोदी के कोयंबटूर रोड शो को अदालत से मिली मंजूरी! 

पुलिस ने कानून-व्यवस्था की चिंताओं और सार्वजनिक परीक्षा आयोजित करने का हवाला देते हुए शुक्रवार सुबह अनुमति देने से इनकार कर दिया था। पुलिस ने यह भी कहा कि अन्य राजनीतिक दलों को भी अनुमति नहीं दी गई थी, इसलिए किसी भी पक्ष को निशाना बनाने का सवाल ही नहीं उठता|

Google News Follow

Related

मद्रास उच्च न्यायालय ने तमिलनाडु पुलिस को कुछ शर्तों के साथ सोमवार को कोयंबटूर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 4 किलोमीटर लंबे रोड शो की अनुमति देने का आदेश दिया है। पुलिस ने कानून-व्यवस्था की चिंताओं और सार्वजनिक परीक्षा आयोजित करने का हवाला देते हुए शुक्रवार सुबह अनुमति देने से इनकार कर दिया था। पुलिस ने यह भी कहा कि अन्य राजनीतिक दलों को भी अनुमति नहीं दी गई थी, इसलिए किसी भी पक्ष को निशाना बनाने का सवाल ही नहीं उठता|

अदालत ने बताया कि प्रधान मंत्री की रैलियों या कार्यक्रमों की सुरक्षा में राजतंत्र की न्यूनतम भूमिका थी, जिनकी सुरक्षा एक विशेष सुरक्षा दल द्वारा की जाती थी। हालांकि, पुलिस ने कहा कि उनका मानना है कि यह “समान जिम्मेदारी” है। प्रधानमंत्री इस सप्ताह के अंत में दक्षिणी राज्यों में बड़े पैमाने पर दौरे का नेतृत्व कर रहे हैं।

गौरतलब है कि इस चुनाव में भाजपा को 370 सीटों का लक्ष्य दिया था| अपने पांचवें तमिलनाडु दौरे पर उन्होंने सत्तारूढ़ द्रमुक और कांग्रेस सहित उनके सहयोगियों की आलोचना की है, उन पर घोटालों में शामिल होने और खुद को बदनाम करने का आरोप लगाया है। पिछले आम चुनाव में उन्हें तीन फीसदी से भी कम वोट मिले थे और इस बार एआईएडीएमके के अचानक बाहर होने के बाद उनके पास कोई बड़ा सहयोगी नहीं है| उन्होंने एआईएडीएमके आइकन और पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता की प्रशंसा की।

बता दें कि अन्नाद्रमुक ने नरमी के कोई संकेत नहीं दिए हैं और वह इस बात पर अड़ी हुई है कि वह तमिलनाडु की 39 लोकसभा सीटों पर अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। भाजपा-अन्नाद्रमुक गठबंधन राज्य पार्टी के लिए अच्छा संकेत नहीं है, जिसने पिछले दो प्रमुख चुनावों में कट्टर प्रतिद्वंद्वी द्रमुक को हराया है। भाजपा ने छोटी तमिल पार्टियों के साथ भी गठबंधन किया है, जिनमें एस रामदास की पीएमके और दिवंगत अभिनेता-राजनेता विजयकांत की डीएमके शामिल हैं। कन्याकुमारी जिले के विलावानकोड से मौजूदा विधायक एस विजयाधारानी के पाला बदलने से भगवा पार्टी को कुछ सफलता मिली है।

यह भी पढ़ें-

लोकसभा चुनाव 2024: प्रधानमंत्री मोदी पर बिहार सीट बंटवारे को लेकर टिकी नजरें!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,634फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें