27 C
Mumbai
Sunday, June 23, 2024
होमदेश दुनियाशरद पवार ​ने ​पीएम​ ​मोदी के अपमान​ पर मालदीव के नेताओं ​की...

शरद पवार ​ने ​पीएम​ ​मोदी के अपमान​ पर मालदीव के नेताओं ​की कि तीखी प्रतिक्रिया !

मालदीव के तीन उपमंत्रियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीयों की आलोचना की| इससे भारत और मालदीव के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है| इस पर एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने भी प्रतिक्रिया दी है|

Google News Follow

Related

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लक्षद्वीप दौरे के बाद सोशल मीडिया पर लक्षद्वीप बनाम मालदीव की तुलना होने लगी। मालदीव के तीन उपमंत्रियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीयों की आलोचना की| इससे भारत और मालदीव के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है| इस पर एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने भी प्रतिक्रिया दी है|
नरेंद्र मोदी हमारे देश के प्रधानमंत्री हैं। अगर दूसरे देश का कोई व्यक्ति या अधिकारी हमारे प्रधानमंत्री के खिलाफ बयान देता है तो उसे स्वीकार नहीं किया जाएगा| हम सभी को प्रधानमंत्री पद का सम्मान करना चाहिए| शरद पवार ने कहा कि अगर देश के बाहर का कोई व्यक्ति प्रधानमंत्री का अपमान करेगा तो हम इसे स्वीकार नहीं करेंगे|
पर्यटन विभाग की माफी: भारत के साथ विवाद से मालदीव को भारी नुकसान हुआ है। बड़ी संख्या में भारतीय पर्यटकों की बुकिंग रद्द होने और ट्रैवल कंपनियों के विरोध के बाद अब मालदीव के टूरिज्म एसोसिएशन ने भी अपने मंत्री के बयान की आलोचना की है| मालदीव एसोसिएशन ऑफ टूरिज्म इंडस्ट्री ने एक बयान जारी कर भारतीय प्रधान मंत्री और भारत के लोगों के खिलाफ अपने मंत्री की टिप्पणी की निंदा की।
मालदीव टूरिज्म एसोसिएशन ने कहा कि भारत हमारा करीबी पड़ोसी और मित्र है| इतिहास में जब भी हमारा देश मुसीबत में पड़ा, भारत ने सबसे पहले हमारी मदद की। हम सरकार के साथ-साथ भारत के लोगों के भी आभारी हैं कि उन्होंने हमारे साथ इतना करीबी रिश्ता बनाया।’ भारत मालदीव के पर्यटन में भी अहम भूमिका निभा रहा है। हमारे पर्यटन क्षेत्र को कोविड-19 के बाद रिकवरी में काफी मदद मिली है। मालदीव के लिए भारत एक प्रमुख बाजार है।
मालदीव के खिलाफ एकजुट हुए भारतीय: प्रधानमंत्री की अपमानजनक आलोचना और नागरिकों के खिलाफ नस्लवादी टिप्पणियों के बाद भारतीय नागरिकों, कलाकारों और खिलाड़ियों ने अपना गुस्सा व्यक्त करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया। साथ ही भारतीय नागरिकों से मालदीव का बहिष्कार करने और पर्यटन के लिए मालदीव न जाने का आग्रह किया जा रहा है। ऐसे में कई भारतीयों ने अपनी मालदीव यात्रा रद्द कर दी है|
साथ ही भारत की कुछ अंतरराष्ट्रीय ट्रैवल कंपनियों ने भी मालदीव के लिए बुकिंग लेना बंद कर दिया है। कुछ ट्रैवल कंपनियों ने मालदीव के लिए लोगों द्वारा की गई बुकिंग रद्द कर दी है|  परिणामस्वरूप, मालदीव में पर्यटन को बड़ा झटका लगने वाला है। इसलिए मालदीव के पर्यटन विभाग ने भारत से माफी मांगी है|
 
यह भी पढ़ें-

भारतीय मौसम विभाग: देश के विभिन्न हिस्सों में आज भारी बारिश का अनुमान !

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,539फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
162,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें