29 C
Mumbai
Saturday, February 24, 2024
होमदेश दुनियापनडुब्बी परियोजना: चौंका देने वाला! गुजरात की ओर महाराष्ट्र का एक और...

पनडुब्बी परियोजना: चौंका देने वाला! गुजरात की ओर महाराष्ट्र का एक और बड़ा प्रोजेक्ट?

इस परियोजना का उद्देश्य पानी के नीचे की दुनिया की गहराई का पता लगाना था। लेकिन अब इस प्रोजेक्ट को गुजरात सरकार ने अपने हाथ में ले लिया है और संभावना है कि यह प्रोजेक्ट महाराष्ट्र से गुजरात चला जाएगा|जानकारी सामने आई है कि सिंधुदुर्ग जिले में पनडुब्बी परियोजना गुजरात को जाएगी| तो हड़कंप मच गया है|यह देखना अहम होगा कि सत्ता पक्ष के नेता इस पर क्या सफाई देते हैं|

Google News Follow

Related

विपक्ष ने इस मुद्दे पर सरकार को घेरना शुरू कर दिया है|सिंधुदुर्ग जिले के पर्यटन को बढ़ाने के लिए 2018 में एक पनडुब्बी परियोजना की घोषणा की गई थी। देश का यह पहला पनडुब्बी प्रोजेक्ट निवाती रॉक्स के पास समुद्र में बनना था। इस परियोजना का उद्देश्य पानी के नीचे की दुनिया की गहराई का पता लगाना था। लेकिन अब इस प्रोजेक्ट को गुजरात सरकार ने अपने हाथ में ले लिया है और संभावना है कि यह प्रोजेक्ट महाराष्ट्र से गुजरात चला जाएगा|जानकारी सामने आई है कि सिंधुदुर्ग जिले में पनडुब्बी परियोजना गुजरात को जाएगी| तो हड़कंप मच गया है|यह देखना अहम होगा कि सत्ता पक्ष के नेता इस पर क्या सफाई देते हैं|

इस प्रोजेक्ट के लिए 56 करोड़ का फंड मंजूर किया गया था| हालाँकि, शासकों की अरुचि के कारण सिंधुदुर्ग पनडुब्बी परियोजना को बढ़ावा नहीं मिला। इस पनडुब्बी परियोजना में पर्यटक समुद्र के नीचे अद्भुत दुनिया देख सकते थे। यह परियोजना स्थानीय लोगों के लिए रोजगार भी पैदा करेगी। लेकिन जब धनराशि आवंटित की गई, तो समस्याएँ कहाँ से आईं? इसका जवाब हुक्मरानों को देना होगा| अब कहा जा रहा है कि यह प्रोजेक्ट गुजरात को जाएगा और गुजरात सरकार और मझगांव डॉकयार्ड द्वारका के समुद्र में एक ऐसी ही पनडुब्बी परियोजना लागू कर रहे हैं। जनवरी में वाइब्रेट गुजरात समिट में इसकी आधिकारिक घोषणा की जाएगी।

‘यह समझ से परे है’, रोहित पवार का निशाना: महाराष्ट्र में पनडुब्बी परियोजना के गुजरात में जाने की जानकारी सामने आने के बाद एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार के गुट के विधायक रोहित पवार ने ट्विटर के जरिए सरकार पर निशाना साधा। “महाराष्ट्र ने आज तक इतनी ठंड कभी नहीं देखी है जब एक के बाद एक प्रोजेक्ट महाराष्ट्र से गुजरात की ओर बढ़ रहे हैं। ये समझ से परे है| विरोधी आवाज उठाते थे, विरोध करते थे, लेकिन सरकार को अपनी आंखों पर पर्दा डालकर और कानों पर हाथ रखकर यह दिखाना है कि कुछ नहीं हुआ है, इसे कैसे बर्दाश्त किया जा सकता है? रोहित पवार ने पूछा है कि हम और कितने दिन तक ये खबर पढ़ते रहेंगे कि प्रोजेक्ट महाराष्ट्र से गुजरात ट्रांसफर हो गया है|

उन्होंने कहा, ”मेरा मानना है कि महाराष्ट्र के युवा इस सरकार को जगह दिखाने तक शांत नहीं बैठेंगे। क्योंकि यह लड़ाई महाराष्ट्र के धर्म के लिए है, महाराष्ट्र के स्वाभिमान के लिए है और महाराष्ट्र की अस्मिता के लिए है”, रोहित पवार ने ट्विटर पर कहा। इस खबर पर विधायक जितेंद्र आव्हाड ने भी सरकार को चुनौती दी है| “पूरे महाराष्ट्र को गुजरात ले चलो, बाबा। बेरोजगारी बढ़ने दीजिए”, जितेंद्र आव्हाड ने कहा।

यह भी पढ़ें-

क्या फिर रुलाएगा प्याज? निर्यात प्रतिबंध के खिलाफ बाजार बंद आंदोलन की तैयारी​ ​!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,758फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें