30 C
Mumbai
Monday, April 22, 2024
होमधर्म संस्कृतिप्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए ठाकरे, शरद पवार को मिला निमंत्रण? विश्व...

प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए ठाकरे, शरद पवार को मिला निमंत्रण? विश्व हिंदू परिषद ने दिया जवाब​ ?

इस समारोह को लेकर महाराष्ट्र में राजनीति गरमा गई है|आरोप लगाया जा रहा है कि शिवसेना ने पार्टी प्रमुख उद्धव बालासाहेब ठाकरे और शरद पवार को निमंत्रण नहीं भेजा|शिवसेना ठाकरे समूह के नेता संजय राउत ने भाजपा की कड़ी आलोचना की|

Google News Follow

Related

अयोध्या में श्रीराम मंदिर का प्रतिष्ठा समारोह 22 जनवरी को होगा। इस आयोजन की तैयारियां अयोध्या में युद्ध स्तर पर चल रही हैं, लेकिन इस समारोह को लेकर महाराष्ट्र में राजनीति गरमा गई है|आरोप लगाया जा रहा है कि शिवसेना ने पार्टी प्रमुख उद्धव बालासाहेब ठाकरे और शरद पवार को निमंत्रण नहीं भेजा|शिवसेना ठाकरे समूह के नेता संजय राउत ने भाजपा की कड़ी आलोचना की|

अयोध्या में राम मंदिर के लिए निमंत्रण भेजने वाली भाजपा कौन है? उन्होंने कहा, भाजपा के इस राजनीतिक आयोजन के बाद हम अयोध्या जाएंगे और श्री राम के दर्शन करेंगे|वहीं, विश्व हिंदू परिषद ने इस संबंध में सफाई दी है|अयोध्या में श्री राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को आमंत्रित किया गया है।
इन्हें भेजा गया निमंत्रण: राम मंदिर प्राणप्रतिष्ठा समारोह के लिए कार्यों का आवंटन कर दिया गया है| इसके मुताबिक, राम जन्मभूमि मंदिर ट्रस्ट और विश्व हिंदू परिषद को देशभर के वीवीआईपी लोगों को निमंत्रण भेजने की जिम्मेदारी दी गई है। इसके मुताबिक विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने उद्धव ठाकरे के अलावा शरद पवार, समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव, राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी आमंत्रित किया था| हमने इस समारोह में सभी प्रमुख नेताओं को आमंत्रित किया है| किसी को भी नहीं बख्शा गया है| समारोह में सभी को आना चाहिए| आलोक कुमार ने कहा है कि इसमें राजनीति नहीं की जानी चाहिए|
संजय राऊत और गिरीश महाजन के बीच टकराव: संजय राऊत ने राम मंदिर समारोह में उद्धव ठाकरे को आमंत्रित नहीं करने पर भाजपा की आलोचना की थी। उन्होंने कहा था कि हमने राम मंदिर के लिए एक करोड़ रुपये का भुगतान किया है. उन्होंने कहा, ”भाजपा का यह राजनीतिक कार्यक्रम खत्म होने के बाद हम अयोध्या जाएंगे और रामलला के दर्शन करेंगे|” संजय राउत की आलोचना का भाजपा मंत्री गिरीश महाजन ने जवाब दिया|
राज ठाकरे को न्योता दिया गया है,लेकिन उद्धव ठाकरे को आमंत्रित नहीं किया गया है|इस पर गिरीश महाजन ने कहा था कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर के लिए उद्धव ठाकरे का क्या योगदान है| घर पर बैठकर स्टैंड लेने और वास्तव में कार सेवा करने में अंतर है। गिरीश महाजन ने कहा था कि उद्धव ठाकरे एक साधारण विधायक हैं,लेकिन अब विश्व हिंदू परिषद की ओर से दी गई सफाई के बाद इस मामले से पर्दा उठ जाएगा|
यह भी पढ़ें-

 

जानिए UAE के उस मंदिर को जिसका PM Modi 14 फरवरी को करेंगे उद्घाटन   

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,641फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें