30 C
Mumbai
Monday, April 22, 2024
होमन्यूज़ अपडेटरायगढ़ में चुनाव चिन्ह का अनावरण, शरद पवार ने कहा, "तुरही फूंकने...

रायगढ़ में चुनाव चिन्ह का अनावरण, शरद पवार ने कहा, “तुरही फूंकने के लिए…”!

इस प्रतीक चिन्ह के अनावरण समारोह में शरद पवार गुट की ओर से बड़ा शक्ति प्रदर्शन किया गया था|इस ऐतिहासिक प्रतीक का अनावरण रायगढ़ किले में किया गया।

Google News Follow

Related

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद केंद्रीय चुनाव आयोग ने एनसीपी शरद चंद्र पवार गुट को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी शरदचंद्र पवार को नया चुनाव चिह्न दे दिया है। उन्हें ‘तुतारी(तुरहा)बजाता हुआ व्यक्ति’ चुनाव निशान आवंटित किया गया है। बता दें कि आगामी चुनाव में इस चुनाव चिन्ह का इस्तेमाल किया जा सकता है|इससे पहले इस प्रतीक चिन्ह के अनावरण समारोह में शरद पवार गुट की ओर से बड़ा शक्ति प्रदर्शन किया गया था|इस ऐतिहासिक प्रतीक का अनावरण रायगढ़ किले में किया गया।
इस प्रतीक चिन्ह का अनावरण शरद पवार ने छत्रपति शिवाजी महाराज की पवित्र भूमि पर जाकर किया है| इसके बाद शरद पवार ने लोगों से बातचीत करते हुए यह विश्वास पैदा किया कि तुतारी​  (तुरहा) लोगों को प्रेरित करेगी|इस​ अवसर पर उन्होंने कहा कि देश में राजा तो अनेक थे, संस्थाएं भी थीं लेकिन समूह  का राजा एक ही होता था। फिलहाल ऐसे हालात हैं कि राज्य में परेशानियां बढ़ेंगी|शिव छत्रपति का राज्य आम जनता की सेवा करने वाला राज्य था। अगर हम आज महाराष्ट्र राज्य को बदलना चाहते हैं, तो हमें यहां एक बार फिर से जनता का शासन लाने का प्रयास करना होगा|
आइये प्रेरणा लेकर सेवा करें: ​शरद पवार ने कहा कि चुनावी रणभेरी बज गयी है|यह वह तुरही है जो संघर्ष के माध्यम से प्रेरणा देती है।आपके संघर्ष और बलिदान से सफलता निश्चित है। हम इस आध्यात्मिक भूमि पर आये हैं। आइए इस स्थान से प्रेरणा लेकर लोगों की सेवा करें
शरद पवार ने पालकी में किले में किया प्रवेश: तुतारी (तुरहा) राज्य का ऐतिहासिक वाद्य यंत्र है| इसलिए दावा किया जा रहा है कि पार्टी को ऐतिहासिक प्रतीक चिन्ह मिल गया है| इस मौके पर आज रायगढ़ किले पर इस पार्टी के प्रतीक चिन्ह का अनावरण किया गया| उम्र के कारण शरद पवार के लिए रायगढ़ किला जीतना मुश्किल था। लेकिन रोपवे और पालकी ने उनके लिए रायगढ़ किले तक यात्रा करना आसान बना दिया। सबसे पहले वे रोप-वे से रायगढ़ पहुंचे। फिर उन्होंने पालकी का सहारा लिया|लगभग 40 वर्षों के बाद वे आज रायगढ़ किले में गये थे।
यह भी पढ़ें-

Baramati Election: बारामती की पिच पर पवार बनाम पवार मैच शुरू !

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,641फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें