34 C
Mumbai
Monday, April 22, 2024
होमदेश दुनियासुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद 'आप' की चंडीगढ़ मेयरशिप बची रहेगी?

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद ‘आप’ की चंडीगढ़ मेयरशिप बची रहेगी?

फिर भी इस मामले में इंडिया ग्रुप को नगर निगम चुनाव में अग्निपरीक्षा का सामना करना पड़ सकता है।

Google News Follow

Related

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को चंडीगढ़ के मेयर चुनाव के पिछले नतीजे को अमान्य करते हुए आम आदमी पार्टी के कुलदीप कुमार को चंडीगढ़ का नया मेयर घोषित कर दिया। लेकिन फिर भी ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि विपक्षी दलों के ‘इंडिया’ समूह को नगर निगम में बहुमत साबित करने की अग्निपरीक्षा का सामना करना पड़ेगा|

चंडीगढ़ के मेयर चुनाव में सुप्रीम कोर्ट ने भाजपा प्रत्याशी की जीत के आठ मतपत्रों को अवैध घोषित कर दिया, इसके बाद दोबारा मतगणना के आदेश दिए, जिसमें आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार कुलदीप कुमार मेयर घोषित किये गए| चुनाव अधिकारी अनिल मसीह का आठ मतपत्रों से छेड़छाड़ का वीडियो वायरल हो गया। सुप्रीम कोर्ट ने इस पर गंभीरता से संज्ञान लिया था| फिर भी इस मामले में इंडिया ग्रुप को नगर निगम चुनाव में अग्निपरीक्षा का सामना करना पड़ सकता है।

क्या है मामला?: भले ही सुप्रीम कोर्ट ने इंडिया अघाड़ी के पक्ष में फैसला सुनाया हो, लेकिन उनके लिए चंडीगढ़ नगर निगम में बहुमत साबित करना मुश्किल हो सकता है। 30 जनवरी को चंडीगढ़ मेयर चुनाव के नतीजों के बाद भाजपा को 14 वोट मिले|तो वहीं शिरोमणि अकाली दल की उम्मीदवार और भाजपा सांसद किरण खेर का एक वोट भी भाजपा की झोली में गिर गया|आप के तीन पार्षद पूनम देवी, नेहा मुसावत और गुरुचरण काला भी भाजपा में शामिल हो गए हैं|

इस तरह से 36 पार्षदों वाले नगर निगम में भाजपा के पास 19 वोट हैं| तो,आप-कांग्रेस गठबंधन के पास 20 वोट थे। इनमें से आठ वोटों को चुनाव अधिकारियों ने अमान्य कर दिया। भले ही सुप्रीम कोर्ट इन वोटों को मान्य कर दे, लेकिन अखिल भारतीय गठबंधन के पास केवल 17 वोट हैं। इसलिए उन्हें बहमुत साबित करने के लिए दो वोट कम पड़ गए।

यह भी पढ़ें-

मराठा आरक्षण: अजय महाराज बारस्कर के गंभीर आरोप, कहा, झूठ बोलता जरांगे!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,640फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें