30 C
Mumbai
Sunday, June 23, 2024
होमदेश दुनिया​प्राण प्रतिष्ठा समारोह: कौन हैं भगवान राम की मूर्ति बनाने वाले अरुण...

​प्राण प्रतिष्ठा समारोह: कौन हैं भगवान राम की मूर्ति बनाने वाले अरुण योगीराज?

इस मंदिर के मूल में प्रसिद्ध मूर्तिकार अरुण योगीराज द्वारा बनाई गई मूर्ति स्थापित की जाएगी। केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने जानकारी दी है कि अरुण योगीराज द्वारा अभिनीत मूर्ति का चयन कर लिया गया है| 

Google News Follow

Related

22 जनवरी को अयोध्या के राम मंदिर में राम की मूर्ति स्थापित की जाएगी| मंदिर में रामलला यानी राम के बाल रूप की मूर्ति होगी| इसके अलावा मंदिर में राम, लक्ष्मण, सीता और हनुमान की मूर्तियां भी होंगी। इस मंदिर के मूल में प्रसिद्ध मूर्तिकार अरुण योगीराज द्वारा बनाई गई मूर्ति स्थापित की जाएगी। केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने जानकारी दी है कि अरुण योगीराज द्वारा अभिनीत मूर्ति का चयन कर लिया गया है|
कौन हैं अरुण योगीराज?: अरुण योगीराज कर्नाटक के मैसूर के रहने वाले हैं। उनका परिवार मूर्तिकारों का है| क्योंकि पिछली पांच पीढ़ियों से उनके घर में मूर्तियां बनाने का काम हो रहा था| अरुण योगीराज को न केवल कर्नाटक बल्कि पूरे देश में प्रसिद्ध मूर्ति कलाकारों में से एक माना जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अरुण योगीराज के काम की सराहना कर चुके हैं| अरुण को मूर्तियाँ बनाने की विरासत अपने परिवार से मिली है।
बचपन से ही मूर्तिकला में रुचि अरुण योगीराज को बचपन से ही मूर्तिकला का शौक था। उन्होंने एमबीए किया​| इसके बाद वह एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी भी कर रहे थे​, लेकिन वे मूर्ति को नहीं भूले। उन्होंने 2008 में अपनी नौकरी छोड़ दी और मूर्ति बनाने के अपने पीढ़ीगत व्यवसाय में काम करने का फैसला किया। थोड़े ही समय में वह एक लोकप्रिय मूर्ति कलाकार बन गये।अरुण योगीराज ने इंडिया गेट पर स्थापित नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 30 फीट ऊंची प्रतिमा बनाई है। यह प्रतिमा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर दिल्ली के इंडिया गेट पर स्थापित की गई है।
अरुण योगीराज ने कौन सी मूर्तियां बनाई हैं?: अरुण योगीराज ने केदारनाथ में आदि शंकराचार्य की 12 फीट ऊंची मूर्ति भी बनाई है। उन्होंने मैसूर में स्वामी रामकृष्ण परमहंस की एक मूर्ति भी बनाई है। उन्होंने मैसूर के राजा की 14 फीट की मूर्ति भी बनाई है।उनके हाथों से बनी हनुमान की 21 फीट की मूर्ति भी मैसूर में स्थापित की गई है। उन्होंने भारतीय संविधान के निर्माता बाबा साहेब अंबेडकर की 15 फीट ऊंची प्रतिमा भी बनाई है। उनकी कला पूरे देश तक पहुंची| वह देश के प्रसिद्ध मूर्तिकारों और मूर्तिकारों में से हैं।
​यह भी पढ़ें-

मुंबई के स्वच्छता पैटर्न पर मुख्यमंत्री करेंगे महास्वच्छता अभियान की शुरुआत !

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,542फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
162,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें