36 C
Mumbai
Thursday, February 29, 2024
होमदेश दुनियाअयोध्या​ राम मंदिर​: CM योगी आदित्यनाथ ने ​​कहा, भावनाओं को व्यक्त करने...

अयोध्या​ राम मंदिर​: CM योगी आदित्यनाथ ने ​​कहा, भावनाओं को व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं हैं ​!

इस ऐतिहासिक समारोह के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनता से बातचीत की​|​ उस समय योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि उन्होंने जिस स्थान पर राम मंदिर बनाने का संकल्प लिया था, वहीं पर उन्होंने राम मंदिर बनाया है​|​

Google News Follow

Related

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ​अयोध्या में राम मंदिर में भगवान राम की मूर्ति का अनावरण किया​| इस दिन का 500 साल से इंतजार किया जा रहा था​|​ आखिरकार भगवान राम की मूर्ति राम मंदिर में विराजमान हो गई है​|​ इस ऐतिहासिक समारोह के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनता से बातचीत की​|​ उस समय योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि उन्होंने जिस स्थान पर राम मंदिर बनाने का संकल्प लिया था, वहीं पर उन्होंने राम मंदिर बनाया है​|​

​​​आज की भावनाओं को व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं हैं। मन भावुक हो गया है​|​ आप सभी भी ऐसा ही महसूस कर रहे होंगे​|​ इस ऐतिहासिक और पवित्र क्षण में, भारत का हर स्थान अयोध्या धाम है। हर रास्ता राम जन्मभूमि की ओर आ रहा है”, योगी आदित्यनाथ ने कहा।

​​सबके मन में राम-नाम है। हर किसी की आंखों में खुशी के आंसू हैं​|​ पूरा देश धन्य है. ऐसा लगता है कि हम त्रेता युग में प्रवेश कर गये हैं। आज रघुनन्दन गद्दी पर बैठे हैं। आज प्रसन्नता एवं संतुष्टि के भाव हैं। भारत को इसी दिन का इंतजार था​|​उन्होंने कहा कि इस दिन का हम पांच सदियों से इंतजार कर रहे थे​|​

​​श्री राम जन्मभूमि पहला ऐसा मामला होगा जहां उस देश के बहुसंख्यक समाज ने अपना मंदिर बनाने के लिए इतने वर्षों तक लड़ाई लड़ी। राम मंदिर के लिए समाज की सभी जातियों ने प्रयास किया​​|​आज आख़िरकार वो दिन आ ही गया​|​ आज आत्मा आनंद से परिपूर्ण है​|​योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मंदिर वहीं बना है​, जहां इसे बनाने का निर्णय लिया गया था​|

​​संकल्प और साधना की प्राप्ति के लिए हमारे इंतजार को समाप्त करने और संकल्प की पूर्ति के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद और बधाई”, योगी आदित्यनाथ ने भी कहा। योगी आदित्यनाथ ने आश्वासन दिया कि ‘अयोध्या नगरी में गोलियों की गड़गड़ाहट नहीं होगी, कोई कर्फ्यू नहीं होगा​|​’

​यह भी पढ़ें-

रामचरितमानस 10 भाषाओं में​: भारत के बाद इस देश में दूसरा सबसे लोकप्रिय ऑनलाइन ​​​हैं पढ़ने​ वाले!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,746फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
132,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें