30 C
Mumbai
Sunday, June 23, 2024
होमदेश दुनियाएक साधारण से लड़का निलेश लाडे की अपार सफलता

एक साधारण से लड़का निलेश लाडे की अपार सफलता

बीपीओ से बीएफएसआई: अप स्किलिंग के माध्यम से बढ़ा निलेश का करियर |

Google News Follow

Related

दूसरे लोगों की तरह नीलेश लाडे भी ग्रेजुएशन के बाद नौकरी पाने की उम्मीद में कॉलेज गए, लेकिन उन्हें वहां कठिन वास्तविकता का सामना करना पड़ा। वहां न तो उन्हें कोई अच्छी नौकरी मिली औऱ न ही उन्हें कॉर्पोरेट में नौकरी के लिए कुशल स्किल (रोजगार) मिला। एक साधारण बैकग्राउंड से आने के कारण, उन्हें अपने परिवार को सपोर्ट करने के लिए काम ढूंढना पड़ा और वे एक बीपीओ में नौकरी करने लगे, जहां काम करने के घंटे एकदम विपरीत थे। जब लोग सोने जाते, तब नीलेश काम पर निकलते।

नीलेश ने तीन साल में कई नौकरियाँ बदलीं, लेकिन वह कुछ और हासिल करना चाहते थे। रास्ते में आए कई असफलताओं (बाधाओं) का सामना करने के बावजूद, नीलेश ने दृढ़ता से अपने सपने को कायम रखा और अपग्रैड द्वारा संचालित भारत के शीर्ष रेटेड बी-स्कूलों में से एक, BIMTECH में मैनेजमेंट में एडवांस्ड सर्टिफिकेट हासिल किया। इस प्रोग्राम के पूरा होने के बाद, उन्हें 75% की वेतन वृद्धि के साथ एक अग्रणी बैंक में उच्च वेतन वाली नौकरी मिल गई।

नीलेश को विश्वास था कि यह कोर्स उसे अपने सपनों की नौकरी दिलाने में आवश्यक स्किल से लैस (रोजगार से सुसज्जित)करेगा, इसलिए उसने इस कोर्स को जारी रखा। यहीं नहीं, अपग्रैड की फ्लैक्सिबिलिटी औऱ सपोर्ट ने उनकी सीखने की जर्नी को और आसान बना दिया। निलेश ने अपनी पहली नौकरी के साथ साथ पढ़ाई पूरी की। निलेश के अथक समर्पण का फल तब मिला जब उन्हें कोटक महिंद्रा में सहायक प्रबंधक का पद मिला। उनके करियर को एक अभिनव ग्रोथ मिला। समर्पण और दृढ़ता के कारण उन्होंने अपने सपने को हकीकत में बदला।

नीलेश लाडे ने अपने इस वैल्युएबल अनुभव को साझा करते हुए कहा कि, “अपने लक्ष्य पर लेज़र जैसा फोकस और एक टनेल विजन बनाए रखें। ऐसे भी दिन थे जब मैं एक दिन में 100 कॉल संभालता था। यात्रा आसान नहीं थी, लेकिन मैं बस चलता रहा। मैं ऋणी हूं मेरे परिवार और अपग्रैड की अविश्वसनीय टीम का। उनको बहुत-बहुत धन्यवाद। उनके अटूट समर्थन और मुझे अपग्रैड से मिले मार्गदर्शन ने असंभव को संभव बना दिया। कड़ी मेहनत और दृढ़ता चुनौतियों को जीत में बदलने की कुंजी है।”

आज ऑनलाइन लर्निंग आम भारतीयों के जीवन को बदलने में सहायक बन रहा है। भारत में डिजिटल क्रांति ने इंटरनेट तक पहुंच को और आसान बना दिया है। इससे अनेक अवसर खुले हैं। निलेश उन भारतीयों में से एक हैं जिन्होंने कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प से अपनी किस्मत लिखी। उनके ग्रोथ ने ऑनलाइन लर्निंग के बाधाओं दूर कर दिया है और उनके प्रोफेशनल डेवलपमेंट को आगे बढ़ाया है।

यह भी पढ़ें-

आचार्य प्रमोद ने कहा, कांग्रेस से मुक्त करने के लिए धन्यवाद!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,542फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
162,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें