31 C
Mumbai
Wednesday, April 24, 2024
होमदेश दुनियामिशन चंद्रयान -3 : महिला वैज्ञानिकों से मुलाकात कर मोदी ने...

मिशन चंद्रयान -3 : महिला वैज्ञानिकों से मुलाकात कर मोदी ने ‘नारी शक्ति’ की सराहना की!

भारत आते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेंगलुरु में इसरो वैज्ञानिकों से मुलाकात की|साथ ही उन्हें संबोधित भी किया| इस मौके पर उन्होंने इसरो चेयरमैन एस. सोमनाथ को गले लगाया और महिला वैज्ञानिकों की भी विशेष सराहना की।

Google News Follow

Related

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चंद्रयान 3 मिशन में हिस्सा लेने वाली महिला वैज्ञानिकों से मुलाकात की| इस मौके पर उन्होंने नारी शक्ति का जिक्र किया और वैज्ञानिकों की असाधारण उपलब्धियों का सम्मान किया|चंद्रयान 3 मिशन के हिस्से के रूप में, अंतरिक्ष यान 23 अगस्त को चंद्रमा पर उतरा। इस बार भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ब्रिक्स सम्मेलन के लिए दक्षिण अफ्रीका गए थे|उन्होंने वहां से टेलीविजन के माध्यम से कार्यक्रम देखा। ऐसे में भारत आते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेंगलुरु में इसरो वैज्ञानिकों से मुलाकात की|साथ ही उन्हें संबोधित भी किया| इस मौके पर उन्होंने इसरो चेयरमैन एस. सोमनाथ को गले लगाया और महिला वैज्ञानिकों की भी विशेष सराहना की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उपस्थित वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए कहा, ”जिस मन से हम कर्तव्य करते हैं, विचार और विज्ञान को गति देते हैं और जो सब में विद्यमान है, उसे शुभ और कल्याणकारी संकल्प से जोड़ना चाहिए। मन के इन शुभ संकल्पों से जुड़े रहने के लिए शक्ति का आशीर्वाद अनिवार्य है। यह शक्ति हमारी नारी शक्ति है। सृजन से लेकर प्रलय तक सृजन का आधार स्त्री ऊर्जा ही है। मोदी ने यह भी कहा कि हम सबने देखा है कि चंद्रयान 3 में देश की महिला वैज्ञानिकों ने कितनी बड़ी भूमिका निभाई है|

चंद्रमा पर लैंडिंग बिंदु का नामकरण: “अंतरिक्ष मिशन के लैंडिंग बिंदु को एक नाम देना एक वैज्ञानिक परंपरा है। भारत ने चंद्रमा के उस हिस्से का नाम रखने का फैसला किया है, जहां उसका चंद्रयान उतरा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की कि जिस स्थान पर चंद्रयान 3 चंद्रमा लैंडर उतरा, उसे शिव शक्ति के नाम से जाना जाएगा।
एक और नामकरण पिछले कई दिनों से लंबित है। चार साल पहले, जब चंद्रयान 2 चंद्रमा पर पहुंचा, तो यह प्रस्ताव आया कि उस स्थान का नाम रखा जाए, लेकिन उस समय हमने तय किया कि जब चंद्रयान 3 सफलतापूर्वक चंद्रमा पर पहुंच जाएगा, तो हम दोनों बिंदुओं का एक साथ नामकरण करेंगे। आज मैं सोचता हूं कि जब हर घर में तिरंगा है, हर दिल में तिरंगा है और चांद पर भी तिरंगा है तो चंद्रयान 2 से जुड़ी जगह को तिरंगे के अलावा और क्या नाम दिया जा सकता है? इसलिए, जिस स्थान पर चंद्रयान 2 ने अपने पदचिह्न छोड़े थे, उसे अब तिरंगा के नाम से जाना जाएगा”, मोदी ने कहा।
शिव शक्ति नाम का क्या अर्थ है?: “शिव में मानवता के कल्याण का संकल्प है और शक्ति से उस संकल्प को पूरा करने की शक्ति आती है। चंद्रमा पर शिव शक्ति बिंदु हिमालय से कन्याकुमारी तक संबंध का प्रतीक है”, मोदी ने कहा| जिस मन से हम कर्तव्य, त्वरित विचार और विज्ञान का पालन करते हैं और जो सबमें विद्यमान है, उसे शुभ और कल्याणकारी संकल्प से जोड़ना चाहिए। मन के इन शुभ संकल्पों से जुड़े रहने के लिए शक्ति का आशीर्वाद अनिवार्य है यह शक्ति हमारी नारी शक्ति है”, मोदी ने यह भी कहा |
हर बच्चा वैज्ञानिकों में अपना भविष्य देखता है: “भारत की युवा पीढ़ी प्रौद्योगिकी, विज्ञान से भरी हुई है उसके पीछे हमारे ऐसे ही अंतरिक्ष मिशन की सफलता है मंगलयान की सफलता, चंद्रयान मिशन की सफलता, गगनयान ने देश की युवा पीढ़ी को नया उत्साह दिया है चंद्रयान का नाम आज हर किसी की जुबान पर है भारत का हर बच्चा वैज्ञानिकों में अपना भविष्य देखता है|
तो आपने (वैज्ञानिकों) न केवल चंद्रमा पर तिरंगा फहराया है, बल्कि आपने एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है, जिसने भारत की पूरी पीढ़ी को जागृत किया है, उन्हें नई ऊर्जा दी है। आपने पूरी पीढ़ी पर अपनी सफलता की छाप छोड़ी है”, मोदी ने कहा। उन्होंने यह भी विश्वास व्यक्त किया कि “आज आपने भारतीय बच्चों में जुनून का बीज बोया है, यह कल वट वृक्ष बनेगा”।
यह भी पढ़ें-

“राजनीति का अर्थ है​” सामाजिक उद्देश्य और राष्ट्रीय उद्देश्य,​ नितिन गडकरी का बयान!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,634फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें