30 C
Mumbai
Monday, April 22, 2024
होमदेश दुनियापाकिस्तान ने चेतावनी दी: ईरान पर खुफिया ऑपरेशन, विदेश मंत्रालय का बयान​!

पाकिस्तान ने चेतावनी दी: ईरान पर खुफिया ऑपरेशन, विदेश मंत्रालय का बयान​!

पाकिस्तान ने नाराजगी भरी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि ईरान ने सीमा का उल्लंघन कर कुरापाट पर कब्ज़ा कर लिया है| अब पाकिस्तान ने ईरान पर जवाबी हमला बोला है| इसलिए हमास-इजरायल युद्ध के बाद एक बड़ा सवाल खड़ा हो गया है कि क्या पाकिस्तान और ईरान के बीच युद्ध छिड़ जाएगा|

Google News Follow

Related

ईरान ने मंगलवार को पाकिस्तान और इराक पर मिसाइल हमले किए| पाकिस्तान ने ईरान को उसके खिलाफ युद्ध की चेतावनी दी थी| साथ ही पाकिस्तान ने नाराजगी भरी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि ईरान ने सीमा का उल्लंघन कर कुरापाट पर कब्ज़ा कर लिया है| अब पाकिस्तान ने ईरान पर जवाबी हमला बोला है| इसलिए हमास-इजरायल युद्ध के बाद एक बड़ा सवाल खड़ा हो गया है कि क्या पाकिस्तान और ईरान के बीच युद्ध छिड़ जाएगा|

ईरान ने मंगलवार को पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में जैश-ए-आदिल आतंकवादी समूह के दो ठिकानों पर मिसाइल और ड्रोन हमला किया। दो बच्चों की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए| इसके बाद पाकिस्तान ने ईरान को गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी और तुरंत ईरान से अपने राजदूत को वापस बुला लिया। इतना ही नहीं, दोनों देशों के बीच नियोजित द्विपक्षीय कार्यक्रम और दौरे तुरंत रद्द कर दिए गए।

पाकिस्तान के दावे के बाद ईरान के विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान पर हमले की जिम्मेदारी ली|जैश-उल-उदल ईरान और पाकिस्तान में सक्रिय एक आतंकवादी संगठन है और इस आतंकवादी समूह की स्थापना 2021 में हुई थी।

इस बीच पाकिस्तान ने भी ईरान पर हमला कर दिया है और ईरान के बलूचिस्तान लिबरेशन फ्रंट और बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी को निशाना बनाया है|पाकिस्तान ने ईरान स्थित आतंकवादी संगठन सरमाचर के अड्डे पर हमला किया। शुरुआती रिपोर्ट है कि हमले में सात आतंकी मारे गए हैं|पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने इस संबंध में एक बयान पेश किया है|इसके मुताबिक दावा किया गया है कि ईरान के आतंकी संगठन सरमाचर पर हुए हमले में कई आतंकी मारे गए| पाकिस्तान ने भी कहा है कि यह हमला खुफिया आधारित ऑपरेशन था|

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय का बयान: पाकिस्तान ने सरमाचर के ईरान में आतंकी संगठनों को पनाह देने पर चिंता जताई है| पाकिस्तान ने इन आतंकवादियों की मौजूदगी और गतिविधियों के ठोस सबूत वाले कई डोजियर भी साझा किए हैं। लेकिन, चूंकि हमारे सबूतों पर कार्रवाई नहीं की गई, इसलिए आतंकवादियों ने निर्दोष पाकिस्तानी नागरिकों का खून बहाना जारी रखा। 

यह कार्रवाई अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा को सभी खतरों से बचाने के पाकिस्तान के दृढ़ संकल्प का एक प्रयास है। इस अत्यधिक जटिल ऑपरेशन का सफल क्रियान्वयन पाकिस्तान सशस्त्र बलों के प्रयासों का एक प्रमाण है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने भी कहा है कि पाकिस्तान अपने लोगों की सुरक्षा बनाए रखने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाता रहेगा।

“पाकिस्तान इस्लामी गणतंत्र ईरान की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का पूरा सम्मान करता है। आज की कार्रवाई का एकमात्र उद्देश्य पाकिस्तान की अपनी सुरक्षा और राष्ट्रीय हित को बढ़ावा देना है। इससे समझौता नहीं किया जा सकता| अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के एक जिम्मेदार सदस्य के रूप में, पाकिस्तान सदस्य देशों की क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता सहित संयुक्त राष्ट्र चार्टर के सिद्धांतों और उद्देश्यों को कायम रखता है।

इन सिद्धांतों से प्रेरित होकर और अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत अपने कानूनी अधिकारों का प्रयोग करते हुए, पाकिस्तान कभी भी, किसी भी बहाने या परिस्थिति में, अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को चुनौती नहीं देगा”, पाकिस्तान ने चेतावनी दी। ईरान एक भाईचारा वाला देश है और पाकिस्तान के लोग ईरानी लोगों के प्रति बहुत सम्मान और स्नेह रखते हैं। पाकिस्तान ने कहा कि हमने आतंकवाद के खतरे सहित आम चुनौतियों से निपटने के लिए हमेशा बातचीत और सहयोग पर जोर दिया है और संयुक्त समाधान खोजने का प्रयास करना जारी रखेंगे।

यह भी पढ़ें-

Badlapur Fire:​​​ केमिकल कंपनी में भीषण विस्फोट, एक कर्मचारी की मौत,चार अन्य घायल!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,641फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें