24 C
Mumbai
Saturday, February 24, 2024
होमदेश दुनियाहमास से 13 इजरायली बंधकों की रिहाई; 48 दिन बाद युद्ध पीड़ितों...

हमास से 13 इजरायली बंधकों की रिहाई; 48 दिन बाद युद्ध पीड़ितों को राहत!

इज़राइल और हमास के बीच संघर्ष विराम समझौते के अनुसार, हमास 240 बंधकों में से 50 को चरणों में रिहा करेगा। इसके बाद इजरायल से 150 फिलिस्तीनी कैदियों को रिहा किया जाएगा. दोनों पक्ष बंधकों और कैदियों को चार दिनों की अवधि में चरणों में रिहा करेंगे। इसके साथ ही थाईलैंड के प्रधानमंत्री ने बताया कि हमास ने 12 थाई बंधकों को भी रिहा कर दिया है|

Google News Follow

Related

इजरायली मीडिया ने बताया कि हमास आतंकवादियों द्वारा इजरायल पर हमले के बाद बंधक बनाए गए 13 इजराइलियों को शुक्रवार को रिहा कर दिया गया। इज़राइल और हमास के बीच संघर्ष विराम समझौते के अनुसार, हमास 240 बंधकों में से 50 को चरणों में रिहा करेगा। इसके बाद इजरायल से 150 फिलिस्तीनी कैदियों को रिहा किया जाएगा|दोनों पक्ष बंधकों और कैदियों को चार दिनों की अवधि में चरणों में रिहा करेंगे। इसके साथ ही थाईलैंड के प्रधानमंत्री ने बताया कि हमास ने 12 थाई बंधकों को भी रिहा कर दिया है|

इजराइल और हमास के बीच युद्ध में चार दिवसीय युद्धविराम शुक्रवार से शुरू हो गया। इससे गाजा पट्टी को आवश्यक सहायता पहुंचाने के साथ-साथ हमास द्वारा बंधक बनाए गए बंधकों और इजरायल द्वारा बंधक बनाए गए फिलिस्तीनी कैदियों को रिहा करने की अनुमति मिलेगी। संघर्ष विराम शुक्रवार सुबह शुरू हुआ। इसके बाद कोई हवाई हमला या बमबारी नहीं हुई।

चार दिवसीय युद्ध विराम से 48 दिनों के बाद गाजा में 23 लाख लोगों को कुछ राहत मिली है। डेढ़ महीने से अधिक समय तक, उन्हें इजरायली हवाई हमलों और आवश्यक वस्तुओं की घटती आपूर्ति का सामना करना पड़ा। कुछ समय से इससे निजात मिलने की उम्मीद जगी है| उधर, हमास में बंधकों के परिवारों की सुरक्षा को लेकर उम्मीदें जग गई हैं| युद्ध विराम से आशा है कि युद्ध की तीव्रता कम हो जायेगी। युद्ध ने गाजा पट्टी में आवासीय इमारतों, अस्पतालों और अन्य सुविधाओं को नष्ट कर दिया, इजरायल के कब्जे वाले वेस्ट बैंक में हिंसा की घटनाओं में वृद्धि हुई और यह डर बढ़ गया कि युद्ध पश्चिम एशिया तक फैल सकता है।
उधर, इजराइल ने साफ कर दिया है कि सीजफायर खत्म होते ही युद्ध फिर शुरू हो जाएगा। इजरायली सेना ने दक्षिणी गाजा में पर्चे गिराकर लाखों विस्थापित फिलिस्तीनियों से कहा कि वे उत्तरी गाजा में युद्ध के मैदान में न लौटें। हालांकि, सैकड़ों फिलिस्तीनियों को उत्तर की ओर जाते देखा गया। इजरायली सेना ने उन पर गोलीबारी की, जिसमें दो की मौत हो गई और 11 अन्य घायल हो गए।
युद्ध विराम शुरू होने के तुरंत बाद ईंधन के चार टैंकर और रसोई गैस के चार टैंकर मिस्र से गाजा पट्टी में प्रवेश कर गए। इजराइल ने विराम अवधि के दौरान गाजा पट्टी में प्रति दिन 130,000 लीटर ईंधन पहुंचाने की अनुमति दी है। वहां रोजाना की जरूरत 10 लाख लीटर से ज्यादा है| संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि गाजा में मानवीय संकट को रोकने के लिए ईंधन की तत्काल आवश्यकता है।

दोनों पक्षों के बीच हुए समझौते के मुताबिक, हमास अपने पास मौजूद 240 बंधकों में से 50 को रिहा कर देगा। इनमें मुख्य रूप से बच्चे और महिलाएं शामिल होंगी|इजरायल 150 फिलिस्तीनी कैदियों को रिहा करेगा| ये सभी चरणबद्ध तरीके से जारी किए जाएंगे|इसके अलावा, इजरायल ने प्रस्ताव दिया है कि हमास द्वारा बंधक बनाए गए अतिरिक्त 10 बंधकों की रिहाई के लिए युद्ध विराम को एक दिन के लिए बढ़ाया जाए।

 यह भी पढ़ें-

दादा-दादा-दादा करते-करते गुजर गई मेरी जिंदगी, सुनील तटकरें का सुप्रिया पर हमला!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,758फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें