31 C
Mumbai
Sunday, May 26, 2024
होमदेश दुनियाटेस्ला गुजरात में इलेक्ट्रिक वाहन विनिर्माण संयंत्र स्थापित करेगी; इसकी घोषणा जनवरी...

टेस्ला गुजरात में इलेक्ट्रिक वाहन विनिर्माण संयंत्र स्थापित करेगी; इसकी घोषणा जनवरी में की जायेगी!

टेस्ला कंपनी के अधिकारियों और गुजरात सरकार के बीच चर्चा अंतिम चरण में है और जल्द ही आधिकारिक घोषणा होने की संभावना है।अहमदाबाद मिरर ने खबर दी है कि इस मौके पर टेस्ला कंपनी के सीईओ एलन मस्क भी मौजूद रह सकते हैं|

Google News Follow

Related

दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी टेस्ला आखिरकार भारत में अपना विनिर्माण संयंत्र स्थापित करेगी। जनवरी 2024 में गुजरात के गांधीनगर में होने वाले ‘वाइब्रेंट गुजरात समिट’ में इसकी आधिकारिक घोषणा होने की उम्मीद है। गुजरात में विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए हर साल गांधीनगर में यह विश्व स्तरीय शिखर सम्मेलन आयोजित किया जाता है।यह वर्ष इसका दसवां वर्ष है। गुजरात की मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, टेस्ला कंपनी के अधिकारियों और गुजरात सरकार के बीच चर्चा अंतिम चरण में है जल्द ही आधिकारिक घोषणा होने की संभावना है।
टेक्सास स्थित इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी टेस्ला ने 2022 में भारत में एक परियोजना स्थापित करने का निर्णय गुप्त रखा क्योंकि केंद्र सरकार ने आयात शुल्क कम करने की टेस्ला कंपनी की मांग को पूरा नहीं किया। लेकिन इस साल जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के दौरे पर गए तो टेस्ला के प्रमुख एलन मस्क ने उनसे मुलाकात की| इस यात्रा के दौरान उन्होंने भारत में एक विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने का संकेत दिया था। इस बीच केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने अमेरिका में टेस्ला मैन्युफैक्चरिंग प्लांट का दौरा किया|
गुजरात समाचार और अन्य मीडिया के अनुसार, टेस्ला कंपनी ने गुजरात के साणंद जिले में इस परियोजना को स्थापित करने में रुचि दिखाई है। यह वही जिला है जहां टाटा मोटर्स का वाहन विनिर्माण संयंत्र बनना था। इसके अलावा मारुति सुजुकी और एमजी मोटर जैसी बड़ी कंपनियों के भी वाहन विनिर्माण संयंत्र गुजरात में हैं। अब, अगर टेस्ला की परियोजना वास्तव में सफल होती है, तो गुजरात वाहन विनिर्माण का एक प्रमुख केंद्र बन सकता है।
गांधीनगर में होने वाले ‘वाइब्रेंट गुजरात समिट’ में गुजरात सरकार और टेस्ला के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर होने की संभावना है। कुछ समय पहले टेस्ला ने घोषणा की थी कि इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए बैटरी का उत्पादन भारत में किया जाएगा। इसके बाद वाहन बनाने की भी घोषणा की गई। इस साल के अंत तक टेस्ला द्वारा यह निर्णय लिया जाएगा कि किस राज्य में वाहन परियोजना बनाई जाएगी।कर्नाटक, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और तेलंगाना राज्य टेस्ला के प्रोजेक्ट को अपने राज्य में लाने की कोशिश कर रहे थे।
टेस्ला ने गुजरात को क्यों चुना?: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गुजरात को चुनने का कारण बंदरगाह बताया जा रहा है। गुजरात में वाहन का निर्माण करने के बाद, टेस्ला इसे बंदरगाह के माध्यम से अन्य देशों में निर्यात करने की योजना बना रही है। अनुमान है कि साणंद जिले से कांडला-मुंद्रा बंदरगाह तक परिवहन सुविधा उपलब्ध होने से वाहन निर्यात संभव हो सकेगा। साणंद जिले में टेस्ला परियोजना के लिए भी जमीन उपलब्ध करायी जायेगी| हालाँकि, अभी तक यह पुष्टि नहीं हुई है कि यह परियोजना साणंद जिले में ही होगी। गुजरात सरकार ने टेस्ला को मेहसाणा जिले के बेचराजी और अहमदाबाद जिले के धोलेरा का विकल्प भी दिया है।
भारत में अधिक कर: 2021 में, टेस्ला ने केंद्रीय मंत्रालय को पत्र लिखकर तैयार वाहनों के आयात पर कर छूट की मांग की। वर्तमान में, भारत में आयातित पूरी तरह से निर्मित वाहनों (सीबीयू) पर 60 से 100 प्रतिशत तक कर लगता है। 40,000 डॉलर से कम कीमत वाले वाहनों के इंजन, आकार, कीमत और परिवहन लागत के आधार पर कर लगाया जाता है। 40,000 डॉलर से अधिक कीमत वाले वाहनों पर 100 प्रतिशत कर लगाया जाता है। जिनकी कीमत इससे कम है उन पर 70 फीसदी टैक्स लगता है| टेस्ला की मांग थी कि इस टैक्स को घटाकर 40 फीसदी किया जाए|
इस पर प्रतिक्रिया देते हुए टेस्ला के संस्थापक एलन मस्क ने पिछले साल ट्वीट किया था, ‘भारत सरकार के साथ चुनौती ने टेस्ला के इलेक्ट्रिक वाहनों को भारत में आने से रोक दिया है।’ उसके विकल्प के रूप में यहां वाहन निर्माण का विचार प्रस्तावित किया गया। कुछ राज्य सरकारों ने एलन मस्क से अपने राज्य में प्रोजेक्ट लगाने की अपील की थी| टेस्ला इंडिया मोटर्स एंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड को जनवरी 2021 में शामिल किया गया था और इसे तकनीकी रूप से एक विदेशी कंपनी की सहायक कंपनी के रूप में वर्गीकृत किया गया है। कंपनी बैंगलोर में पंजीकृत (आरओसी) है।
यह भी पढ़ें-

 

”कमलाबाई की आड़ में​ शिंदे ग्रुप…”, सांसद संजय राउत की आलोचना​ ​!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,595फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
156,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें