29 C
Mumbai
Sunday, June 23, 2024
होमदेश दुनियायुद्ध की रिपोर्टिंग करते समय परिवार पर हुआ हवाई हमला, तबाह हो...

युद्ध की रिपोर्टिंग करते समय परिवार पर हुआ हवाई हमला, तबाह हो गया पत्रकार का पूरा परिवार !

इस युद्ध में इजरायल और फिलिस्तीन दोनों देशों के हजारों नागरिक मारे गए हैं। साथ ही युद्ध के बारे में अहम जानकारी देने वाले एक पत्रकार का पूरा परिवार भी इस युद्ध में मारा गया है|गाजा पट्टी में अल जजीरा के मुख्य संवाददाता वाएल दहदौह की पत्नी, बेटा, बेटी और पोता लड़ाई में मारे गए हैं।

Google News Follow

Related

इजराइल और हमास के बीच युद्ध में नरसंहार जारी है|इस युद्ध में इजरायल और फिलिस्तीन दोनों देशों के हजारों नागरिक मारे गए हैं। साथ ही युद्ध के बारे में अहम जानकारी देने वाले एक पत्रकार का पूरा परिवार भी इस युद्ध में मारा गया है|गाजा पट्टी में अल जजीरा के मुख्य संवाददाता वाएल दहदौह की पत्नी, बेटा, बेटी और पोता लड़ाई में मारे गए हैं।
हमास संगठन द्वारा इजराइल पर हमला शुरू करने के बाद इजरायल ने भी आक्रामक रुख अपना लिया है| परिणामस्वरूप, इज़राइल ने दक्षिणी गाजा पट्टी के नागरिकों से वहां से चले जाने का आह्वान किया। दक्षिणी गाजा पट्टी में इजरायली हवाई हमले जारी हैं| साथ ही यहां मानवीय सुविधाओं का भी अभाव है| इसलिए, इजरायल ने गाजा पट्टी के नागरिकों को निकालने का आदेश दिया। हालांकि, अल जज़ीरा के मुख्य संवाददाता वाएल दहदौह यहाँ की स्थिति को कवर करने के लिए अपने परिवार के साथ गाजा में शरणार्थी शिविरों में रुके थे।
इस बीच, इजरायल ने बुधवार को नुसीरत शरणार्थी शिविर पर हवाई हमला किया| हवाई हमले में वेल का सात वर्षीय बेटा योहिया, 15 वर्षीय बेटी शाम, पत्नी और एक पोता मारा गया। चौंकाने वाली बात यह है कि वेल दाहदौह युद्ध को कवर कर रहे थे। उसी वक्त ये हमला हुआ|  हमले की जानकारी मिलते ही वेल हमले वाली जगह पर पहुंचे| उसने अपने लहूलुहान बच्चों को गोद में ले लिया। युद्ध के कारण पूरे परिवार के नष्ट हो जाने की हृदयविदारक अभिव्यक्ति उनके चेहरों पर स्पष्ट थी। यह चित्रण अल जज़ीरा चैनल पर भी प्रसारित किया गया था।
“यह स्पष्ट नहीं है कि क्या हुआ। इस हमले में बच्चों, महिलाओं और नागरिकों को निशाना बनाया जा रहा है| वेइल ने संवाददाताओं से कहा, जब मुझे इस तरह के हमले के बारे में यरमौक से रिपोर्ट मिल रही थी, तो इज़राइल ने नुसीरत सहित कई क्षेत्रों को निशाना बनाया। अपने परिवार के सदस्यों के शव देखने गए वेल ने प्रेस जैकेट भी पहन रखी थी| इस बीच, दहदौह के परिवार के कुछ सदस्य हमले में बच गए हैं।
अल जज़ीरा अरबी के अनुसार, दहदौह का बेटा येहिया घायल हो गया और उसके सिर पर गंभीर चोट लगी। डॉक्टरों ने उनकी इमरजेंसी सर्जरी भी शुरू कर दी| अस्पताल परिसर में ही सर्जरी की शुरुआत की गयी| हालांकि, सर्जरी के लिए आवश्यक उपकरणों की कमी के कारण उनकी मृत्यु हो गई। वेल के कुछ सहकर्मियों ने भी इस पर प्रतिक्रिया दी| उन्होंने कहा, ”इजरायल की चेतावनी के बाद भी वेइल ने गाजा पट्टी नहीं छोड़ी| वह लगातार 19 दिनों तक वहां रहे। वे कह रहे थे कि रोजाना होने वाले हमलों को कवर करने के लिए मुझे गाजा सिटी में रहने की जरूरत है।
यह भी पढ़ें-

कांग्रेस के वर्चस्व वाली सीटों पर JDU ने क्यों उतारे अपने उम्मीदवार ? 

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,542फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
162,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें