29 C
Mumbai
Thursday, April 18, 2024
होमदेश दुनियामैडम तुसाद म्यूजियम में "संन्यासी" रामदेव की एंट्री, इनके बन चुके हैं...

मैडम तुसाद म्यूजियम में “संन्यासी” रामदेव की एंट्री, इनके बन चुके हैं पुतले

कपिलदेव, शाहरुख़ खान, सलमान खान, पीएम नरेंद्र मोदी सहित 12 भारतीय हस्तियों की मैडम तुसाद म्यूजियम में एंट्री हो चुकी है।

Google News Follow

Related

अमिताभ बच्चन, पीएम नरेंद्र मोदी आदि के बाद अब मैडम तुसाद म्यूजियम में योग गुरु बाबा रामदेव की मोम की प्रतिमा लगेगी। मंगलवार को योग गुरु बाबा रामदेव ने अपने मोम के पुतले का दिल्ली में अनावरण किया। रामदेव का यह पुतला वृक्षासन में बनाया गया है। इस दौरान बाबा रामदेव ने अपने मोम के पुतले को टीका भी लगाया। इस मौके उनके साथ आचार्य बालकृष्ण मौजूद थे। बाद में बाबा रामदेव ने अपने पुतले के सामने वृक्षासन भी किया।

बाबा रामदेव का पुतला बनाने के लिए लगभग 200 शिल्पकारों ने अलग अलग तरीके से उनका नाप लिया। इस दौरान बाबा रामदेव ने अपने मोम की खूबियों का बखान करते हुए कहा कि आठ साल की उम्र में लगे चोट के निशान को भी मोम के पुतले में दिख जाएगा। उन्होंने बताया कि मोम के पुतले को बनाने के लिए तुसाद मैडम के शिल्पकार सिंगापुर से लगातार भारत आते  और उनकी नाप जोख के साथ रंग रूप की जानकारी लेते कि कहीं कोई बदलाव तो नहीं आया है। उन्होंने बताया उनके शरीर के भागों में बड़े पैमाने पर बाल लगाए गए हैं।

गौरतलब है कि मैडम तुसाद म्यूजियम की स्थापना 1835 में की गई। यहां एक पुतले को बनाने 8 माह या इससे भी अधिक एक साल लगता है। स्थापना के समय से अब तक म्यूजियम में लगभग 400 से अधिक शख्सियतों का पुतला लगाया गया। इस भारत के भी कई बड़ी हस्तियां शामिल हैं।  जिसमें अमिताभ बच्चन का पुतला 2000 में लगाया था। यह उनकी फिल्म कभी ख़ुशी कभी गम रिलीज होने के बाद लगाया गया था। बॉलीवुड अभिनेत्री ऐश्वर्या राय का पुतला 2004 में लगाया गया रगा। पूर्व क्रिकेटर कपिलदेव, शाहरुख़ खान, सलमान खान, पीएम नरेंद्र मोदी सहित 12 भारतीय हस्तियों की मैडम तुसाद म्यूजियम में एंट्री हो चुकी है।

यह भी पढ़ें

BJP नेता की हत्या के मामले में PFI के 15 कार्यकर्ताओं को मौत की सजा

गांधी की हत्या पर पुस्तक: जितेन्द्र आव्हाड ने व्यक्त की तीखी प्रतिक्रिया !

पाकिस्तान की राजनीति में हलचल तेज, इमरान को 10 साल की सजा !

रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के ही दिन मां बनना चाहती हैं महिलाएं, जानें कारण!      

उत्तराखंड के 117 मदरसों में भगवान राम की जीवनी पढ़ाई जाएगी !

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,645फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
147,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें