29 C
Mumbai
Friday, February 23, 2024
होमदेश दुनियाखत्म हो जाएंगी 80 लाख नौकरियां,​ भारत में नहीं घुसने दी जाएंगी...

खत्म हो जाएंगी 80 लाख नौकरियां,​ भारत में नहीं घुसने दी जाएंगी ‘ये’ कारें​- गड़करी​!

भारत के सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, ''मैंने अमेरिका में ही कहा था कि मैं किसी भी कीमत पर ड्राइवरलेस कारों को भारत में नहीं आने दूंगा| ऐसा इसलिए क्योंकि हमारे देश में बड़ी संख्या में लोग ड्राइवर का काम करते हैं| ड्राइवरलेस कारें उनकी नौकरियां छीन सकती हैं!

Google News Follow

Related

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने दृढ़ राय व्यक्त की है कि ड्राइवरों के रोजगार की रक्षा के लिए भारत में ड्राइवर रहित कारें नहीं लाई जाएंगी। सड़क सुरक्षा पर चिंता जताते हुए भारत के सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, ”मैंने अमेरिका में ही कहा था कि मैं किसी भी कीमत पर ड्राइवरलेस कारों को भारत में नहीं आने दूंगा| ऐसा इसलिए क्योंकि हमारे देश में बड़ी संख्या में लोग ड्राइवर का काम करते हैं| ड्राइवरलेस कारें उनकी नौकरियां छीन सकती हैं, 70 से 80 लाख लोगों की नौकरियां चली जाएंगी, इसलिए मैं किसी भी कीमत पर ऐसी कारों को भारत में नहीं आने दूंगा।

ऑटोमोटिव इंजीनियरिंग में प्रगति पर जोर देते हुए, गडकरी ने कहा कि ऑटोमोबाइल में छह एयरबैग जोड़ना, सड़कों पर गड्ढों को कम करना और इलेक्ट्रिक मोटर्स अधिनियम के तहत जुर्माना बढ़ाना, एम्बुलेंस यात्रा के लिए अधिक सुविधाएं प्रदान करना, पर ध्यान केंद्रित करना अधिक महत्वपूर्ण है। हालांकि टेस्ला का भारत में स्वागत है, लेकिन भारत में बिक्री के लिए चीन में उत्पाद बनाना कोई विकल्प नहीं है। हम टेस्ला को भारत आने की अनुमति देंगे लेकिन वे चीन में निर्माण नहीं कर सकते और भारत में नहीं बेच सकते। ऐसा होना असंभव है।

नितिन गडकरी ने भविष्य के ईंधन के रूप में हाइड्रोजन के महत्व पर जोर दिया और सार्वजनिक बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए उन्नत प्रौद्योगिकी को अपनाने में सरकार की भूमिका पर भी प्रकाश डाला। “हाइड्रोजन भविष्य का एक महत्वपूर्ण ईंधन है। हम सार्वजनिक बुनियादी ढांचे को बढ़ाने के लिए सर्वोत्तम तकनीक लाने की दिशा में काम कर रहे हैं, इससे पहले नितिन गडकरी ने देश में ड्राइवरलेस वाहन लाने के विचार पर सार्वजनिक तौर पर आपत्ति जताई थी| पहले जुलाई 2017 में और फिर दिसंबर 2019 में, गडकरी ने कहा था कि वह ड्राइवरों को अपनी नौकरी खोने से रोकने के लिए ड्राइवररहित कारों की अनुमति नहीं देंगे।

सड़क हादसों पर क्या बोले नितिन गडकरी?: नितिन गडकरी ने कहा कि देश में हर साल 5 लाख से ज्यादा सड़क हादसे होते हैं और 1 लाख से ज्यादा मौतें होती हैं| इन आपदाओं का असर जीडीपी के 3.8 प्रतिशत पर भी पड़ता है। खास बात ये है कि इन हादसों में मरने वालों में 60 फीसदी युवा होते हैं| इन दुर्घटनाओं के चार मुख्य कारण हैं सड़क निर्माण,ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग, प्रवर्तन और शिक्षा। गडकरी ने यह भी कहा कि सरकार इसमें सुधार और बदलाव पर जोर देगी|
 
यह भी पढ़ें-

 

“…तब मैं मुख्यमंत्री बनूंगा”, बच्चू कडू ने सरकार की चिंता बढ़ा दी​ !

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,758फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें