36 C
Mumbai
Thursday, February 29, 2024
होमदेश दुनियाअमित शाह ने पाक अधिकृत कश्मीर का मुद्दा उठाया​, कहा, नेहरू की...

अमित शाह ने पाक अधिकृत कश्मीर का मुद्दा उठाया​, कहा, नेहरू की गलतियों का परिणाम!

​कांग्रेस और भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की आलोचना की​|​बुधवार को लोकसभा में अपने भाषण में शाह ने भारत-पाकिस्तान युद्ध का जिक्र करते हुए पंडित नेहरू पर निशाना साधा​| शाह ने कहा, नेहरू की गलतियों के कारण कश्मीर को बहुत नुकसान हुआ है​|​

Google News Follow

Related

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर का मुद्दा उठाया|कांग्रेस और भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की आलोचना की|बुधवार को लोकसभा में अपने भाषण में शाह ने भारत-पाकिस्तान युद्ध का जिक्र करते हुए पंडित नेहरू पर निशाना साधा| शाह ने कहा, नेहरू की गलतियों के कारण कश्मीर को बहुत नुकसान हुआ है|

भारत-पाकिस्तान युद्ध में हमारी सेना जीत रही थी​, लेकिन, पंजाब जीतने के बाद नेहरू ने युद्धविराम की घोषणा कर दी। इस प्रकार पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर का जन्म हुआ।यदि नेहरू ने तीन दिन बाद युद्ध विराम कर दिया होता तो पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर आज भारत का हिस्सा होता।फिर नेहरू ने एक और गलती की|वह भारत-पाकिस्तान मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र तक ले गए।

अधीर रंजन चौधरी ने कहा, पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को लेकर संसद में पूरे दिन चर्चा होनी चाहिए|क्योंकि ये कोई छोटा-मोटा तर्क नहीं है|देश की जनता को इस विवाद की गंभीरता और गहराई को जानना चाहिए|वहीं, पिछले कई सालों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को जब्त करने की घोषणा करते रहे हैं|जैसा कि अमित शाह कहते हैं, नेहरू ने गलती की|

​अमित शाह पिछले एक दशक से यही शिकायत करते आ रहे हैं|2019 में जब अनुच्छेद 370 हटाया गया तो अमित शाह ने लोकसभा में कहा था, पीओके, सियाचिन ये सब कश्मीर का हिस्सा हैं|साथ ही अमित शाह इस हिस्से को वापस दिलाने का दावा कर रहे थे|उनकी सरकार को अब 10 साल पूरे हो गए हैं|अटल बिहारी वाजपेयी छह साल तक सरकार में रहे| इन 16 वर्षों में आपको पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर लेने से किसने रोका? इस देश में दो ताकतवर नेता हैं| एक मोदी और दूसरे शाह, इन दोनों को पाक अधिकृत कश्मीर लेने से किसने रोका?

सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा, अगर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर रहता है तो कम से कम एक सेब वहां से ले आएं|चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से बनाया जा रहा है|इस पर मोदी और शाह चुप क्यों हैं? आप जी-7, जी-20, शंघाई सम्मेलनों में जाते हैं, वहां जाकर पीओके के लिए प्रयास क्यों नहीं करते। किस्तान अधिकृत कश्मीर ले कर दिखाओ|आपको वह करना चाहिए जो कांग्रेस करने में विफल रही।अगर वह ऐसा करता है तो भी वह आपका सबसे बड़ा हीरो होगा। लद्दाख में अतिक्रमण हुआ है|गलवान घाटी की घटनाएँ सभी जानते हैं।

​यह भी पढ़ें-

पंजीयन एवं स्टांप शुल्क विभाग​: अभय योजना लागू होने पर राज्य सरकार ​होगी​ मालामाल​ ​!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,746फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
132,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें