33 C
Mumbai
Wednesday, April 24, 2024
होमदेश दुनिया'इंडिया' की जगह भारत? जानिए दुनिया के इन देशों ने क्यों बदला...

‘इंडिया’ की जगह भारत? जानिए दुनिया के इन देशों ने क्यों बदला अपना नाम!

जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान 9 सितंबर को राष्ट्रपति भवन में होने वाले रात्रिभोज के निमंत्रण कार्ड पर 'इंडिया' के राष्ट्रपति की जगह भारत का राष्ट्रपति लिखा गया है| इसलिए यह चर्चा शुरू हो गई है कि केंद्र सरकार इंडिया की जगह भारत नाम रखेगी|

Google News Follow

Related

जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान 9 सितंबर को राष्ट्रपति भवन में होने वाले रात्रिभोज के निमंत्रण कार्ड पर ‘इंडिया’ के राष्ट्रपति की जगह भारत का राष्ट्रपति लिखा गया है| इसलिए यह चर्चा शुरू हो गई है कि केंद्र सरकार इंडिया की जगह भारत नाम रखेगी| यह भी कहा जा रहा है कि विशेष सत्र में यह बदलाव किया जाएगा, लेकिन अब तक दुनिया के किन-किन देशों ने अपना नाम बदला है।

जॉर्डन, मध्य पूर्व का एक देश, जब ब्रिटिश शासन था तब इसका नाम ट्रांसजॉर्डन था। 1946 में इसे आजादी मिली और 1949 में देश का नाम एक बार फिर बदलकर किंगडम ऑफ जॉर्डन कर दिया गया। मार्च 1935 से पहले ईरान का नाम फारस था। लेकिन 1935 में यहां की सरकार ने उन देशों से कहा, जिनके साथ हमारे राजनयिक संबंध हैं, वे हमें ईरान कहें।

म्यांमार को पहले बर्मा कहा जाता था। सैन्य सरकार ने 1989 में देश का नाम बदलकर म्यांमार कर दिया। ब्रिटिश शासन के दौरान श्रीलंका को सीलोन के नाम से जाना जाता था। लेकिन 20वीं सदी में जब स्वतंत्रता संग्राम शुरू हुआ तो देश का नाम श्रीलंका रखने की मांग ने जोर पकड़ लिया| फिर 1972 में, देश को आधिकारिक तौर पर श्रीलंका गणराज्य का नाम दिया गया। फिर 1978 में इसका नाम बदलकर डेमोक्रेटिक सोशलिस्ट ऑफ श्रीलंका कर दिया गया।

तुर्की देश को अब टर्की के नाम से जाना जाता है। तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोआन ने हाल ही में घोषणा की कि देश का नाम बदलकर तुर्की किया जाएगा। 2020 में हॉलैंड की सरकार ने अपने देश का नाम बदलकर नीदरलैंड करने का फैसला किया। इस देश के दो भाग हैं साउथ हॉलैंड और नॉर्थ हॉलैंड। मार्च 1885 में ब्रिटेन ने बोत्सवाना का आधिकारिक नाम बदलकर बेचुआनालैंड कर दिया। लेकिन 30 सितंबर 1966 को आजादी के बाद देश का नाम बदलकर बोत्सवाना कर दिया गया।
इथियोपिया के उत्तरी भाग पर पहले एबिसिनियन साम्राज्य का शासन था। लेकिन द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान राजा हेली सेलासी ने देश का नाम बदलकर एबिसिनिया की जगह इथियोपिया कर दिया। 1939 में सियाम का नाम बदलकर थाईलैंड कर दिया गया। उस समय यहां राजशाही थी। अप्रैल 2016 से चेक गणराज्य को चेकिया के नाम से जाना जाने लगा। पहले इस देश को बोहेमिया के नाम से भी जाना जाता था।
 
यह भी पढ़ें-

जरांगे पाटिल के बेटे की आंखों में आ गए आंसू, बोले, ”ये सरकार…”

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,634फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें