36 C
Mumbai
Thursday, February 29, 2024
होमदेश दुनियास्वामीनाथन वह कृषि विशेषज्ञ थे, जिन्होंने भारत को बनाया कृषि में आत्मनिर्भरता    ...

स्वामीनाथन वह कृषि विशेषज्ञ थे, जिन्होंने भारत को बनाया कृषि में आत्मनिर्भरता       

डॉक्टर एमएस स्वामीनाथन का जन्म तमिलनाडु में हुआ था। हरित क्रांति के तहत गरीब किसानों के खेतों में लगवाए थे अच्छी किस्मों के गेहूं और धान के पौधे  

Google News Follow

Related

देश के पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव, चौधरी चरण सिंह और डॉक्टर एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा। पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को ट्वीट कर जानकारी दी। पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा “उन्होंने चुनौतीपूर्ण समय में भारत को कृषि में आत्मनिर्भरता हासिल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और भारतीय कृषि को आधुनिक बनाने की दिशा में उत्कृष्ट प्रयास किये।”  बता दें कि तीनों शख्सियतों को मरणोपरांत यह सम्मान दिया गया है।

डॉक्टर एमएस स्वामीनाथन ने भारतीय कृषि को बदल दिया

पीएम मोदी ने कृषि क्षेत्र में काम वाले कृषि विशेषज्ञ डॉक्टर एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न देने की घोषणा की। उन्होंने एक्स सोशल मीडिया पर लिखा कि “यह बेहद ख़ुशी की बात है कि भारत सरकार कृषि और किसानों के कल्याण के लिए हमारे देश में उल्लेखनीय कार्य करने वाले  डॉक्टर एमएस स्वामीनाथन जी को भारत रत्न से सम्मानित कर रही है। पीएम मोदी ने आगे लिखा है कि ” उन्होंने चुनौतीपूर्ण समय में भारत को कृषि में आत्मनिर्भरता हासिल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और भारतीय कृषि को आधुनिक बनाने की दिशा में उत्कृष्ट प्रयास किये।”  ….

पीएम मोदी ने आगे लिखा है कि “डॉक्टर स्वामीनाथन के दूरदर्शी के नेतृत्व ने न केवल भारतीय कृषि को बदल दिया है बल्कि देश की खाद्य सुरक्षा और समृद्धि भी सुनिश्चित की है। वह ऐसे व्यक्ति थे, जिन्हें मै करीब से जनता था मै हमेशा उनकी अंतर्दृष्टि और इनपुट को महत्व देता था। ”

कृषि विशेषज्ञ डॉक्टर एमएस स्वामीनाथन का जन्म 7 अगस्त 1925 को तमिलनाडु में हुआ था। हरित क्रांति के तहत गरीब किसानों के खेतों में गेहूं और  धान की अच्छी उपज वाली  किस्मों के पौधे लगाए गए थे। वे प्रशासनिक पदों पर रहते हुए  कई अनुसंधान किये थे। कृषि विशेषज्ञ डॉक्टर एमएस स्वामीनाथन 1972 से लेकर 1979 तक भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के महानिदेशक थे। 1979 से 1980 तक वह अंतरराष्ट्रीय कृषि और सिंचाई मंत्रालय के प्रमुख सचिव भी रहे।

ये भी पढ़ें 

कौन हैं नरसिम्हा राव जिन्होंने भारत को उन्नत बनाने में निभाई महती भूमिका  

कौन हैं किसानों के “मसीहा” चौधरी चरण सिंह, जिन्हें मिला भारत रत्न 

तीन और भारत रत्न सम्मान देने की घोषणा, मोदी ने ट्वीट कर दी जानकारी

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,746फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
132,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें