26 C
Mumbai
Thursday, July 18, 2024
होमदेश दुनियाकिताबें आग में जल सकती हैं, लेकिन ज्ञान नष्ट नहीं होता; नालंदा...

किताबें आग में जल सकती हैं, लेकिन ज्ञान नष्ट नहीं होता; नालंदा यूनिवर्सिटी में पीएम मोदी का संदेश!

नालंदा सिर्फ भारत के अतीत से नहीं जुड़ा है, बल्कि दुनिया और एशिया के कई देशों की विरासत इससे जुड़ी है| हमारे सहयोगी देशों ने भी नालंदा विश्वविद्यालय के पुनर्निर्माण में भाग लिया है।

Google News Follow

Related

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बिहार के राजगीर में ऐतिहासिक नालंदा विश्वविद्यालय के नए परिसर का उद्घाटन किया। सुबह नालंदा विश्वविद्यालय पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी ने सबसे पहले विश्वविद्यालय की ऐतिहासिक विरासत का निरीक्षण किया| इसके बाद उन्होंने नए परिसर का उद्घाटन किया। 

इस मौके पर बोलते हुए मोदी ने कहा कि ना सिर्फ भारत बल्कि दुनिया के कई देशों की विरासत नालंदा से जुड़ी हुई है| नालन्दा विश्वविद्यालय से यह सीखा जा सकता है कि किताबें आग में जल जाती हैं, लेकिन ज्ञान अक्षुण्ण रहता है। यह नया कैंपस भारत की नई क्षमता को दुनिया के सामने प्रदर्शित करेगा। नालंदा दिखाएगा कि जो राष्ट्र मजबूत मानवीय मूल्यों पर आधारित हैं, वे इतिहास को पुनर्जीवित कर सकते हैं और बेहतर भविष्य की नींव रख सकते हैं।

मोदी ने कहा, नालंदा सिर्फ भारत के अतीत से नहीं जुड़ा है, बल्कि दुनिया और एशिया के कई देशों की विरासत इससे जुड़ी है| हमारे सहयोगी देशों ने भी नालंदा विश्वविद्यालय के पुनर्निर्माण में भाग लिया है। इस अवसर पर मैं भारत के सभी मित्र देशों को भी बधाई देता हूं। 

प्राचीन नालंदा में बच्चों को उनकी पहचान या राष्ट्रीयता के आधार पर प्रवेश नहीं दिया जाता था। हर देश और हर वर्ग के युवा यहां आते थे। नालन्दा विश्वविद्यालय के इस नये परिसर में वही प्राचीन व्यवस्था और अधिक प्रभावी ढंग से लागू की जायेगी।

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने ऐतिहासिक नालंदा यूनिवर्सिटी के नए कैंपस का उद्घाटन किया| इस मौके पर उन्‍होंने विश्‍व प्रसिद्ध धरोहर को जी भर कर देखा| इस मौके पर पीएम मोदी ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि तीसरी बार प्रधानमंत्री का कार्यकाल संभालने के 10 दिनों के अंदर बिहार के नालंदा पहुंचा हूं| नालंदा आना मेरा सौभाग्य है|

पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि नालंदा का नवजागरण भारत के विकास का शुभ संकेत है| पीएम मोदी ने कहा कि नालंदा केवल भारत के अतीत का पुनर्जागरण नहीं है, बल्कि यह एशिया या विश्व के कई देशों का पुनर्जागरण है| मैं उन तमाम देशों को बधाई देता हूं| मोदी ने कहा कि नालंदा केवल एक नाम नहीं है| नालंदा पहचान है, गर्व है, गाथा है और मूल्य है| पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि नालंदा आना मेरा सौभाग्य है| 

भारत पर दुनिया की नजर टिकी है| उन्होंने कहा कि शिक्षा हमें गढ़ती है, विचार देती है| भारत में हर दिन दो कॉलेज खुल रहे हैं| इस मौके पर विदेश मंत्री एस.जयशंकर के साथ ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी मौजूद थे| 

यह भी पढ़ें-

जम्मू-कश्मीर के बारामूला में मुठभेड़, 2 आतंकी ढेर, 1 जवान घायल

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,504फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
165,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें