24 C
Mumbai
Saturday, February 24, 2024
होमदेश दुनिया​'इंडिया' अघाड़ी ​में प्रधानमंत्री ​के​ चेहरा पर शरद पवार ने ​कही​ बड़ी...

​’इंडिया’ अघाड़ी ​में प्रधानमंत्री ​के​ चेहरा पर शरद पवार ने ​कही​ बड़ी बात​?

प्रधानमंत्री पद के लिए चेहरा कौन होगा? अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है​|​ इसके अलावा इंडिया अलायंस के सीट आवंटन फॉर्मूले की जानकारी भी सामने नहीं आई है​|​ कुछ दिन पहले दोनों के एक साथ शामिल होने के फैसले की जानकारी सामने आई थी​|​

Google News Follow

Related

विपक्षी दलों का इंडिया अलायंस सत्ताधारी दलों के साथ-साथ देश पर भी ध्यान दे रहा है|​  लोकसभा चुनाव बस कुछ ही दिन दूर हैं|इसलिए यह देखना महत्वपूर्ण है कि सत्तारूढ़ भाजपा सरकार को चुनौती देने के लिए भारत अघाड़ी क्या कदम उठाती है। इस गठबंधन के नेता कह रहे हैं कि इंडिया अलायंस देश के नागरिकों के लिए एक नया विकल्प उपलब्ध कराएगा, लेकिन इस गठबंधन का मुख्य चेहरा कौन है, प्रधानमंत्री पद के लिए चेहरा कौन होगा? अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है|इसके अलावा इंडिया अलायंस के सीट आवंटन फॉर्मूले की जानकारी भी सामने नहीं आई है|कुछ दिन पहले दोनों के एक साथ शामिल होने के फैसले की जानकारी सामने आई थी|

हाल ही में दिल्ली में ​’इंडिया’ अघाड़ी की बैठक हुई|बताया गया कि इस बैठक में इस प्रस्ताव पर चर्चा हुई कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को प्रधानमंत्री पद के लिए नामित किया जाए​, लेकिन फिर भी इस बैठक में कोई बड़ा फैसला नहीं निकला|इसलिए लोगों में इंडिया अलायंस की आगामी रणनीति को लेकर भी उत्सुकता है| एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने ​’इंडिया’ अघाड़ी की रणनीति के बारे में बताया है|शरद पवार आज जुन्नार के दौरे पर हैं|इस दौरे के दौरान उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस की|इस मौके पर उन्होंने इंडिया अलायंस को लेकर पूछे गए विभिन्न सवालों पर विस्तार से अपना पक्ष रखा| ​उन्होंने कहा कि मुझे एक बात की ख़ुशी है,यह अच्छा है कि विभिन्न राजनीतिक दल जो वर्तमान सत्तारूढ़ दलों से सहमत नहीं हैं, वे इस देश को एक विकल्प देने के लिए एक साथ आ रहे हैं और लोगों को एक विकल्प दे रहे हैं।

क्या भारत अघाड़ी में है नाराजगी?: क्या शरद पवार इस बार ​’इंडिया’ अघाड़ी से नाराज हैं? ऐसा प्रश्न पूछा गया|उन्होंने कहा, ”कोई नाराजगी नहीं है|सभी ने सुझाव दिया है कि नीतीश कुमार को संयोजक की जिम्मेदारी लेनी चाहिए​, लेकिन सामान्य तौर पर, उनकी राय यह थी कि जो नेता थे उन्हें अपनी जगह तय करनी चाहिए, संयोजक की कोई आवश्यकता नहीं है।’देश स्तर पर चर्चा, एक सीट पर चर्चा नहीं’ भंडारा-गोंदिया सीट को लेकर कांग्रेस और एनसीपी में स्थानीय स्तर पर मतभेद देखने को मिल रहा है|दोनों तरफ से अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं​, जब शरद पवार से इस बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘हमारी राष्ट्रीय स्तर की चर्चा में एक भी सीट पर चर्चा नहीं हुई है|
​’इंडिया’ अघाड़ी का प्रधानमंत्री चेहरा कौन होगा?: आगामी लोकसभा चुनाव में शरद पवार का भारत अघाड़ी का मुख्य चेहरा कौन होगा? ऐसा प्रश्न पूछा गया|उन्होंने इस पर विस्तृत स्थिति ​पर अपनी बात रखी| “हमें किसी को आगे बढ़ाकर वोट मांगने की ज़रूरत महसूस नहीं होती। हमें यकीन है कि अगर कल चुनाव की घोषणा हो जाती है तो हम निश्चित रूप से देश को एक विकल्प दे सकते हैं।’ शरद पवार ने 1977 ​चुनाव की बात करते हुए कहा कि लोग चुनाव लड़ते थे। फिर पार्टी चुनी गयी, फिर मोरारजी देसाई चुने गये|चुनाव के दौरान मोरारजी देसाई को नामांकित नहीं किया गया था। उस समय लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए वोट मांगा गया था|इसलिए किसी को आगे बढ़ने की जरूरत नहीं है।
यह भी पढ़ें-

लाल कृष्ण आडवाणी का बड़ा बयान: राम मंदिर का निर्माण नियति ने किया तय…

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,758फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें