29 C
Mumbai
Thursday, April 18, 2024
होमन्यूज़ अपडेट'सरकार आती-जाती रहती है, ठाकरे की पुलिस से अपील; बोले, 'गुंडागर्दी हुई...

‘सरकार आती-जाती रहती है, ठाकरे की पुलिस से अपील; बोले, ‘गुंडागर्दी हुई तो..’​!

इस मार्च में उद्धव ठाकरे, युवा नेता आदित्य ठाकरे, सांसद संजय राउत मौजूद रहे​| इस मौके पर उन्होंने जनता से बातचीत की​| अडाणी समूह को दिए गए इस प्रोजेक्ट के खिलाफ आवाज उठाते हुए ठाकरे ने पुलिस से धाराविकरों के साथ खड़े होने की भी अपील की है​| 

Google News Follow

Related

धारावी पुनर्विकास परियोजना अडाणी समूह को दिए जाने के खिलाफ ठाकरे समूह ने धारावी से बीकेसी तक मार्च निकाला​|इस मार्च में उद्धव ठाकरे, युवा नेता आदित्य ठाकरे, सांसद संजय राउत मौजूद रहे​| इस मौके पर उन्होंने जनता से बातचीत की​| अडाणी समूह को दिए गए इस प्रोजेक्ट के खिलाफ आवाज उठाते हुए ठाकरे ने पुलिस से धाराविकरों के साथ खड़े होने की भी अपील की है​| 

उद्धव ठाकरे ने कहा, ”धाराविकरों को घर दिए बिना हम उनका बाल भी बांका नहीं होने देंगे​|” जहाँ चाहो घर। हम योग्य को अयोग्य नहीं मानते। व्यवसाय के लिए जगह उपलब्ध कराएं, कोलीवाड़ा-कुंभारवाड़ा का सीमांकन करें। लोन्ची पापड़ जैसे व्यवसायों को खुली जगह दें​| 

उन्होंने आगे कहा, ”मैंने सुना है कि एक विशेष पुलिस टीम रखी गई है​| मैं उनसे यह भी कहता हूं कि सरकार आती-जाती रहती है, अपना रिकॉर्ड मत खराब करो। रिकार्ड आपके और जनता के पास था। सरकार कभी भी आती है और कभी भी चली जाती है,लेकिन अपनी सतर्कता में कमी न आने दें​| कुछ सेवानिवृत्त पुलिसकर्मी और उनके गुंडे यहां बचे हैं। अगर गुंडागर्दी है तो वहीं रहो​|अगर पुलिस आपके साथ नहीं आती है, तो मैं आपके साथ आऊंगा”, उन्होंने यह भी वादा किया।
जैसे ही 50 पेटियां गिरने लगीं..: उद्धव ठाकरे ने कहा,अडानी की सुपारी लेने वाले दलालों को मैं कहता हूं, ये कितना बड़ा जाल है​| अगर हम आपकी दलाली कुचल देंगे तो आप दोबारा अडानी का नाम इस्तेमाल नहीं करेंगे। मुंबई और धारावी को 50 बक्सों ने निगलना शुरू कर दिया है​| वे बहुत अच्छे से बढ़ रहे हैं​| या तो यह असंवैधानिक सरकार है​|
यह सरकार अडानी का दरवाजा है: वर्षा गायकवाड़ ने अडानी से पूछा सवाल, ​भाजपा ने दिया जवाब सौभाग्य से, आपको अभी तक महुआ मोइट्रेड नहीं किया गया है। महुआ मोइत्रा द्वारा उन पर सवाल उठाने के बाद उन्हें (अडानी को) निलंबित कर दिया गया था। सौभाग्य है कि आप अभी भी सभागार में जा रहे हैं। ‘सरकार आपका दारी’ कार्यक्रम चल रहा था​| लेकिन, यह ‘सरकार अडानी का दरवाजा’ है,’उद्धव ठाकरे ने सरकार की आलोचना की है।
यह भी पढ़ें-

 

Victory Day 1971:…जब पाकिस्तान ने भारत के सामने किया आत्मसमर्पण

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,645फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
147,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें