33 C
Mumbai
Monday, April 22, 2024
होमबिजनेसकांग्रेस ने सच छुपाया! 4 साल से बकाया है 135 करोड़ टैक्स,...

कांग्रेस ने सच छुपाया! 4 साल से बकाया है 135 करोड़ टैक्स, सिर्फ दिया ढाई करोड़      

कांग्रेस गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा चुनावी बांड पर लगाए गए रोक को भुनाने की कोशिश में थी।

Google News Follow

Related

शुक्रवार को कांग्रेस नेता अजय माकन ने दावा किया कि केंद्र सरकार पार्टी का चार अकाउंट बंद कर दिया है। आईटी विभाग ने पार्टी से 210 करोड़ रूपये रिकवरी के लिए मांग की है। इसके बाद कांग्रेस नेताओं ने मोदी सरकार को तानाशाह, लोकतंत्र का हत्यारा जैसे शब्दों से नवाजना शुरू कर दिया। खुद पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि मोदी सरकार सत्ता के नशे में चूर है। उसने कांग्रेस पार्टी का चार अकाउंट फ्रीज कर दिया है। इसके कुछ घंटे बात यह खबर आई की आईटी ट्रिब्यूनल ने बैंक खातों पर लगे रोक को हटा लिया है। यह जानकारी खुद कांग्रेस नेता विवेक तन्खा ने दी.

यह तो था कांग्रेस का पक्ष। कांग्रेस गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा चुनावी बांड पर लगाए गए रोक को भुनाने की कोशिश में थी। इसलिए कांग्रेस ने अपनी काली करतूत को छुपाने के लिए बीजेपी पर बड़ा आरोप लगाया। कांग्रेस जनता में संदेश देना चाहती थी कि बीजेपी के कारण उसके चार अकाउंट को बंद किया गया है और रोजमर्रा के ख़र्चे के लिए उसके पास पैसे नहीं हैं। कांग्रेस  जनता से सहानभूति चाहती थी। वह चाहती थी कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा चुनावी बॉन्ड पर लगाए  रोक का फ़ायदा उठाया जाए। इसका चुनावी लाभ लिया जाए। लेकिन सच्चाई कुछ और है। इस संबंध में एक्स सोशल मीडिया पर “भीखू मात्रे” द्वारा कांग्रेस का काला चिट्टा खोला है।  बताया जा रहा है कि यह मामला 135 करोड़ रूपये के टैक्स वसूली से जुड़ा हुआ है।

कांग्रेस का आरोप है कि पार्टी के फंड को रोककर उसकी चुनावी तैयारियों को बाधित करने की भाजपा सरकार की चाल है। लेकिन, कांग्रेस की कर देनदारी पर टैक्स अधिकारियों के “खुलासे” के बाद  कांग्रेस के “खाता फ्रीज” विवाद पर स्थिति साफ हो गई है।

आईटी विभाग के सूत्रों के हवाले बताया गया है कि” टैक्स अधिकारियों ने कहा कि 2018 -19 में कांग्रेस पर करीब 103 करोड़ रुपये का इनकम टैक्स बकाया था। इसके अलावा इसमें 32 करोड़ रुपये ब्याज की राशि है। वहीं, 6 जुलाई 2021 में कांग्रेस को आयकर अधिनियम 1961 के तहत  इनकम टैक्स अपीलीय प्राधिकरण ने छूट देने से इंकार कर दिया था। ऐसा इसलिए किया गया था कि कांग्रेस ने धारा 13ए (डी) के प्रावधानों का उल्लंघन किया था। साथ ही फाइल भी देरी से की गई थी।

सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि “कांग्रेस से मौजूदा प्रक्रिया के अनुसार “लगभग 21 करोड़ रुपये यानी 20 प्रतिशत राशि भुगतान करने को कहा गया था। कांग्रेस ने केवल 78 लाख रुपये  का ही भुगतान किया गया था। इसके बाद कांग्रेस से बाकी के 104 करोड़ रुपये को भुगतान करने के लिए कहा गया था। वर्तमान में, कांग्रेस के विभिन्न बैंक खातों से 115 करोड़ की वसूली की गई है।

टैक्स अधिकारियों के अनुसार, शुक्रवार को आईटीएटी के समक्ष कार्यवाही में, आयकर विभाग ने बताया कि कांग्रेस के खातों से राशि निकालकर की गई वसूली एक नियमित वसूली उपाय है। आगे कहा गया कि कांग्रेस के अकाउंट को बंद नहीं किया गया था।

ये भी पढ़ें  

कांग्रेस के बैंक अकाउंट से हटा “ताला”, फ्रीज होने का माकन ने किया था दावा

“ममता, क्रूरता की रानी! BJP के बाद, अधीर रंजन को भी संदेशखाली जाने से रोका  

राम का विरोध करने वाले अब बोल रहे जय सियाराम, PM का कांग्रेस पर तंज

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,640फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें