33 C
Mumbai
Wednesday, April 24, 2024
होमदेश दुनियाIndia-Maldives row: मालदीव के 'इस' नेता ने भारत आकर मांगी माफी!

India-Maldives row: मालदीव के ‘इस’ नेता ने भारत आकर मांगी माफी!

मोहम्मद मुइज्जू ने भारत के खिलाफ प्रचार कर चुनाव जीता था| उनका झुकाव चीन की तरफ ज्यादा है|मुइज्जू के विचारों का प्रभाव उनकी सरकार की नीतियों में परिलक्षित हुआ। परिणामस्वरूप, दोनों देशों के बीच संबंध तनावपूर्ण हो गए।

Google News Follow

Related

फिलहाल भारत और मालदीव के बीच बहुत अच्छे रिश्ते नहीं हैं| मालदीव के मौजूदा राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू की वजह से दोनों देशों के रिश्ते तनावपूर्ण हो गए हैं। मोहम्मद मुइज्जू ने भारत के खिलाफ प्रचार कर चुनाव जीता था| उनका झुकाव चीन की तरफ ज्यादा है|मुइज्जू के विचारों का प्रभाव उनकी सरकार की नीतियों में परिलक्षित हुआ। परिणामस्वरूप, दोनों देशों के बीच संबंध तनावपूर्ण हो गए।

​भारत-मालदीव ​संबंधों की खटास के प्रभाव एशिया महाद्वीप पर दिखाई दे रहा है| हालांकि मालदीव को​ इसका काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है|​ मालदीव जाने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या में भारी गिरावट आई है। हालांकि मोहम्मद मुइज्जू इसके ख़िलाफ़ हैं, लेकिन मालदीव के अन्य नेता भारत के पक्ष में हैं​|​ उन्होंने भारत आकर माफ़ी मांगी है​|​ मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने बहिष्कार को लेकर चिंता जताई है​|​

भारत के बहिष्कार का असर हमारे पर्यटन उद्योग पर पड़ा है। मोहम्मद नशीद ने मालदीव के लोगों की ओर से भारत से माफी मांगी| मोहम्मद नशीद ने कहा, मैं चाहता हूं कि भारतीय पर्यटक हमारे देश में आएं। नशीद फिलहाल भारत में हैं| उन्होंने दोनों देशों के बीच तनाव की पृष्ठभूमि में मीडिया से बात की| उन्होंने मालदीव के लोगों से सॉरी कहा| भारत के बहिष्कार का मालदीव पर असर पड़ा है। मुझे इस बात की चिंता है| मोहम्मद नशीद ने कहा, “जो कुछ हुआ उसके लिए मुझे और मालदीव के लोगों को खेद है।

मालदीव के इस नेता ने और क्या कहा?: मोहम्मद नशीद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की| मैं कल रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिला। पीएम मोदी ने हमें शुभकामनाएं दीं| मैं पीएम मोदी का बड़ा समर्थक हूं| मोहम्मद नशीद ने कहा, “मैं भी मोदी को शुभकामनाएं देता हूं।” नशीद ने बहिष्कार के लिए ज़िम्मेदार लोगों को तुरंत हटाने के लिए कदम उठाने के लिए वर्तमान राष्ट्रपति की प्रशंसा की। मोहम्मद नशीद ने कहा, “विवाद को सुलझाया जाना चाहिए और द्विपक्षीय संबंधों को फिर से सामान्य किया जाना चाहिए।”

भारत की तारीफ करते हुए नशीद ने क्या कहा?: जब हमारे देश के राष्ट्रपति चाहते थे कि भारतीय सैनिक मालदीव छोड़ दें तो क्या आप जानते हैं कि भारत ने क्या किया? भारत ने अपनी ताकत नहीं दिखाई है| इसके उलट मालदीव की सरकार से इस पर चर्चा करने को कहा गया| एक महाशक्ति के रूप में यह जिम्मेदारी का प्रतीक है।’ नशीद ने “नो बुली” शब्दों में भारत की प्रशंसा की।

यह भी पढ़ें-

‘आपने किस ‘बांध’ से ‘सिंचाई’ की, भतीजे ने चाचा अजित पवार साधा निशाना!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,634फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें