24 C
Mumbai
Saturday, February 24, 2024
होमन्यूज़ अपडेटलोकसभा चुनाव-2024: मवि​आ​ में सीट बंटवारे पर प्रकाश अंबेडकर का सांकेतिक बयान​...

लोकसभा चुनाव-2024: मवि​आ​ में सीट बंटवारे पर प्रकाश अंबेडकर का सांकेतिक बयान​ !

महाविकास अघाड़ी में सीटों के बंटवारे की बात करें तो वंचित बहुजन अघाड़ी माविआ में शामिल होने को लेकर संजय राउत के आश्वस्त करने वाले बयान के बाद अब खुद प्रकाश अंबेडकर ने तीखे शब्दों में जवाब दिया है|

Google News Follow

Related

लोकसभा चुनाव में अब कुछ ही महीने बाकी हैं, लेकिन महाराष्ट्र में राजनीतिक घटनाक्रम तेज हो गया है। एक तरफ सत्ताधारी शिंदे गुट और अजित पवार गुट पर अयोग्यता की तलवार लटक रही है तो दूसरी तरफ ऐसी तस्वीर बन गई है कि दोनों तरफ के गठबंधन दलों में सीटों के बंटवारे को लेकर खींचतान चल रही है| महाविकास अघाड़ी में सीटों के बंटवारे की बात करें तो वंचित बहुजन अघाड़ी माविआ में शामिल होने को लेकर संजय राऊत के आश्वस्त करने वाले बयान के बाद अब खुद प्रकाश अंबेडकर ने तीखे शब्दों में जवाब दिया है|

संजय राऊत ने क्या कहा?: वंचित की माविआ में भागीदारी को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में ठाकरे समूह के मुख्य प्रवक्ता संजय राऊत ने एक सुझावात्मक बयान दिया। “शिवसेना माविया में प्रमुख घटक दल है। अब हमारा गठबंधन वंचितों का है| इसलिए हमारा मानना है कि अभाव भी माविआ का एक कारक है। लोकसभा के लिहाज से अभी चर्चा जारी है| संजय राउत ने कहा, मविआ में प्रकाश अंबेडकर और उनके सहयोगियों की सम्मान के साथ भागीदारी के संबंध में अब तक कम से कम 6 से 7 सकारात्मक चर्चाएं हुई हैं।

परंपरागत रूप से प्रकाश अंबेडकर अकोला की सीट से चुनाव लड़ते रहे हैं| उन्हें इससे लड़ना चाहिए. हम सब उनके पीछे हैं| इसके अलावा, वंचित उम्मीदवारों को कहां खड़ा किया जा सकता है, इस पर चर्चा लगभग अंतिम चरण में है”, संजय राउत ने दावा किया।
प्रकाश अंबेडकर का भड़काऊ सवाल: इस बीच, प्रकाश अंबेडकर ने इस संबंध में जवाब देते हुए ठाकरे समूह और वैकल्पिक रूप से उद्धव ठाकरे के सामने एक भड़काऊ सवाल पूछा है। उन्होंने कहा, ”मेरा इन सभी दलों को सीधा प्रस्ताव है। अकोला निर्वाचन क्षेत्र बहुत महत्वपूर्ण नहीं है| इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि मैं लड़ूंगा या नहीं लड़ूंगा। अकोला को जिस भी पार्टी से लड़ना है, वह लड़े| हम उनके लिए काम करेंगे. लेकिन कम से कम अपना अंतरिक्ष आवंटन फॉर्मूला तो सामने आने दीजिए| प्रकाश अंबेडकर ने कहा कि वंचित लक्ष्य नहीं है|
आप और कांग्रेस के बीच सीटों के बंटवारे के बारे में बताएं? यदि ऐसा नहीं है, तो कम से कम शिवसेना को एनसीपी के साथ अपने सीट बंटवारे के बारे में लोगों को बताना चाहिए। हमारे साथ चर्चा का फॉर्मूला यह है कि यदि वे अन्य दो दलों के साथ काम नहीं करते हैं, तो हम और शिवसेना 24-24 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। अकोला की सीट पर कोई भी पार्टी लड़े, जो भी लड़े मैं जीतूंगा| प्रकाश अंबेडकर ने ठाकरे समूह को सलाह दी कि उन्हें अकोल्या को अपनी बेटी बनाकर अपनी जिम्मेदारियों से कोताही नहीं बरतनी चाहिए|
हमें अपने और कांग्रेस के बीच सीटों के बंटवारे के बारे में बताएं। यदि ऐसा नहीं है, तो कम से कम शिवसेना को एनसीपी के साथ अपने सीट बंटवारे के बारे में लोगों को बताना चाहिए। हमारे साथ चर्चा का फॉर्मूला यह है कि यदि वे अन्य दो दलों के साथ काम नहीं करते हैं, तो हम और शिवसेना 24-24 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। अकोला की सीट पर कोई भी पार्टी लड़े, जो भी लड़े मैं जीतूंगा|प्रकाश अंबेडकर ने ठाकरे समूह को सलाह दी कि उन्हें अकोल्या को अपनी बेटी बनाकर अपनी जिम्मेदारियों से कोताही नहीं बरतनी चाहिए|
उन्हें जनता को ईमानदारी से जवाब देना चाहिए कि सीट आवंटन पर अब तक कोई निर्णय क्यों नहीं लिया गया| अगर नहीं तो उन्हें जनता से सीधे तौर पर कहना चाहिए कि वे 24 सीटों पर लड़ेंगे, हम 24 सीटों पर लड़ेंगे| विषय का समाधान हो जायेगा | अगर कोई मोर्चा नहीं है तो हमें पूरी 48 सीटों पर लड़ना होगा | तो उस संबंध में हमारी तैयारी चल रही है| अगर वे मोदी की बात मानते हैं तो जेल के बाहर | मेरी बात मानो तो जेल के अंदर | फिर तय करें कि आप किसकी बात सुनेंगे”, प्रकाश अम्बेडकर ने इस समय एक विचारोत्तेजक वक्तव्य दिया।
यह भी पढ़ें-

Bilkis Bano Case​​: सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को लगाई फटकार; रद्द हुआ माफ़ करने का फैसला!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,758फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें