27 C
Mumbai
Sunday, June 23, 2024
होमन्यूज़ अपडेट“देवेंद्र फडणवीस के सुप्रीम बॉस…”, संजय राउत ​की​ तीखी प्रतिक्रिया!

“देवेंद्र फडणवीस के सुप्रीम बॉस…”, संजय राउत ​की​ तीखी प्रतिक्रिया!

इस पृष्ठभूमि में, ठाकरे समूह के मुख्य प्रवक्ता और सांसद संजय राउत ने राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस के खिलाफ राजनीतिक आरोपों पर अपना पक्ष रखा है। संजय राउत ने प्रधानमंत्री मोदी की आलोचना करते हुए मैच में रोखठोक मामले में उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस की भी आलोचना की है​|​

Google News Follow

Related

इस वक्त देशभर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में दिए गए भाषण की चर्चा हो रही है| अपने ढाई घंटे के भाषण में मोदी ने सिर्फ 5 मिनट मणिपुर पर बिताए और बाकी समय कांग्रेस की आलोचना में बिताया|इस पृष्ठभूमि में, ठाकरे समूह के मुख्य प्रवक्ता और सांसद संजय राउत ने राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस के खिलाफ राजनीतिक आरोपों पर अपना पक्ष रखा है। संजय राउत ने प्रधानमंत्री मोदी की आलोचना करते हुए मैच में रोखठोक मामले में उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस की भी आलोचना की है|
 
‘गठबंधन 2014 में टूटा, 2019 में नहीं’ अमित शाह ने लोकसभा में अपने भाषण में कहा कि शिवसेना के साथ गठबंधन 2019 में टूटा। हालांकि, संजय राउत ने अपने लेख में बीजेपी को याद दिलाया है कि 2014 में पहली बार गठबंधन टूटा था| ”महाराष्ट्र सदन में मोदी ने महाराष्ट्र के ‘एनडीए’ सांसदों के साथ बैठक की|उस बैठक में मोदी ने कहा, ‘हमने शिवसेना से गठबंधन नहीं तोड़ा है|​  मोदी ने अपर्याप्त जानकारी के आधार पर यह बयान दिया।
शिवसेना-भाजपा गठबंधन का ‘मैत्रीपूर्ण काल’ 25 साल लंबा था और उस मित्रतापूर्ण काल में मोदी-शाह कहीं नहीं थे|2014 में गुजरात की इस जोड़ी ने दिल्ली की राजनीति में कदम रखा और ‘मित्रकाल’ गठबंधन तोड़ दिया| मोदी 2019 का हवाला देते हैं, लेकिन मूल रूप से ‘गठबंधन’ 2014 में भाजपा ने तोड़ दिया था|संजय राउत ने लेख में कहा है कि भाजपा ने विधानसभा की एक सीट से गठबंधन तोड़ दिया है|
“प्रधानमंत्री मोदी इस समय दिल्ली में राज्यों के ‘एनडीए’ सांसदों के साथ बैठक कर रहे हैं। एक सभा में उन्होंने कहा, ‘अब मेरे नाम पर वोट मत मांगो|अपने काम के लिए वोट प्राप्त करें।” इसका मतलब है कि उन्होंने स्वीकार कर लिया है कि केवल मोदी के नाम पर वोट नहीं मिलेंगे।”
‘मोदी ने जताया दुख’: इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र सदन में अपने भाषण में इस बात पर अफसोस जताया कि सामना उनकी आलोचना कर रहा है| उस पर भी संजय राउत ने तंज कसा है| प्रधानमंत्री मोदी ने महाराष्ट्र सदन में नाराजगी जताते हुए कहा कि ‘सामना’ लगातार मेरी आलोचना करता है| वह बिलकुल सही नहीं है| फड़नवीस जैसे लोग हमेशा कहते हैं, ‘हम ‘सामना’ नहीं पढ़ते हैं, लेकिन यह एक अच्छे नेता की निशानी है कि उनके शीर्ष अधिकारी ‘सामना’ पर ध्यान देते हैं और उस पर टिप्पणी करते हैं। आलोचकों के विचारों को समझना चाहिए|यह असली लोकतंत्र है”, राउत ने टिप्पणी की है।
नारायण राणे की खिंचाई: इस बीच संजय राउत ने इस लेख के जरिए भाजपा सांसद नारायण राणे की भी खिंचाई की है| ””सामना” ने कभी भी मोदी की कोई व्यक्तिगत या निम्न-स्तरीय आलोचना नहीं की। भाजपा ने कामकाज पर हमला नहीं किया और झूठे आरोप नहीं लगाए जैसे वे शिवसेना नेताओं पर लगाते हैं। मोदी कैबिनेट में महाराष्ट्र के मंत्रियों में से एक नारायण राणे का लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान दिया गया भाषण मोदी को सुनना चाहिए|
यह भी पढ़ें –

‘गठबंधन टूटने की वजह एकनाथ शिंदे का मुख्यमंत्री पद’, संजय राउत का बड़ा दावा!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,539फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
162,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें