34 C
Mumbai
Monday, April 22, 2024
होमन्यूज़ अपडेटमनोज जरांगे का फडणवीस पर गंभीर आरोप; कहा,मुझे मारने की साजिश!

मनोज जरांगे का फडणवीस पर गंभीर आरोप; कहा,मुझे मारने की साजिश!

गृहमंत्री को सपने देखना कम करना चाहिए| उन्हें मेरी क्लिप वायरल करने का सपना नहीं देखना चाहिए| अब मराठा समुदाय तो इसके ख़िलाफ़ हो ही गया है, लेकिन दूसरे समुदाय भी इसके ख़िलाफ़ हो रहे हैं|

Google News Follow

Related

मनोज जरांगे पाटिल ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि गृहमंत्री ने बीड जिले में मेरे खिलाफ 10-15 मामले दर्ज करने और मुझे बंद करने की योजना बनाई थी| उन्होंने अखंड हरिनाम सप्ताह के मौके पर बीड के चरता का दौरा किया| यह आरोप उन्होंने मीडिया से बातचीत के दौरान लगाया| मनोज जरांगे पाटिल ने कहा, ”अगर परली जैसी जगह पर एक लाख की सभा होती है तो गृह मंत्री और मुख्यमंत्री को इससे सबक लेना चाहिए|’ मराठा नफरत से काम नहीं करेंगे,लेकिन वे ध्यान नहीं देते, मैं इस बारे में कुछ नहीं कर सकता। एक लाख से मिलने के बाद उन्हें समझदारी भरा रुख अपनाना चाहिए| अब 900 एकड़ जमीन पर सभा होगी|

गृहमंत्री मेरे प्रति इतनी नफरत रखने का कोई कारण नहीं है|’ मुझे रात में सूचना मिली कि वे मुझे विभिन्न अपराधों में फंसाने की योजना बना रहे हैं| गृहमंत्री को सपने देखना कम करना चाहिए| उन्हें मेरी क्लिप वायरल करने का सपना नहीं देखना चाहिए| अब मराठा समुदाय तो इसके ख़िलाफ़ हो ही गया है, लेकिन दूसरे समुदाय भी इसके ख़िलाफ़ हो रहे हैं|

मैं 24 मार्च को स्थिति की घोषणा करूंगा। मुख्यमंत्री और गृह मंत्री को परली सभा में उमड़ी भीड़ से यह संकेत समझना चाहिए| मराठा समुदाय उनकी योजना को सफल नहीं होने देगा”, मनोज जरांगे पाटिल ने कहा।मराठों को कुचलने की कोशिश न करें: मनोज जरांगे पाटिल ने कहा, “गृह मंत्री खुद को सुप्रीम कोर्ट से ऊपर समझ सकते हैं।

हालांकि यह शक्ति मराठों द्वारा दी गई थी, लेकिन वे सोचते हैं कि मैं किसी के साथ भी अन्याय कर सकता हूँ और वे इस शक्ति का उपयोग करके मराठों को कुचलने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने पूरे देश में बड़ी-बड़ी जातियों को कुचलने की कोशिश की है, लेकिन अगर सभी प्रमुख जातियां एक साथ आ जाएं तो उनकी राजनीतिक स्थिति साफ हो जाएगी|

प्रणीति शिंदे पर हुए हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए मनोज जरांगे ने कहा कि उन्हें इस मामले की जानकारी नहीं है, लेकिन हमले को उचित नहीं ठहराया जा सकता| जब तक हमले का मूल कारण पता नहीं चल जाता, तब तक कुछ नहीं बोलूंगा। लेकिन एक व्यक्ति मराठा समुदाय का ही है, इसलिए उस पर आरोप लगाने से काम नहीं चलेगा|

यह भी पढ़ें-

पुणे में विवादित लवासा सिटी प्रोजेक्ट लेने वाले के यहां ईडी की छापेमारी!

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,640फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
148,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें