26 C
Mumbai
Sunday, February 25, 2024
होमन्यूज़ अपडेट'अब सहकार आंदोलन बन गया है सहारा आंदोलन', राज ठाकरे की आलोचना...

‘अब सहकार आंदोलन बन गया है सहारा आंदोलन’, राज ठाकरे की आलोचना !

कुशलतापूर्वक कार्य करना जारी रखेंगे,अब सहकारी आंदोलन सहारा आंदोलन बन गया है, राज ठाकरे ने आलोचना की थी।इस पर टिप्पणी करते हुए उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने राज ठाकरे से पूछा है|

Google News Follow

Related

राज्य में सहकारी आंदोलन को लेकर मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने नेताओं की खबर ली है. “महाराष्ट्र में नेताओं के पास सहकारी आंदोलन को संभालने की क्षमता है।कुशलतापूर्वक कार्य करना जारी रखेंगे,अब सहकारी आंदोलन सहारा आंदोलन बन गया है, राज ठाकरे ने आलोचना की थी।इस पर टिप्पणी करते हुए उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने राज ठाकरे से पूछा है|
राज ठाकरे ने वास्तव में क्या कहा?: महाराष्ट्र के नेताओं में सहकारी आंदोलन को संभालने की क्षमता है। कुशलतापूर्वक कार्य करना जारी रखेंगे। लेकिन, अब सहकारिता आंदोलन सहारा आंदोलन बन गया है| मुंबई में महानंदा दुग्ध संघ गुजरा में अमोल दुग्ध संघ को निगल जाएगा। राज्य की सहकारी समितियों पर गुजरात की नजर है| क्योंकि प्रदेश के नेता पागल हो गये हैं, उन्होंने अपना स्वाभिमान गिरवी रख दिया है| राज्य सरकार भी बेबस है| मराठी आदमी अच्छा बिजनेस कर सकता है| हालांकि, मराठी लोगों को विभाजित किया जा रहा है। फिलहाल हम जातियों के बीच लड़ रहे हैं,” राज ठाकरे ने व्यक्त किया।
 
‘मैं सहकारिता से जुड़ा कार्यकर्ता हूं’: इस बीच, एक मीडिया प्रतिनिधि ने पिंपरी-चिंचवड़ में अजित पवार से राज ठाकरे के उस बयान के बारे में सवाल किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘सहकारिता आंदोलन अब सहारा आंदोलन बन गया है| अजित पवार ने कहा, ”राज ठाकरे ने कितनी सहकारी समितियां बनाई हैं? मैं एक सहकारी संस्था का कार्यकर्ता हूं. मैंने 32 वर्षों तक पुणे जिला बैंक का प्रतिनिधित्व किया है। यह राज्य में अग्रणी बैंक के रूप में जाना जाता है।

“…इसलिए सभी को एक ही टोकरी में मत गिनें”: मुझे लगता है कि संगठन अच्छे से चलते हैं। क्योंकि, संस्थाओं के प्रति मेरा रवैया बहुत सख्त है| इसके विपरीत हमें यह कहकर निशाना बनाया गया कि महाराष्ट्र सहकारी बैंक में 10,000 और 25,000 करोड़ का भ्रष्टाचार किया गया| लेकिन, महाराष्ट्र सहकारी बैंक का मुनाफा 600 करोड़ से ज्यादा है|

यदि कोई बैंक डूब जाता है तो वह रसातल में चला जाता है। महाराष्ट्र के कई जिला बैंक संकट में हैं| राज ठाकरे ने अपना निजी पक्ष रखा है. अजित पवार ने राज ठाकरे को यह भी सलाह दी है कि अगर गलती कुछ लोगों से होती है तो सभी को एक में नहीं गिना जाना चाहिए|

यह भी पढ़ें-

 

कौन है शाहजहां शेख? जिसे ED टीम पर हमले का मास्टरमाइंड कहा जा रहा…         

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,758फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
130,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें