34 C
Mumbai
Tuesday, April 16, 2024
होमक्राईमनामाकौन है शाहजहां शेख? जिसे ED टीम पर हमले का मास्टरमाइंड कहा जा...

कौन है शाहजहां शेख? जिसे ED टीम पर हमले का मास्टरमाइंड कहा जा रहा…         

ईडी ने शेख पर बड़ी कार्रवाई करते हुए उसके खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया

Google News Follow

Related

वेस्ट बंगाल के उत्तर 24 परगना में राशन घोटाले मामले में शुक्रवार को टीएमसी नेता शाहजहां शेख के आवास पर छापेमारी के लिए पहुंची ईडी टीम पर हमला किया गया। जिसमें कई ईडी अधिकारी घायल हुए हैं उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है। अधिकारियों का आरोप है कि उनके ऊपर 800 से लेकर 1000 तक लोगों ने हमला किया और उनपर हमले करने के साथ गाड़ियों को क्षत्रिग्रस्त कर दिया। अब इस हमले के पीछे साजिशकर्ता शाहजहां शेख के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया गया है।

माना जा रहा है कि इस हमले के पीछे शाहजहां शेख का हाथ है। अब ईडी ने शेख पर बड़ी कार्रवाई करते हुए उसके खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया है। लुक आउट नोटिस को सभी एयरपोर्ट और बीएसएफ को साझा किया गया है। इस घटना के बाद से शेख फरार बताया जा रहा है। इस घटना के बाद से बंगाल की राजनीति में भूचाल आया हुआ है। बीजेपी ममता सरकार पर हमला करते राज्य की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा किया है। 

बताया जा रहा है कि शाहजहां शेख संदेशखाली का “भाई” से जाना जाता है। इलाके में उसका रसूख है। शाहजहां शेख पहले मछली मारने का काम करता था और चार भाई बहनों में सबसे बड़ा है। शेख ईंट भट्टों पर भी काम करता था। इसी के साथ उसका राजनीति करियर शुरू हुआ था। शेख ईंट भट्टों के मजदूरों के यूनियन का लीडर था। इसके बाद वह सीपीआई (एम) के साथ जुड़ गया। धीरे धीरे शेख का रसूख बढ़ता गया। उसने अपने भाषण कौशल और संगठनात्म कौशल के दम पर टीएमसी नेताओं का ध्यान अपनी ओर खींचा। इसके बाद वह 2012 में टीएमसी में शामिल हो गया। 

शाहजहां शेख टीएमसी नेता ज्योतिप्रियो मलिक का करीबी माना जाता है। जो वर्तमान में राशन घोटाले मामले में जेल बंद हैं। बताया जाता है कि मछुआरा यूनियन का अध्यक्ष बनने के बाद  शेख की पहचान ज्यादा बड़ी। लोगों का मानना है कि इलाके में उसका खौफ है तो उसे कुछ लोग मसीहा के तौर भी देखते हैं। उस पर कई आपराधिक मामले भी दर्ज हैं। 2019 में बीजेपी और टीएमसी हुए झड़प में उसका नाम सामने आया था। इतना ही नहीं हत्या के मामले में उस पर केस भी दर्ज किया गया था। 

ये भी पढ़ें 

बंगाल में ED टीम पर हमले के बाद सियासत गर्म, TMC नेता शंकर आध्या गिरफ्तार    

राम के बारे में जितेंद्र ​आव्हाड​ के विवाद बयान से पवार गुट के नेताओं के बीच मतभेद!

मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी को मिला प्राण प्रतिष्ठा समारोह न्योता

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,646फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
147,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें