27 C
Mumbai
Tuesday, February 27, 2024
होमदेश दुनियाओवैसी ने पूछा, 'तेजस्वी यादव, अब आप कैसा महसूस कर रहे हैं?'

ओवैसी ने पूछा, ‘तेजस्वी यादव, अब आप कैसा महसूस कर रहे हैं?’

नीतीश कुमार ने ऐसा किया है कि राजनीतिक अवसरवादिता भी कम होगी| मैंने पहले ही कहा था कि नीतीश कुमार भाजपा के साथ जायेंगे|अब दो साल के अंदर ही नीतीश कुमार राजद छोड़कर फिर से भाजपा के साथ जा रहे हैं|अब एमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इस मामले की आलोचना की है

Google News Follow

Related

नीतीश कुमार ने एक बार फिर बिहार की राजनीति में तूफान खड़ा कर दिया है| 2020 के विधानसभा चुनाव के बाद वह तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। 2020 में नीतीश कुमार की जनता दल (यूनाइटेड) पार्टी ने भाजपा के साथ चुनाव लड़ा और नतीजों के बाद सरकार बनाई, लेकिन 2022 में उसने अचानक भाजपा से नाता तोड़ लिया और विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल से हाथ मिला लिया|

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, “नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी ने बिहार के लोगों को धोखा दिया है। खासकर नीतीश कुमार ने बड़ा फर्जीवाड़ा किया| नीतीश कुमार ने ऐसा किया है कि राजनीतिक अवसरवादिता भी कम होगी| मैंने पहले ही कहा था कि नीतीश कुमार भाजपा के साथ जायेंगे|अब दो साल के अंदर ही नीतीश कुमार राजद छोड़कर फिर से भाजपा के साथ जा रहे हैं|अब एमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इस मामले की आलोचना की है और कहा है कि नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बिहार की जनता से माफी मांगनी चाहिए|

तेजस्वी यादव अब कैसा महसूस कर रहे हैं?: ओवैसी ने कहाकी मैं तेजस्वी यादव से अब एक सवाल पूछना चाहता हूं| अब आपको कैसा महसूस हो रहा है? तेजस्वी यादव ने हमारे चार विधायकों को तोड़ लिया| अब तो उन्हें हमारा दुःख पता ही होगा, जो खेल उन्होंने हमारे साथ खेला वह अब उनके साथ खेला जाता है। नीतीश कुमार को लालू की पार्टी ने दो बार मुख्यमंत्री बनाया, फिर भी धोखा दिया|

हालांकि नीतीश कुमार फिर से बिहार के मुख्यमंत्री बनेंगे, लेकिन बिहार की सत्ता भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की होगी| हम इसे रोकने की कोशिश कर रहे थे।ओवैसी ने आगे कहा कि तेजस्वी यादव और उनके परिवार के सदस्यों को लगता है कि उनके परिवार से ही किसी को मुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए| वहीं नीतीश कुमार को लगता है कि जब तक मैं जिंदा हूं, मैं बिहार का मुख्यमंत्री बना रहूं और भाजपा को सब कुछ चाहिए| नीतीश कुमार ने विधानसभा में महिलाओं के मुद्दे पर अमर्यादित बयान दिया था| तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा ने उनकी कड़ी आलोचना की थी|

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि हम इस गंदगी को साफ करेंगे, लेकिन आज वे नीतीश कुमार को किनारे बैठाकर चाय पी रहे हैं| इससे बिहार की जनता आपस में भिड़ गयी है और राज्य का विकास अवरुद्ध हो गया है,लेकिन हम राज्य के विकास के लिए संघर्ष करते रहेंगे।’भारत के मुसलमानों को धोखा देने के लिए ही राजनीतिक प्रगति का चेहरा सामने रखा जाता है। इस बार बिहार के मुसलमानों को फिर से धोखा दिया गया है| मुझे उम्मीद है कि देश के सभी मुस्लिम समुदाय, दलित, आदिवासी और वंचित वर्ग को इस पर ध्यान देना चाहिए।’ ओवैसी ने यह भी आरोप लगाया कि आप राजनीतिक तौर पर प्रगतिशील पार्टियों को वोट देते हैं, लेकिन ये पार्टियां आपका वोट भाजपा की पार्टी के पास ले जाती हैं|

यह भी पढ़ें-

Raj Thackeray: हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा नहीं है, देश में कभी राष्ट्रभाषा का निर्धारण ही नहीं हुआ !

लेखक से अधिक

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

The reCAPTCHA verification period has expired. Please reload the page.

हमें फॉलो करें

98,748फैंसलाइक करें
526फॉलोवरफॉलो करें
131,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

अन्य लेटेस्ट खबरें